अपना शहर चुनें

States

वाराणसी में कोविड-19 वैक्सीन लगवाने वाले लोगों से कल संवाद करेंगे PM मोदी

पीएम मोदी कल टीकाकरण के लाभार्थियों के साथ बातचीत करेंगे (File Photo)
पीएम मोदी कल टीकाकरण के लाभार्थियों के साथ बातचीत करेंगे (File Photo)

Coronavirus Vaccination: देश में 16 जनवरी को प्रधानमंत्री मोदी ने व्यापक टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत की थी. टीकाकरण के पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है.

  • Last Updated: January 22, 2021, 5:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) शुक्रवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कोविड-19 टीकाकरण अभियान (Covid-19 Vaccination Program के लाभार्थियों और टीका लगा चुके लोगों से संवाद करेंगे. प्रधानमंत्री कार्यालय (Prime Minister Office) ने गुरुवार को बताया कि टीकाकरण करा चुके लोग इस कार्यक्रम के दौरान वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से प्रधानमंत्री से टीकाकरण संबंधी अपने अनुभव भी साझा करेंगे. बयान में कहा गया कि दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान का सुचारू रूप से संचालन सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री की वैज्ञानिकों, राजनीतिक नेताओं, अधिकारियों और अन्य हितधारकों के साथ निरंतर संवाद और चर्चा चल रही है.

इस मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘देश में विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान जारी है. देश भर में हमारे अग्रिम मोर्चे पर तैनात स्वास्थ्यकर्मी टीका लगवा रहे हैं. कल 22 जनवरी को (अपराह्न)1:15 बजे मैं वाराणसी में कोविड-19 टीकाकरण के लाभार्थियों और टीका लगाने वालों से संवाद करूंगा.’’ प्रधानमंत्री ने लिखा कि इस संवाद के जरिए लाभार्थियों के अनुभव और उनके फीडबैक जानने का अवसर मिलेगा. प्रधानमंत्री मोदी लोगों से विनती की कि वह कल का ये संवाद जरूर देखें.

Narendra Modi
प्रधानमंत्री मोदी ने किया ये ट्वीट (Tweet Grab)




प्रधानमंत्री ने 16 जनवरी को देशव्यापी टीकाकरण अभियान की शुरुआत की थी. टीकाकरण के पहले चरण में तीन करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों को टीका लगाया जाएगा.
बता दें केंद्र और राज्य सरकारें कोरोना वैक्सीन को लेकर हो रहे संशय को दूर करने के प्रयास कर रही हैं.  केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य कर्मियों से कोविड-19 का टीका लगवाने में संकोच नहीं करने का आग्रह करते हुए कहा कि टीका लगवाना उनकी सामाजिक जिम्मेदारी है और प्रतिकूल प्रभाव संबंधी चिंताएं फिलहाल ‘बेबुनियाद और मामूली’ लगती हैं. नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वी के पॉल ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कोविशील्ड और कोवैक्सीन, दोनों टीके सुरक्षित हैं और इन्हें बनाने में बहुत कोशिशें की गयी हैं. उन्होंने कहा कि दु:ख की बात है कि स्वास्थ्य कर्मी, विशेष रूप से डॉक्टर और नर्स इसे लगवाने से मना कर रहे हैं.

पॉल ने कहा, ‘‘अगर हम टीका नहीं लगवा रहे हैं हम अपनी सामाजिक जिम्मेदारी को पूरा नहीं कर रहे. पूरी दुनिया एक टीके के लिए शोर मचा रही है. मेरा आपसे अनुरोध है कि कृपया टीका लगवाएं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘टीके को लेकर संकोच समाप्त होना चाहिए क्योंकि कोविड-19 टीकाकरण हमें इस महामारी को समाप्त करने की दिशा में ले जा रहा है.’’

पॉल ने बताया कि उन्होंने खुद कोवैक्सीन का टीका लगवाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज