अपना शहर चुनें

States

पीएम मोदी ने कहा- सरकार नीति, नीयत के साथ पूरी तरह से किसानों के साथ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रमुख उद्योग मंडल फिक्की के 93वें वार्षिक सम्मेलन को किया संबोधित.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रमुख उद्योग मंडल फिक्की के 93वें वार्षिक सम्मेलन को किया संबोधित.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने कहा कि हाल में हुए कृषि सुधारों से किसानों (Farmers) को नए बाजार मिलेंगे, नए विकल्प मिलेंगे, प्रौद्योगिकी का ज्यादा लाभ मिलेगा.

  • भाषा
  • Last Updated: December 12, 2020, 12:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने देश के उद्योग जगत से कृषि क्षेत्र (Agricultural Sector) में निवेश बढ़ाने का आह्वान करते हुए शनिवार को कहा कि सरकार भी नीति और नीयत से पूरी तरह किसानों (Farmers) के हित में काम करने के लिए प्रतिबद्ध है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हाल में हुए कृषि सुधारों से किसानों को नए बाजार मिलेंगे, नए विकल्प मिलेंगे, प्रौद्योगिकी का ज्यादा लाभ मिलेगा. उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में ज्यादा निवेश होगा और इसका ज्यादा फायदा किसानों को होगा. मोदी प्रमुख उद्योग मंडल फिक्की के 93वें वार्षिक सम्मेलन को डिजिटल माध्यम से संबोधित कर रहे थे.

प्रधानमंत्री यह बात ऐसे समय दोहराई है जबकि किसानों के विभिन्न संगठन कृषि उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सरलीकरण) अधिनियम, कृषक सशक्तीकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन एवं कृषि सेवा करार तथा आवश्यक वस्तु (संशोधन) अधिनियम को समाप्त किए जाने की मांग कर रहे हैं. दिल्ली की सीमाओं पर एक पखवाड़े से जमा किसान संगठनों के नेताओं ने आंदोलन तेज करने की धमकी दी है.

मोदी ने कहा, किसानों के पास मंडियों के साथ ही बाहरी खरीदारों को भी अपनी फसल बेचने के विकल्प हैं. उन्होंने कहा सरकार अपनी नीतियों और इरादों से किसानों के हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है. प्रधानमंत्री ने कहा कि फसल उगाने, फल और सब्जी उगाने में किसानों को आधुनिक प्रौद्योगिकी और तकनीक का जितना समर्थन हमारे उद्योग जगत से मिलेगा उतनी ही किसानों की आय बढ़ेगी. उन्होंने कहा, कृषि आधारित उद्योगों के लिए देश में बहुत अवसर है.
इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र साइबर सेल का दावा- किसान आंदोलन की आड़ में चल रहा खालिस्तानी मूवमेंट



नए कृषि सुधारों से किसानों को नए बाजार मिलेंगे
प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने उद्योगों के विभिन्न क्षेत्रों के बीच खड़ी दीवारों को हटाने के लिए सरकार ने कृषि सुधारों को आगे बढ़ाया. उन्होंने कहा, नए कृषि सुधार इसी दिशा में उठाए गए कदम हैं. कृषि क्षेत्र में तमाम ढांचागत सुविधाएं हों, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग का विकास हो, बेहतर भंडारण सुविधाएं हों और शीत भंडार गृह की कमी नहीं हो, इसी दिशा में यह सुधार किए गए हैं. मोदी ने कहा कि नए कृषि सुधारों से किसानों को नए बाजार, नए लाभ मिलेंगे. कृषि क्षेत्र में निवेश बढ़ेगा, नई सुविधाएं उपलब्ध होंगी और इन सबका लाभ किसानों को मिलेगा. देश के छोटे छोटे किसानों तक यह लाभ पहुंचेगा.

इसे भी पढ़ें :- किसान आंदोलन में अब तक 11 की मौत, राहुल गांधी ने पूछा- और कितनी आहुति देनी होगी?

देश के हालत में अब तेजी से हो रहा है सुधार : पीएम मोदी
प्रधानमंत्री ने अपने भाषणा की शुरुआत वर्ष 2020 के बारे में बात करते हुए की. उन्होंने कहा कि 2020 के इस साल ने सभी को मात दे दी. इतने उतार चढ़ाव इस दौरान देश और दुनिया ने देखे कि कुछ साल बाद यह यकीन ही नहीं होगा कि ऐसा हुआ. हालांकि उन्होंने कहा कि जितनी तेजी से हालात बिगड़े उतनी ही तेजी से सुधर भी रहे हैं. उन्होंने कहा इस साल जनवरी फरवरी के समय हम एक अज्ञात दुश्मन से लड़ रहे थे. सभी को बड़ी चिंता थी कि हालात कैसे ठीक होंगे. दुनिया का हर मानव इसी चिंता में था लेकिन दिसंबर आते आते स्थिति बदली नजर आ रही है.अर्थव्यवसथा के तमाम सूचकांक भी हौसला बढ़ाने वाले नजर आ रहे हैं और उत्साह बढ़ रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज