लाइव टीवी
Elec-widget

पीएम मोदी बोले-अब CAG 2.0 की तरफ बढ़ना होगा, ताकि क्लीन इंडिया बनाने में मदद मिले

News18Hindi
Updated: November 21, 2019, 7:20 PM IST
पीएम मोदी बोले-अब CAG 2.0 की तरफ बढ़ना होगा, ताकि क्लीन इंडिया बनाने में मदद मिले
पीएम मोदी ने कैग ऑफिस के प्रांगण में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया.

नई दिल्ली में अकाउंटेंट जनरल कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा, 'बीते कुछ सालों में सरकारी विभागों में फ्रॉड से निपटने के लिए अनेक प्रयास हुए हैं. अब CAG को ऐसे टेक्निकल टूल्स डेवलप करने होंगे ताकि संस्थानों में फ्रॉड के लिए कोई गुंजाइश न बचे.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2019, 7:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा है कि अब CAG (नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक) को भी CAG 2.0 की तरफ बढ़ना होगा. उन्होंने कहा, 'मुझे विश्वास है कि CAG (Comptroller and Auditor General of India) देश की तमाम अपेक्षाओं पर खरा उतरेगी और न्यू इंडिया (New India) को क्लीन इंडिया (Clean India) बनाने में मदद करेगी. नरेंद्र मोदी गुरुवार को नई दिल्ली में अकाउंटेंट जनरल कॉन्क्लेव को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा, 'बीते कुछ सालों में सरकारी विभागों में फ्रॉड से निपटने के लिए अनेक प्रयास हुए हैं. अब CAG को ऐसे टेक्निकल टूल्स डेवलप करने होंगे ताकि संस्थानों में फ्रॉड के लिए कोई गुंजाइश न बचे.'

पीएम मोदी ने कहा, 'सिर्फ आंकड़ों और प्रक्रिया तक ही इस संगठन को सीमित नहीं रहना है, बल्कि वाकई में गुड गवर्नेंस के एक क्रिस्टल के रूप में आगे आना है. CAG को CAG Plus बनाने के सुझाव पर आप गंभीरता से अमल कर रहे हैं, ये खुशी की बात है. CAG की जिम्मेदारी इसलिए भी अधिक है क्योंकि आप देश और समाज के आर्थिक आचरण को पवित्र रखने में अहम भूमिका निभाते हैं और इसलिए आपसे उम्मीदें भी अधिक रहती है.'

JAM और GeM की उपयोगिता बताई
पीएम मोदी ने कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए कहा, 'JAM- जनधन, आधार और मोबाइल से सामान्य लोगों को योजनाओं का लाभ डायरेक्ट पहुंच रहा है. और GeM - गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस के माध्यम से आज सरकार की सवा चार सौ से ज्यादा स्कीम का लाभ लाभार्थियों तक पहुंच रहा है. इसके कारण करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपये गलत हाथों में जाने से बचे हैं.'

उन्होंने कहा, 'हमारा लक्ष्य है कि साल 2022 तक एवीडेंस बेस्ड पॉलिसी को गवर्नेंस का अभिन्न हिस्सा बनाया जाए. ये न्यू इंडिया की नई पहचान बनाने में भी मदद करेगा. ऐसे में ऑडिट और इंश्योरेंस सेक्टर के बदलाव के लिए भी ये सही दौर है. अब CAG को भी CAG 2.0 की तरफ बढ़ना होगा. बीते कुछ सालों में सरकारी विभागों में Fraud से निपटने के लिए अनेक प्रयास हुए हैं. अब CAG को ऐसे टेक्निकल टूल्स डेवलप करने होंगे ताकि संस्थानों में Fraud के लिए कोई गुंजाइश न बचे.'



कार्यक्रम से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कंट्रोलर एंड ऑडिटर जनरल ऑफ इंडिया (कैग) के ऑफिस प्रांगण में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया. इस मौके पर उनके साथ दूसरे अधिकारी भी मौजूद थे. अपने भाषण में प्रधानमंत्री ने बापू की बात याद दिलाते हुए कहा, 'गांधी जी कहते थे कि जिस तरह व्यक्ति अपनी पीठ नहीं देख सकता उसी तरह व्यक्ति को अपनी त्रुटियों को देखना बड़ा मुश्किल होता है. आप सभी वो दिग्गज हैं जो आईना लेकर सरकारी व्यवस्थाओं के सामने खड़े हो जाते हैं और कमियों और गलतियों को बताते हैं. आप हिसाब किताब रखने वालों का हिसाब किताब करते हैं. मुझे खुशी है कि आपने अपना हिसाब किताब दिखाया.'

ये भी पढ़ें : महाराष्ट्र में सरकार गठन के फॉर्मूले पर लगी फाइनल मुहर, तीनों पार्टियों ने किया CMP पर हस्ताक्षर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 6:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...