• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • वॉशिंगटन रवाना होने से पहले बोले PM मोदी- US, जापान और ऑस्ट्रेलिया से रिश्ते मजबूत करने का मौका

वॉशिंगटन रवाना होने से पहले बोले PM मोदी- US, जापान और ऑस्ट्रेलिया से रिश्ते मजबूत करने का मौका

महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर सहयोग को आगे बढ़ाने का मौका होगा अमेरिकी दौरा: मोदी  (File pic)

महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर सहयोग को आगे बढ़ाने का मौका होगा अमेरिकी दौरा: मोदी (File pic)

अमेरिका रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह यात्रा अमेरिका के साथ व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने, रणनीतिक भागीदारों जापान और ऑस्ट्रेलिया के साथ संबंधों को मजबूत करने का एक अवसर होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. अमेरिका (America) रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा कि ‘यह अमेरिका, जापान, ऑस्ट्रेलिया के साथ संबंधों को मजबूत करने का अवसर है.’ प्रधानमंत्री ने 22 से 25 सितंबर तक के अपने अमेरिका दौरे पर रवाना होने से पहले जारी एक बयान में यह बात कही. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री का यह दौरा हो रहा है. पीएम ने कहा, ’22-25 सितंबर के बीच अमेरिका की यात्रा के दौरान, मैं अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ भारत-अमेरिका व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी की समीक्षा के साथ आपसी हित के क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा करूंगा.’

    उन्होंने कहा, ‘मैं अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन, ऑस्ट्रेलियाई पीएम स्कॉट मॉरिसन और जापान के पीएम योशीहिदे सुगा के साथ क्वाड लीडर्स समिट में भाग लूंगा. यह सम्मेलन हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए हमारे साझा दृष्टिकोण के आधार पर भविष्य की व्यस्तताओं के लिए प्राथमिकताओं की पहचान करने का अवसर प्रदान करता है.’

    पीएम ने कहा, ‘अमेरिका की मेरी यह यात्रा अमेरिका के साथ व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने, हमारे रणनीतिक भागीदारों जापान और ऑस्ट्रेलिया के साथ संबंधों को मजबूत करने और महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर हमारे सहयोग को आगे बढ़ाने का अवसर है.’

    हैरिस से भी मुलाकात करेंगे पीएम मोदी
    क्वाड समूह में अमेरिका, भारत, आस्ट्रेलिया और जापान शामिल हैं. अमेरिका क्वाड समूह की बैठक कर रहा है जिसमें समूह के नेता हिस्सा लेंगे. इसके जरिये अमेरिका हिंद प्रशांत क्षेत्र में सहयोग और समूह के प्रति उसकी प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करने का मजबूत संकेत देना चाहता है. मार्च में अमेरिकी राष्ट्रपति ने क्वाड देशों के नेताओं की पहली शिखर बैठक डिजिटल माध्यम से आयोजित की थी और लोकतांत्रिक मूल्यों के आधार पर मुक्त एवं समावेशी हिंद प्रशांत क्षेत्र को लेकर प्रतिबद्धता प्रकट की थी. समझा जाता है कि इसका परोक्ष संदेश चीन को लेकर था.

    प्रधानमंत्री मोदी अमेरिकी उप राष्ट्रपति कमला हैरिस से भी मुलाकात करेंगे और उनके साथ दोनों देशों के बीच विभिन्न मुद्दों, खासकर विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग की संभावनाएं तलाशेंगे. इस बाबत पीएम ने कहा कि वैश्विक मुद्दों पर चर्चा करने और भारत-अमेरिका के बीच सहयोग के लिए अमेरिकी उप राष्ट्रपति कमला हैरिस से मिलने के लिए भी उत्सुक हूं.

    प्रधानमंत्री ने कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र महासभा में संबोधन के बाद मेरी यात्रा संपन्न होगी. इस संबोधन में कोविड -19 महामारी, आतंकवाद से निपटने की आवश्यकता, जलवायु परिवर्तन और अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों सहित वैश्विक चुनौतियों पर चर्चा होगी.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज