मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर पीएम नरेंद्र मोदी बोले- 'उपदेश देने से पहले अपना घर देखें'

पीएम मोदी ने कहा कि हिंसा की घटनाओं में एक ही मापदंड होना चाहिए. हिंसा की घटनाओं पर तेरा और मेरा नहीं होना चाहिए.

News18Hindi
Updated: June 26, 2019, 5:08 PM IST
मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर पीएम नरेंद्र मोदी बोले- 'उपदेश देने से पहले अपना घर देखें'
पीएम मोदी ने कहा कि हिंसा की घटनाओं में एक ही मापदण्ड का मानक होना चाहिए. (वीडियो ग्रैब)
News18Hindi
Updated: June 26, 2019, 5:08 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर टिप्पणी की. राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर भाषण देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भीड़ की हिंसा पर झारखंड की सरकार को दोष देना गलत है. उन्होंने कहा कि राजनीतिक चश्मे से देखेंगे तो मुझे धुंधला दिखाई देगा.

पीएम मोदी ने कहा कि हिंसा की घटनाओं में एक ही मापदंड होना चाहिए. हिंसा की घटनाओं पर तेरा और मेरा नहीं होना चाहिए. साल 1984 के दंगों के आरोपी आज भी पार्टी में हैं.

यह भी पढ़ें:  #HumanStory: 'भीड़ ने मार डाला क्योंकि मेरा बेटा मुस्लिम था'

सुनाया गालिब का शेर

पीएम ने कहा कि उपदेश देने से पहले अपने घर में झांकना चाहिए. उन्होंने कहा, 'झारखंड में लिंचिंग ने मुझे पीड़ा दी है. इसने दूसरों को भी दुखी किया है लेकिन, राज्यसभा में कुछ लोग झारखंड का आरोप केंद्र पर लगा रहे हैं. क्या यह उचित है? वे पूरे राज्य का अपमान क्यों कर रहे हैं. हममें से किसी को भी झारखंड राज्य का अपमान करने का अधिकार नहीं है.'

पीएम मोदी ने राज्यसभा में कांग्रेस नेता गुलाब नबी आजाद से कहा, 'लेकिन आजाद साहब को कुछ धुंधला नजर आ रहा है, जब तक राजनीतिक चश्मे से सब देखा जाएगा तो धुंधला ही नजर आएगा. इसलिए अगर हम राजनीतिक चश्में उतारकर हम देखेंगे तो देश का भविष्य नजर आएगा. शायद इसीलिए ग़ालिब ने कहा था, 'ताउम्र ग़ालिब ये भूल करता रहा, धूल चेहरे पर थी और मैं आइना साफ़ करता रहा.'

यह भी पढ़ें: गटर वाली बात पर ओवैसी ने पीएम मोदी से की यह खास मांग
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...