PM Modi in Bihar: सासारम रैली में पीएम मोदी बोले- दोबारा 370 लाने की बात करने वाले यहां अब वोट मांग रहे

पीएम मोदी ने बिहार की जनता को लालू प्रसाद यादव की सरकार की याद दिलाई. कहा 'लोग वे दिन भूल नहीं सकते, जब सूरज ढलने का मतलब होता था, सब कुछ बंद हो जाना, ठप पड़ जाना.'
पीएम मोदी ने बिहार की जनता को लालू प्रसाद यादव की सरकार की याद दिलाई. कहा 'लोग वे दिन भूल नहीं सकते, जब सूरज ढलने का मतलब होता था, सब कुछ बंद हो जाना, ठप पड़ जाना.'

बिहार चुनाव में एंट्री के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्षी दलों पर हमलावर दिखे. उन्होंने रैली के दौरान लालू प्रसाद यादव की सरकार का भी जिक्र किया. उन्होंने दावा किया कि इस बार फिर बिहार में एनडीए की सरकार बनने जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 1:25 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में अपनी पहली चुनावी रैली (Election Rally) को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने अनुच्छेद 370 (Article 370) और कृषि संबंधी तीन नए कानूनों पर अपना मत साफ कर दिया है. लगातार आलोचना कर रही कांग्रेस (Congress) और विपक्ष को जबाव देते हुए पीएम ने कहा कि देश अपने फैसलों से पीछे नहीं हटेगा. अपने पूरे भाषण में पीएम ने कई बार विपक्ष पर निशाना साधा.

'मंडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य तो बहाना है, असल में दलालों और बिचौलियों को बचाना है'
प्रधानमंत्री ने रोहतास में कहा, 'देश, जहां संकट का समाधान करते हुए आगे बढ़ रहा है, ये लोग देश के हर संकल्प के सामने रोड़ा बनकर खड़े हैं.' उन्होंने कहा कि देश ने किसानों को बिचौलियों और दलालों से मुक्ति दिलाने का फैसला लिया तो ये बिचौलियों और दलालों के पक्ष में खुलकर मैदान में हैं.

कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए पीएम ने कहा कि जब राफेल विमानों (Rafale Airplane) को खरीदा गया, तब भी ये बिचौलियों और दलालों की भाषा बोल रहे थे. ' जब-जब, बिचौलियों और दलालों पर चोट की जाती है, तब-तब ये तिलमिला जाते हैं, बौखला जाते हैं. आज हालत यह हो गई है कि ये लोग भारत को कमजोर करने की साजिश रच रहे लोगों का साथ देने से भी नहीं हिचकिचाते.'
उन्होंने कहा, 'मंडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) तो बहाना है, असल में दलालों और बिचौलियों को बचाना है.' पीएम ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले जब किसानों के बैंक खाते में सीधे पैसे देने का काम शुरु हुआ था, तब इन्होंने कैसा भ्रम फैलाया था.



'आर्टिकल 370 के हटने का देश इंतजार कर रहा था, ये उसे फिर से लगाने आए हैं'
प्रधानमंत्री ने कहा, ' जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटने का इंतजार देश बरसों से कर रहा था या नहीं? ये फैसला हमने लिया. आज ये लोग इस फैसले को पलटने की बात कर रहे हैं और कह रहे हैं कि यदि वे सत्ता में आए तो अनुच्छेद-370 फिर लागू कर देंगे.' मोदी ने कहा, ' मैं जवानों और किसानों की भूमि बिहार से कहना चाहता हूं कि ये लोग जिसकी चाहें मदद ले लें, लेकिन देश अपने फैसलों से पीछे नहीं हटेगा.'

गौरतलब है कि कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों ने हाल में बनाए गए तीन कृषि संबंधी कानूनों को किसान विरोधी बताया है. कांग्रेस और राजद (RJD) ने बिहार चुनाव के घोषणापत्र में कहा है कि उनकी सरकार बनी, तो पहले विधानसभा सत्र में ही इन कृषि कानूनों को समाप्त करने का विधेयक पारित किया जाएगा.

लालू प्रसाद सरकार कि दिलाई याद
मोदी ने बिहार के लोगों को लालू प्रसाद सरकार (Lalu Prasad Government) की याद दिलाते हुए कहा कि बिहार के लोग वे दिन भूल नहीं सकते, जब सूरज ढलने का मतलब होता था, सब कुछ बंद हो जाना, ठप पड़ जाना.

उन्होंने आरोप लगाया कि ये वे दिन थे, जब सरकार चलाने वालों की निगरानी में दिन-दहाड़े डकैती होती थी, हत्याएं होती थीं, रंगदारी वसूली जाती थी . मोदी ने कहा कि आज प्रदेश में बिजली है, सड़कें हैं और सबसे बड़ी बात- वह माहौल है जिसमें राज्य का सामान्य नागरिक बिना डरे रह सकता है, जी सकता है. उन्होंने कहा कि अंधेरे से उजाले की ओर बढ़ना इसी को कहते हैं.

10 लाख नौकरियों के वादे पर तेजस्वी को घेरा
राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) के 10 लाख नौकरियों के वादे पर सवाल उठाते हुए मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने एक-एक सरकारी नौकरी को हमेशा लाखों-करोड़ों रुपए कमाने का जरिया माना, वे फिर बिहार को ललचाई नजरों से देख रहे हैं. मोदी ने कहा, ' आज बिहार में पीढ़ी भले बदल गई हो, लेकिन बिहार के नौजवानों को ये याद रखना है कि बिहार को इतनी मुश्किलों में डालने वाले कौन थे?' प्रधानमंत्री ने दावा किया कि जितने सर्वेक्षण हो रहे हैं, जितनी रिपोर्ट आ रही हैं, सभी में यही सामने आ रहा है कि बिहार में फिर एक बार एनडीए (NDA) की ही सरकार बनने जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज