अपना शहर चुनें

States

कोविड वैक्सीन विकसित करने में शामिल तीन टीमों से बातचीत करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने शनिवार को अहमदाबाद, हैदराबाद और पुणे की यात्रा की थी. (File Photo)
पीएम मोदी ने शनिवार को अहमदाबाद, हैदराबाद और पुणे की यात्रा की थी. (File Photo)

Coronavirus Vaccine: प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जानकारी दी गई कि पीएम नरेंद्र मोदी सोमवार को कोविड-19 टीका विकसित करने में शामिल तीन टीमों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत करेंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) कोविड-19 का टीका (Covid-19 Vaccine) विकसित करने में शामिल तीन टीमों से सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बातचीत करेंगे. प्रधानमंत्री कार्यालय (Prime Minister Office) की ओर से रविवार को यह जानकारी दी गई. प्रधानमंत्री कार्यालय ने रविवार को एक ट्वीट कर कहा कि तीन टीमें जेनोवा बायोफार्मा (Geneva Biopharma), बायोलॉजिकल ई (Biological E) और डॉ रेड्डीज ( Dr. Reddy's) से हैं.

पीएमओ ने कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोविड-19 का टीका विकसित करने में शामिल तीन टीमों से कल, 30 नवंबर 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बातचीत करेंगे. जिन टीमों से वह बात करेंगे उनमें जेनोवा बायोफार्मा, बायोलॉजिकल ई और डॉ रेड्डीज शामिल हैं." पीएम मोदी ने शनिवार को अहमदाबाद, हैदराबाद और पुणे की यात्रा की थी. उन्होंने इन शहरों में कोरोना वायरस टीके के विकास और विनिर्माण प्रक्रिया की समीक्षा की थी. उन्होंने अहमदाबाद में जायडस बायोटेक पार्क, हैदराबाद में भारत बायोटेक और पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया का दौरा किया.







एक आधिकारिक बयान में कहा गया, ‘‘वैज्ञानिकों ने खुशी जताई कि प्रधानमंत्री ने उनके साथ मुलाकात कर उनके साहस को बढ़ाया और टीका विकास के इस महत्वपूर्ण चरण में उनके प्रयासों में तेजी लाने के लिए उत्साहवर्धन किया.’’

ये भी पढ़ें- कोविडशील्ड टीका लगवाने वाले व्यक्ति का बड़ा आरोप, सीरम को भेजा नोटिस

पीएम मोदी को स्वदेशी टीके के जल्द विकसित किए जाने पर हुआ गर्व
बयान में बताया गया, ‘‘प्रधानमंत्री को इस बात से गौरव हुआ कि भारत का स्वदेशी टीका विकास इतनी तेजी से आगे बढ़ा है. उन्होंने उल्लेख किया कि भारत किस तरह से टीका विकास के इस पूरी यात्रा में विज्ञान के ठोस सिद्धांतों का पालन कर रहा है, साथ ही उन्होंने टीका वितरण की प्रक्रिया को बेहतर बनाने के सुझाव भी मांगे.’’

बयान के मुताबिक मोदी ने जोर दिया कि भारत टीका को न केवल अच्छे स्वास्थ्य की दृष्टि से महत्वपूर्ण मानता है बल्कि वैश्विक स्तर पर बेहतरी के लिए भी इसे जरूरी समझता है और वायरस के खिलाफ सामूहिक लड़ाई में यह भारत का दायित्य है कि वह अपने पड़ोसी देशों सहित अन्य देशों का भी सहयोग करे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज