लाइव टीवी

OPINION: नए सांसदों को गुर सिखाकर क्या संदेश दे रहे हैं PM मोदी

अमिताभ सिन्हा | News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 4:19 PM IST
OPINION: नए सांसदों को गुर सिखाकर क्या संदेश दे रहे हैं PM मोदी
पीएम नरेंद्र मोदी सांसदों को सिखा रहे है कि सरकार कैसे चलाई जाती है.

पीएम मोदी ने इस मुलाक़ात में सांसदों को कहा कि संसद सत्र के दौरान ज़्यादा से ज़्यादा समय सदन में रहें और सदन की कार्यवाही में ज़्यादा से ज़्यादा हिस्सा लें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2019, 4:19 PM IST
  • Share this:
बुधवार सुबह लगभग 45 बीजेपी सांसद जब प्रधानमंत्री निवास 7 लोक कल्याण मार्ग पहुंचे तो साफ था कि 17वीं लोक सभा में ठीक से काम-काज करने और सदन के भीतर अटेंडेंस ठीक रखने की नसीहत जरूर मिलेगी. संसदीय दल की बैठक में भी पीएम मोदी ने सांसदों की अनुपस्थिति पर चिंता जताई थी. सबसे पहले बारी थी पार्टी के 45 ओबीसी सांसदों के समूह की. सूत्र बताते हैं कि पीएम मोदी ने ये भी कहा की आप सब संसद में उपस्थित रहा करें जिसकी पार्टी मॉनिटरिंग भी कर रही है.

पीएम मोदी ने इस मुलाक़ात में सांसदों को कहा कि संसद सत्र के दौरान ज़्यादा से ज़्यादा समय सदन में रहें और सदन की कार्यवाही में ज़्यादा से ज़्यादा हिस्सा लें. पीएम मोदी ने ये भी कहा कि जब संसद नहीं चल रही हों तो सबको अपने-अपने लोक सभा क्षेत्रों में लगातार जनता के बीच में रहना चाहिए. पीएम ने कहा कि सभी सांसद अपने क्षेत्र की समस्याओं को लेकर केंद्रीय मंत्रियों से मिलें और अधिकारियों से मुलाक़ात कर समस्याओं का समाधान करने में न हिचकिचाएं.

 कल्याण योजनाओं का लाभ गरीब जनता तक पहुंचाना है मकसद
पूरी की पूरी बैठक में पीएम मोदी ने सांसदों को ये सुनिश्चित करने को कहा कि केंद्र सरकार की कल्याण योजनाओं का लाभ गरीब जनता तक पहुंचे. पीएम मोदी ने उन्हें निर्देश दिया कि पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ काम करें ताकि पूरी पार्टी मिलकर ग़रीब जनता को उसका लाभ ज़्यादा से ज़्यादा पहुंच सकें.



पीएम मोदी ने कहा कि संसद बजट को लेकर अपने अपने लोकसभा क्षेत्रों में कार्यक्रम करें और बजट की विशेषता को जनता तक बताए. इसके साथ ही संसद समय समय पर अपने क्षेत्र के कार्यकताओं के साथ मिलकर पार्टी का कार्यक्रम भी करते रहे.



चलता रहेगा ये सिलसिला
पीएम मोदी ने 16वीं लोकसभा के दौरान दो-तीन राज्यों के लोकसभा और राज्यसभा सांसदों से मुलाकात करने का सिलसिला भी शुरू किया था ताकि वो उनकी राय भी जान सकें और उन्हें सरकार का एजेंडा भी बता सकें. सूत्रों का कहना है कि इस बार ये सिलसिला चलता रहेगा. फर्क सिर्फ इतना है कि सभी सांसदों को 7 समूहों में बांटा गया है जो बारी-बारी से पीएम से मिलेंगे. इसमें ओबीसी, एससी, एसटी, युवा सांसद, और महिला समूह भी शामिल हैं.

ये व्यवस्था इसलिए शुरू की गई है ताकि दोनों सदनों के बीजेपी सांसद पीएम मोदी से सीधा संवाद कर सकें औए खुद प्रधानमंत्री उन्हें संसद से जुड़े मुद्दों पर गाइड कर सकें. जो केंद्रीय मंत्री ऐसे किसी भी समूह में शामिल हैं उन्हें भी बैठक का हिस्सा बनना होगा.

पहले ओबीसी समूह से बैठक के बाद गुरुवार को एससी सांसद पीएम से मुलाकात करें. ये सिलसिला पूरे सत्र तक चलता रहेगा. संदेश पीएम मोदी के और कोशिश ये की सरकार और संगठन एक साथ मिलकर मिशन 2024 के लिए आगे बढ़ें.

ये भी पढ़ें-
न्यूनतम वेतन पर सरकार का बड़ा फैसला, जानें क्या है वेज कोड?


युवा चेहरों पर भरोसा करने से क्यों डरती है कांग्रेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2019, 5:20 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading