भारत-मालदीव के बीच कार्गो फेरी सर्विस पर PM मोदी ने जताई खुशी, बोले-ये दोस्ती और भी मजबूत होगी

पीएम मोदी फाइल फोटो
पीएम मोदी फाइल फोटो

Cargo Ferry Service between India and Maldives: भारत और मालदीव (India and Maldives) के बीच 21 सितंबर से सीधी कार्गो फेरी सेवा (Cargo Ferry Service) शुरू हो गई. दोनों पड़ोसी देशों को जोड़ने वाली यह पहली सीधी कार्गो शिपिंग लाइन है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 8:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीन के साथ एलसी पर जारी विवाद के बीच भारत अन्य देशों के साथ संबंध प्रगाढ़ करने में लगा हुआ है. इसी कड़ी में भारत-मालदीव (India and Maldives) की दोस्ती को मजबूत करने के लिए शुरू हुई कार्गो फेरी सर्विस पर प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Modi) ने खुशी जाहिर की है. रविवार को मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम सोलीव (Maldives President Ibrahim Mohamed Solih) के ट्वीट का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, भारत और मालदीव के बीच एक सीधी नौका सेवा का हमारा सपना अब एक वास्तविकता है. मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह द्विपक्षीय व्यापार और अर्थव्यवस्थाओं को बढ़ावा देने में सहयोग करेगा. पीएम मोदी ने कहा, आगे भी मालदीव-भारत की दोस्ती मजबूत होती रहेगी.

बता दें कि भारत और मालदीव (India and Maldives) के बीच 21 सितंबर से सीधी कार्गो फेरी सेवा (Cargo Ferry Service) शुरू हो गई. दोनों पड़ोसी देशों को जोड़ने वाली यह पहली सीधी कार्गो शिपिंग लाइन है. 2019 में अपने मालदीव विजिट के दौरान भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार इसकी घोषणा की थी.


दोनों देशों के लिए फायदेमंद है ये सेवा
कार्गो फेरी से के शुरू होने से दोनों देशों को फायदा होगा. मालदीव एक 100% आयात पर निर्भर देश है पर इस सेवा की शुरुआत से मालदीव भारत को निर्यात भी कर पाएगा. फेरी में कोल्ड स्टोरेज की सुविधा है, जिससे मालदीव से ट्यूना मछली और दूसरे समुद्री फूड को निर्यात करने में आसानी होगी. इस सेवा की शुरुआत से दोनों देशों में खासा उत्साह है. FICCI ने इस सेवा के प्रचार में तूतीकोरिन, कोच्चि और मुंबई में तीन वर्चुअल रोड शो आयोजित किए.



क्षेत्रीय कनेक्टिविटी बढ़ाने पर जोर
भारत सरकार की ओर से दावा किया जा रहा है कि यह सेवा क्षेत्रीय कनेक्टिविटी में सुधारक साबित होगी. हिंद महासागर क्षेत्र में क्षेत्रीय कनेक्टिविटी को बढ़ाने के लिए सरकार कई परियोजनाओं को बढ़ावा दे रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज