पीएम मोदी ने बनाया लगातार काम करने का एक और रिकॉर्ड

सबसे बड़ी बात यह है कि देश के प्रधानमंत्री मोदी (PM MODI) उस कठिन घड़ी में भी वैज्ञानिकों (Scientists) का साथ दिया जब देश के वैज्ञानिकों की इसकी जरूरत थी.

Anup Gupta | News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 2:49 PM IST
पीएम मोदी ने बनाया लगातार काम करने का एक और रिकॉर्ड
पीएम बीना रुके बीना थके विदेश यात्रा से देश में आने के बाद एक के बाद एक सरकारी कामों में लगे रहे
Anup Gupta
Anup Gupta | News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 2:49 PM IST
बेंगलुरु: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Modi) बेंगलुरु (Bengaluru) के इसरो (ISRO) में चंद्रयान- 2 (Chandrayaan-2) के हर घटना का साक्षी बने. सबसे बड़ी बात यह है कि देश के प्रधानमंत्री मोदी (PM MODI) उस कठिन घड़ी में भी वैज्ञानिकों (Scientists) का साथ दिया जब देश के वैज्ञानिकों की इसकी जरूरत थी. पीएम ने ना केवल उनका हौसला बढ़ाया बल्कि उनके साथ मजबूती के साथ खड़े भी रहे.

एक बार फिर पीएम ने बनाया अनोखा रिकॉर्ड

बेंगलुरू के इसरो स्टेशन (Isro Space Centre) से पहले पीएम बीना रुके बीना थके विदेश यात्रा से देश में आने के बाद एक के बाद एक सरकारी कामों में लगे रहे. शुक्रवार सुबह ही पीएम मोदी रूस (Russia) के व्लादिवोस्तोक शहर में ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम (EEF) की बैठक में शिरकत करने के बाद दिल्ली पहुंचे थे. पीएम मोदी शुक्रवार सुबह से ही केंद्र सरकार के विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों को लेकर बैठक करते रहे. दिन भर के लगातार काम के बाद पीएम शाम को बेंगलुरु पहुंचे.

chandrayaan 2 why isro moon mission is not a failure despite landing setback
GSLV मार्क 3 रॉकेट से सफल प्रक्षेपण


यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चंद्रयान 2 के लैंडिंग प्रक्रिया में इसरो के वैज्ञानिकों के साथ खड़े रहे.  पीएम चंद्रयान-2 को लेकर पूरी रात टकटकी लगाए रहे. बेंगलुरु में वह वैज्ञानिकों से बात करते रहे और चंद्रयान की हर पल की जानकारी ली. लैंडिंग में आई समस्या के बाद भी पीएम वहां के वैज्ञानिकों के हौसला अफजाई करते देखे गए. लैंडिंग में आई दिक्कत के बाद इसरो मुख्यालय में वैज्ञानिकों के चेहरे पर तनाव नजर आया.

शुक्रवार सुबह ही पीएम मोदी विदेश दौरे से लौटे थे

इसरो चेयरमैन डॉ. सिवन की तरफ से संपर्क टूटने की घोषणा होने के बाद प्रधानमंत्री वैज्ञानिकों के बीच आकर उनका हौसला बढ़ाया. उन्होंने कहा, 'जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं. जो आपने किया, वो छोटा नहीं है. आगे भी हमारी कोशिशें जारी रहेंगी. देश को अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है. मैं पूरी तरह से वैज्ञानिकों के साथ हूं. आगे भी हमारी यात्रा जारी रहेगी. मैं आपके साथ हूं. हिम्मत के साथ चलें. आपके पुरुषार्थ से देश फिर से खुशी मनाने लग जाएगा. आपने जो कर दिखाया है, वह भी बहुत बड़ी उपलब्धि है.'
Loading...

chandrayaan 2 why isro moon mission is not a failure despite landing setback
चंद्रयान 2 का सफल प्रक्षेपण


पूरी रात हर उतार चढ़ाव के पल का साक्षी बनने के बनने के तुरंत बाद पीएम बेंगलुरु से मुंबई निकल गए. तय कार्यक्रम के मुताबिक पीएम मोदी मुंबई में मुंबई मेट्रो के कई कार्यक्रमों और उद्घाटनों में शिरकत किया. मुंबई के कार्यक्रम के बाद पीएम औरंगाबाद के लिए निकल गए. औरंगाबाद में भी पीएम मोदी एक के बाद एक एक कार्यकमों में हिस्सा लेंगे फिर उसके बाद पीएम मोदी दिल्ली लौटेंगे.

ये भी पढ़ें: कड़ी मेहनत से IAS बनने वाले नौकरी क्यों छोड़ रहे हैं?

चंद्रयान 2 पर तंज कसने वाले पाकिस्तान का स्पेस प्रोग्राम ऐसे हुआ था फुस्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 7, 2019, 2:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...