होम /न्यूज /राष्ट्र /राजघाट और विजयघाट पहुंचे PM मोदी, महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री को दी श्रद्धांजलि

राजघाट और विजयघाट पहुंचे PM मोदी, महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री को दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री मोदी ने गांधी जयंती के मौके पर राजघाट पहुंचकर राष्ट्रपिता को श्रद्धासुमन अर्पित किया.

प्रधानमंत्री मोदी ने गांधी जयंती के मौके पर राजघाट पहुंचकर राष्ट्रपिता को श्रद्धासुमन अर्पित किया.

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 153वीं जयंती पर पूरे देश में जगह-जगह कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. राजाधानी दिल्ली ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांधी जयंती के मौके पर राष्ट्रपिता के समाधि स्थल ‘राजघाट’ पहुंचकर बापू को श्रद्धांजलि दी. इसके बाद वह पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के मौके पर उनके समाधि स्थल ‘विजयघाट’ पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 153वीं जयंती पर पूरे देश में जगह-जगह कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. राजाधानी दिल्ली में सर्व धर्म प्रार्थना का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, पीएम नरेंद्र मोदी, कई केन्द्रीय मंत्री और अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे. कार्यक्रम सुबह 7:30 से 8:30 बजे राजघाट स्थित गांधी समाधि पर आयोजित हुआ.

इससे पहले कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ रविवार सुबह राजघाट पहुंचीं. दोनों ने महात्मा गांधी की समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित किया. गांधी जयंती पर उत्तर प्रदेश में भी कई जगहों पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया. इसमें सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल हुए. योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर G.P.O. गांधी प्रतिमा के पास आयोजित पुष्पांजलि/माल्यार्पण कार्यक्रम में सुबह 8:30 बजे हिस्सा लिया. इसके बाद लखनऊ में ही हजरतगंज स्थित क्षेत्रीय गांधी आश्रम पहुंचे. मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास 5 कालिदास मार्ग पर गांधी जयंती के उपलक्ष्य में कार्यक्रम का आयोजन हुआ.

प्रशांत किशोर शुरू कर रहे हैं ‘जन सुराज’ पदयात्रा
चुनवी रणनीतिकार प्रशांत किशोर गांधी जयंती के दिन यानी आज से पश्चिम चंपारण के भितिहरवा गांधी आश्रम से अपनी ‘जन सुराज’ पदयात्रा शुरू कर रहे हैं. उनकी 3500 किलोमीटर की पद यात्रा अगले एक से डेढ़ साल में बिहार के कोने-कोन में पहुंचेगी. प्रशांत किशोर ने आने वाले 10 वर्षों में बिहार को देश के शीर्ष 10 राज्यों में शामिल कराने का संकल्प लिया है और वह लोगों से अपनी ‘जन सुराज’ पदयात्रा से जुड़ने की अपील कर रहे हैं. प्रशांत किशोर ने कहा है कि इस पदयात्रा के तीन मूल उद्देश्य हैं. पहला समाज की मदद से जमीनी स्तर पर सही लोगों को चिह्न्ति करना, दूसरा उनको एक लोकतांत्रिक मंच पर लाने का प्रयास करना और तीसरा स्थानीय समस्याओं और संभावनाओं को बेहतर तरीके से समझना और उनके आधार पर नगरों एवं पंचायतों की प्राथमिकताओं की सूची बनाना व उनके विकास का ब्लूप्रिंट तैयार करना.

Tags: Gandhi Jayanti, Lal Bahadur Shastri, PM Modi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें