अपना शहर चुनें

States

गुरुवार को एम्स-राजकोट की आधारशिला रखेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी गुरुवार को एम्स राजकोट की आधारशिला रखेंगे. (फाइल फोटो)
पीएम मोदी गुरुवार को एम्स राजकोट की आधारशिला रखेंगे. (फाइल फोटो)

AIIMS Rajkot: प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जानकारी दी गई कि इस मौके पर गुजरात के राज्यपाल, मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन और केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री भी मौजूद रहेंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) 31 दिसंबर को वीडियो कॉन्फ्रेंस (Video Conferencing) के जरिए गुजरात (Gujarat) के राजकोट (Rajkot) में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (All India Institute of Medical Sciences) की आधारशिला रखेंगे. प्रधानमंत्री कार्यालय (Prime Minister Office) ने कहा कि संस्थान को 201 एकड़ से अधिक जगह आवंटित की गई है और यह लगभग 1,195 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा. संस्थान का निर्माण 2022 के मध्य तक पूरा होने की उम्मीद है. इसने कहा कि इस आधुनिक अस्पताल में 750 बिस्तर होंगे जिनमें से 30 बिस्तर आयुष ब्लॉक में होंगे. इसमें एमबीबीएस पाठ्यक्रम के लिए 125 और नर्सिंग पाठ्यक्रम के लिए 60 सीट होंगी.

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जानकारी दी गई कि इस मौके पर गुजरात के राज्यपाल, मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन और केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री भी मौजूद रहेंगे. इस प्रोजेक्ट के लिए 201 एकड़ भूमि आवंटित की गई है. इस अस्पताल को बनाने में 1,195 करोड़ रुपये का खर्च आने का अनुमान है. इसके साल 2022 के मध्य में बनकर तैयार होने की उम्मीद है.


इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को किसान रेल के 100वें फेरे को हरी झंडी दिखायी. यह रेल फल- सब्जी लेकर महाराष्ट्र के संगोला से पश्चिम बंगाल के शालीमार के लिये रवाना हुई. उन्होंने इस मौके पर जोर देते हुये कहा कि उनकी सरकार ने कृषि को बढ़ावा देने और किसानों को मजबूत बनाने के लिए कृषि क्षेत्र में ऐतिहासिक सुधार किये हैं.



ये भी पढ़ें- 31 दिसंबर तक ITR नहीं फाइल करने पर डबल पेनाल्टी देनी होगी, दो दिन का है मौका

उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये किसान रेल हरी झंडी दिखाने के बाद कहा कि कृषि क्षेत्र में सुधार के लिये उनकी सरकार की नीतियां स्पष्ट हैं और इरादे पारदर्शी हैं. उन्होंने कहा कि सरकार पूरी ताकत और समर्पण के साथ किसानों और कृषि क्षेत्र को मजबूत बनाने का काम जारी रखेगी.

केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के एक वर्ग द्वारा लगातार किये जा रहे प्रदर्शन के बीच उनकी यह टिप्पणी आई है. हालांकि मोदी ने इस मौके पर कृषि कानूनों का सीधे उल्लेख नहीं किया, लेकिन वह इस बात पर जोर देते रहे हैं कि ये कानून किसानों के हित में हैं और विपक्ष इनको लेकर किसानों को गुमराह कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज