G-7 में पीएम मोदी और ट्रंप में हो सकती है मुलाकात, कश्मीर पर भारत साफ कर सकता है पक्ष

भाषा
Updated: August 25, 2019, 10:26 PM IST
G-7 में पीएम मोदी और ट्रंप में हो सकती है मुलाकात, कश्मीर पर भारत साफ कर सकता है पक्ष
G7 समिट के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और पीएम मोदी में बातचीत हो सकती है (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) जी-7 शिखर सम्मेलन (G7 Summit) में भाग लेने के लिए रविवार को फ्रांस (France) पहुंचे. यहां वह पर्यावरण, जलवायु और डिजिटल बदलाव जैसे ज्वलंत वैश्विक मुद्दों (Global Issues) पर बात करेंगे और विश्व नेताओं से भी मुलाकात करेंगे.

  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) जी-7 शिखर सम्मेलन (G7 Summit) में भाग लेने के लिए रविवार को फ्रांस (France) पहुंचे. यहां वह पर्यावरण, जलवायु और डिजिटल बदलाव जैसे ज्वलंत वैश्विक मुद्दों (Global Issues) पर बात करेंगे और विश्व नेताओं से भी मुलाकात करेंगे. पीएम मोदी तीन देशों फ्रांस, संयुक्त अरब अमीरात (UAE) और बहरीन (Bahrain) की यात्रा करने के बाद मनामा से यहां पहुंचे. वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी फ्रांस पहुंच चुके हैं. पहुंचते ही उन्होंने ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने मुलाकात की.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जी-7 शिखर सम्मेलन में ‘‘ब्रेक्जिट’’ के लिए ‘सही व्यक्ति’ बताते हुए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का रविवार को समर्थन किया. वहीं, उन्होंने वैश्विक अर्थव्यवस्था को चिंता में डालने वाले चीन के साथ चल रहे व्यापार युद्ध पर मिलाजुला संकेत दिया.

ट्रंप ने की ब्रिटिश प्रधानमंत्री की तारीफ की
फ्रांस के तटीय शहर में यहां ट्रंप ने जॉनसन के साथ अपनी पहली मुलाकात में कहा, ‘‘वह एक शानदार प्रधानमंत्री होने वाले हैं.’’ जॉनसन ने पिछले महीने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री का पदभार संभाला था.

ब्रेक्जिट के लिए ट्रंप की सलाह के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें (जॉनसन को) सलाह की जरूरत नहीं है. वह इस काम के लिए सही व्यक्ति हैं. मैं यह लंबे समय से कहता आ रहा हूं.’’ जॉनसन ने ट्रंप से कहा, ‘‘...हम कुल मिलाकर व्यापारिक शांति के पक्षधर हैं.’’

चीन के मामले में बचते नज़र आए ट्रंप
वह चीन के साथ अमेरिका का व्यापार युद्ध और बढ़ने से पैदा हुए खतरे से पीछे हटते प्रतीत हुए. उन्होंने अपने सहयोगी देशों को राहत पहुंचाने के लिए कहा, ‘‘मुझे लगता है कि वे व्यापार युद्ध का सम्मान करेंगे. यह होने वाला है.’’
Loading...

यह पूछने पर कि क्या उनके पास कोई दूसरा विचार है, उन्होंने जवाब दिया, ‘‘हर चीज के बारे में मेरे पास दूसरा विचार है.’’ बता दें कि ब्रिटेन, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान और अमेरिका जी-7 समूह का हिस्सा हैं.

G-7 में कश्मीर पर हो सकती है मोदी और ट्रंप में बात
जी-7 शिखर सम्मेलन के इतर मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के कश्मीर में स्थिति, व्यापार मुद्दों और परस्पर हितों के आपसी विषयों पर चर्चा करने की संभावना है.

इस सप्ताह वाशिंगटन में ट्रंप ने कहा था कि जब वह सप्ताहांत जी-7 शिखर सम्मेलन में मोदी से मुलाकात करेंगे तो कश्मीर में स्थिति और भारत-पाक तनाव कम करने पर उनसे चर्चा करेंगे.

जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा हटाने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के भारत के फैसले के बाद उसके और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है. भारत के इस फैसले पर पाकिस्तान ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. जिसके बाद बार-बार ट्रंप मध्यस्थता की बात कहते रहे हैं. आशा की जा रही है कि पीएम मोदी इस मुद्दे पर भारतीय पक्ष के बारे में उन्हें अच्छे से अवगत करा सकते हैं.

अमेजन के जंगलों की आग और ईरानी परमाणु संकट रहेंगे चर्चा का विषय
जी-7 शिखर बैठक में अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध, अमेजन के जंगलों में आग (Amazon Rainforest Fire) और ईरानी परमाणु संकट मुख्य मुद्दों में शामिल हैं. फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने इस बैठक में व्यक्तिगत तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल सीसी जैसे वैश्विक नेताओं को भी आमंत्रित किया है.

यह भी पढ़ें:  G7 का सदस्य नहीं है भारत, फिर क्यों मिला बुलावा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 25, 2019, 10:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...