पहचान छुपाकर सरकारी अस्पताल में इलाज करा रहे थे PM मोदी के चाचा

पहचान छुपाकर सरकारी अस्पताल में इलाज करा रहे थे PM मोदी के चाचा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फ़ाइल फोटो)

कांतिलाल मोदी ने पीएम से रिश्ते की बात इसलिए छुपाई थी क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि उनका दूसरे लोगों के मुकाबले अतिरिक्त ख्याल रखा जाए.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
सूरत के सिविल अस्पताल में बुधवार को तब हंगामा खड़ा हो गया जब स्टाफ को पता चला कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चाचा कांतिलाल मोदी नाम बदलकर उनके अस्पताल में इलाज करा रहे हैं. असल में कांतिलाल मोदी ने पीएम से रिश्ते की बात इसलिए छुपाई थी क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि उनका दूसरे लोगों के मुकाबले अतिरिक्त ख्याल रखा जाए.

ये भी पढ़े: दिल्ली में PM मोदी ने रैली में किया IPL का जिक्र, राजीव गांधी पर लगाया नया आरोप

क्या है मामला?
एक हिंदी अखबार के मुताबिक कांतिलाल ने इलाज के लिए भर्ती होने के दौरान किसी को भी ये नहीं बताया था कि वो पीएम मोदी के रिश्तेदार हैं. उन्होंने खुद की पहचान छिपाने की कोशिश की जिससे पीएम के रिश्ते की बात सार्वजानिक न हो. हालांकि अस्पताल में जब पूछताछ हुई तो ये बात सामने आ गई. बुधवार को यूरीन इन्फेक्शन की समस्या के चलते कांतिलाल अस्पताल पहुंचे थे. जांच में उनका शुगर लेवल 223 और ब्लड प्रेशर 150 पाया गया. उन्हें मेडिसिन से सर्जरी विभाग में रेफर कर एडमिट कर लिया गया है.



कांतिलाल मोदी



ये भी पढ़ें- आडवाणी की गिरफ्तारी में बाधा डालने वालों को गोली मारने का आदेश था: लालू

नहीं चाहते थे पीएम के नाम का इस्तेमाल करें
बता दें कि पीएम मोदी के भाई और परिवार के दूसरे लोग भी सामान्य जीवन जी रहे हैं. मोदी के चाचा कांतिलाल भी पीएम के नाम का इस्तेमाल करने से परहेज करते हैं और इसलिए ही उन्होंने पहचान छुपाकर सूरत के सिविल अस्पताल में भर्ती होने का फैसला किया था. 81 वर्षीय कांतिलाल सूरत के पाल अडाजण के रुद्र रेजिडेंसी में रहते हैं. गौरतलब है कि कुछ वक़्त पहले मोदी के बड़े भाई प्रहलाद मोदी की पत्नी का निधन हो गया था, तब कांतिलाल भी उनके अंतिम संस्कार में गए थे.

मोदी से होती थी मुलाक़ात
हिंदी अखबार से बातचीत में कांतिलाल ने बताया कि जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब मिलना-जुलना होता था.हालांकि प्रधानमंत्री बनने के बाद वे उनसे नहीं मिल पाए हैं. कांतिलाल के मुताबिक वे कभी भी किसी को नहीं बताते हैं कि मोदी उनके भतीजे हैं. हालांकि अस्पताल को इसकी जानकारी होने के बाद सीनियर डॉक्टर्स ने उनका हाल-चाल लिया.

यह भी पढ़ें:  SSC EXAM 2018: जीडी कांस्टेबल परीक्षा आंसर की हुई जारी, ssc.nic.in पर चेक करें

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

First published: May 9, 2019, 1:34 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading