सभी मुख्यमंत्रियों को पीएम मोदी का संदेश-लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी सोशल डिस्टेंसिंग हमारी जिम्मेदारी

सभी मुख्यमंत्रियों को पीएम मोदी का संदेश-लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी सोशल डिस्टेंसिंग हमारी जिम्मेदारी
राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम मोदी

COVID-19: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सभी मुख्यमंत्रियों से कहा, वायरस का एक साथ करेंगे मुकाबला. कल राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति करेंगे वीडियो-कॉन्फ्रेंस.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश भर में कोरना वायरस (Coronavirus) का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है. अब तक करीब 2000 से ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ गए हैं. जबकि भारत में मौत का आंकड़ा 54 हो गया है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बातचीत की है और इस बीमारी को फैलने से रोकने के उपायों पर चर्चा की.

वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान पीएम मोदी ने कहा, 'लॉकडाउन 15 अप्रैल को खत्म हो रहा है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप आजाद होकर सड़कों पर घूमें. हम सभी को जिम्मेदार होना है. लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग ही कोविड-19 से लड़ने का एकमात्र तरीका है.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीएम मोदी से बातचीत में मिजोरम, दिल्ली, बिहार, तेलंगाना, पुड्डुचेरी, गोवा, त्रिपुरा, उत्तराखंड, मेघालय, हिमाचल के मुख्यमंत्रियों समेत राज्यों के सीएम और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासक मौजूद थे.



इन मुद्दों पर हुई चर्चा



सूत्रों ने बुधवार को ये जानकारी देते हुए बताया कि चर्चा के दौरान संक्रमित लोगों के सम्पर्क में आने वालों का पता लगाने और जांच में पॉजिटिव पाए गए लोगों को अलग रखने सहित कई अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई. इस संवाद के दौरान तबलीगी जमात से जुड़े विषयों एवं आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता के मुद्दों पर भी चर्चा संभावित है. इस बैठक में प्रधानमंत्री के अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह एवं शीर्ष अधिकारी शामिल हुए. कोविड-19 के प्रकोप और इससे जुड़े मुद्दों के सामने आने के बीच पिछले दो सप्ताह से कम समय में प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्रियों की यह दूसरी बातचीत है. पहली ऐसी बातचीत 20 मार्च को हुई थी.

राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति कल करेंगे वीडियो-कॉन्फ्रेंस
राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कल राष्ट्रपति भवन से गवर्नर, लेफ्टिनेंट गवर्नर और प्रशासकों के साथ कोरोना वायरस से जुड़े मुद्दों पर वीडियो-कॉन्फ्रेंस कर चर्चा करेंगे.


प्रवासी मजदूरों का मुद्दा
बता दें कि कोरोना वायरस को लेकर देश भर में लागू लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूरों के बीच अनिश्चितता का माहौल है. राजधानी दिल्ली जैसे बड़े शहरों को छोड़कर मजदूर अपने गांव वापस लौटने की कोशिश में दिख रहे हैं. इस बीच केंद्र सरकार ने राज्यों से लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों की आवाजाही को रोकने के लिए राज्य और जिलों की सीमा को प्रभावी तरीके से सील करने को कहा है. ऐसे में पीएम आज राज्यों के सीएम के साथ इस मुद्दा को उठा सकते हैं.

पिछले दिनों मुख्य सचिवों और पुलिस महानिदेशकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान कैबिनेट सचिव राजीव गौबा और केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने उनसे सुनिश्चित करने को कहा कि शहरों में या राजमार्गों पर आवाजाही नहीं हो, क्योंकि लॉकडाउन जारी है.

ये भी पढ़ें:

58 क्रू मेंबर्स के साथ विदेश में फंसा है साउथ का ये सुपरस्टार, ऐसे मांगी मदद

मरकज में शामिल हुए 275 विदेशियों की हुई पहचान, अब किया क्वारेंटाइन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading