होम /न्यूज /राष्ट्र /कोरोना वैक्सीन की तैयारियों की समीक्षा कर रहे PM मोदी, जानें टीकों के बारे में

कोरोना वैक्सीन की तैयारियों की समीक्षा कर रहे PM मोदी, जानें टीकों के बारे में

बोस्टन में मॉर्डना का कोविड-19 वैक्सीन लगाने के बाद डॉक्टर को एलर्जी शुरू हो गई. (सांकेतिक तस्वीर)

बोस्टन में मॉर्डना का कोविड-19 वैक्सीन लगाने के बाद डॉक्टर को एलर्जी शुरू हो गई. (सांकेतिक तस्वीर)

कोरोना वैक्सीन की समीक्षा करने के लिए पीएम मोदी आज अहमदाबाद, पुणे और हैदराबाद के दौरे पर हैं. अहमदाबाद में जायडस बायोटे ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण एक बार फिर तेज होता दिखाई दे रहा है. तेजी से बढ़ते कोरोना केस को देखते हुए अब कोरोना वैक्सीन को लेकर भी चर्चा जोरों पर होने लगी है. कोरोना वैक्सीन की समीक्षा करने के लिए पीएम मोदी (PM Narendra Modi) आज अहमदाबाद, पुणे और हैदराबाद के दौरे पर हैं. अहमदाबाद में जायडस बायोटेक पार्क में कोरोना वैक्सीन की जानकारी लेने के बाद अब पीएम मोदी हैदराबाद के लिए रवाना हो गए हैं. हैदराबाद में पीएम मोदी भारत बायोटेक की कोवैक्सीन की जानकारी लेंगे. इसके बाद पीएम मोदी सीरम इंस्टिट्यूट में ऑक्‍सफर्ड-एस्‍ट्राजेनेका की वैक्सीन की भी समीक्षा करेंगे. आइए आपको बताते हैं कि कोरोना की कौन सी वैक्सीन अपने किस चरण में है.

    ऑक्‍सफर्ड की वैक्‍सीन 'कोविशील्‍ड' 90% तक कोरोना खत्म करने में कारगर
    ऑक्‍सफर्ड की वैक्‍सीन 'कोविशील्‍ड' पर भारत की विशेष नजर है. बता दें कि भारत की पुणे स्थित सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ऑक्‍सफर्ड के साथ मिलकर 'कोविशील्‍ड' वैक्सीन पर काम कर रही है. कोविशील्ड को लेकर कंपनी ने दावा किया है कि उनकी वैक्सनी कोरोना पर 90 फीसदी तक असरदार है. बता दें कि सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया 100 करोड़ कोविशील्ड कोरोना वैक्सीन तैयार करेगा. अभी तक की जानकारी के मुताबिक ये वैक्सीन 500 से 600 रुपये में मिलेगी. भारत इस वैक्सीन पर इसलिए नजर बनाए हुए है क्योंकि कोविशील्ड को रखने के लिए बहुत कम तापमान की जरूरत होती है और इसका दाम भी अन्य वैक्सीन से काफी कम है. वैक्सीन के तीसर चरण का ट्रायल चल रहा है. ऐसे में उम्मीद है कि नए साल की शुरुआत में ये वैक्सीन बाजार में आ सकती है.

    इसे भी पढ़ें :- World Coronavirus : दुनियाभर में 24 घंटे में आए 6 लाख कोरोना केस, 10 हजार से ज्यादा हुईं मौतें

    भारत बायोटेक की 'कोवैक्सीन' के तीसरे चरण का ट्रायल शुरू
    भारत बायोटेक की ओर से तैयार की जा रही कोरोना वैक्सीन 'कोवैक्सीन' ट्रायल के तीसरे चरण में है. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के साथ मिलकर भारत बायोटेक ‘कोवैक्सिन’ को विकसित कर रहा है. बता दें कि एम्स के तंत्रिका विज्ञान केंद्र की प्रमुख एमवी पद्मा श्रीवास्तव और तीन अन्य वॉलेंटियर ने कोरोना वैक्सीन लगवाई है. इसके सफल नतीजे सामने आने के बाद इस वैक्सीन को 18 वर्ष और उससे ज्यादा की उम्र के 28,500 लोगों को विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों पर यह वैक्सीन लगाई जाएगी.

    इसे भी पढ़ें :- COVID-19 in India: देश में 94 लाख के करीब कोरोना केस, 24 घंटे में मिले 41322 नए मरीज

    जाइडस कैडिला 17 करोड़ वैक्सीन करेगी तैयार
    दवा कंपनी जाइडस कैडिला भी 'जायकोव-डी' नाम से कोरोना वैक्सीन तैयार कर रही है. कंपनी ने दावा किया है कि कोविड-19 के संभावित टीके का पहले फेज का ट्रायल पूरा हो गया है जबकि दूसरे चरण का ट्रायल अगस्त में शुरू किया गया था. दोनों ही चरणों के नतीजे काफी अच्छे साबित हुए हैं. जाइडस कैडिला ने उम्मीद जताई है कि वैक्सीन अगले साल मार्च तक बाजार में उतारी जा सकती है. बता दें कि जाइडस कैडिला 17 करोड़ वैक्सीन बनाने की तैयारी कर रहा है.

    Tags: Corona, Corona Cases, Corona cases in india, Corona vaccine, Coronavirus vaccine, Narendra modi, Pm narendra modi

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें