PM मोदी ने कहा कोरोना ने भारतीयों की महत्वकांक्षाओं पर कोई असर नहीं डाला

PM मोदी ने कहा कोरोना ने भारतीयों की महत्वकांक्षाओं पर कोई असर नहीं डाला
पीएम मोदी यूएसआईएसपीएफ के तीसरे वार्षिक नेतृत्व शिखर सम्मेलन को संबोधित कर रहे हैं

PM Modi Address in USISPF: पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपने संबोधन में कहा कि भारत और अमेरिका (India & America) की दोस्ती मजबूत होती जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2020, 10:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) भारत और अमेरिका (India-America) के बीच साझेदारी के लिए कार्य करने वाले गैर लाभकारी संगठन अमेरिका-भारत सामरिक साझेदारी फोरम (यूएसआईएसपीएफ) के तीसरे वार्षिक नेतृत्व शिखर सम्मेलन (USISPF Summit) को संबोधित किया. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि भारत और अमेरिका (India & America) की दोस्ती मजबूत होती जा रही है. पीएम मोदी ने कहा 2019 में भारत में एफडीआई 20 प्रतिशत बढ़ा. पीएम मोदी ने कहा वर्तमान परिस्थिति एक ताजा माइंडसेट की मांग करती है. ऐसी सोच जहां विकास मानव को ध्यान में रखकर किया जाए.

पीएम मोदी ने कहा जब 2020 शुरू हुआ था तो किसी ने सोचा था कि पूरा साल इस तरह से बीतेगा? वैश्विक महामारी ने हर किसी को प्रभावित किया है. ये हमारी लचीलता, पब्लिक हेल्थ और इकोनॉमिक सिस्टम की परीक्षा ले रहा है. वर्तमान परिस्थिति की मांग है कि ऐसा विकास हो जो कि मानव को ध्यान में रखकर किया जाए.

भारत में कोरोना का रिकवरी रेट ज्यादा
पीएम मोदी ने कहा भारत 130 करोड़ लोगों का देश है और यहां सीमित संसाधन हैं, यहां पूरी दुनिया की तुलना में प्रति दस लाख लोगों पर सबसे कम मौतें हुई हैं. रिकवरी रेट भी लगातार बढ़ रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि महामारी (Pandemic) ने कई चीजों पर असर डाला है लेकिन इसने 130 करोड़ों भारतीयों की आकांक्षाओं और महत्वाकांक्षाओं पर कोई असर नहीं डाला है. हाल के महीनों में वहां सुधार पहुंच रहे हैं. ये व्यापार को आसान और लाल फीताशाही को कम कर रहे हैं.
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 130 करोड़ भारतीय एक मिशन पर काम कर रहे हैं ताकि 'आत्मनिर्भर भारत' (Atmanirbhar Bharat) बनाया जा सके. आत्मानिर्भर भारत ग्लोबल का लोकल में विलय करता है. यह भारत की ताकत को एक वैश्विक शक्ति गुणक के रूप में सुनिश्चित करता है.



भारत युवाओं का देश 
पीएम मोदी ने कहा भारत में चुनौतियों के लिए, आपके पास एक सरकार है जो परिणाम देने में विश्वास करती है, जिसके लिए ईज़ ऑफ लिविंग उतनी ही महत्वपूर्ण है जितना ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस. आप 35 साल से कम उम्र के 65% आबादी वाले युवा देश को देख रहे हैं.


प्रधानमंत्री ने कहा कि महामारी ने दुनिया को दिखाया है कि वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाओं के विकास पर निर्णय न केवल लागत पर आधारित होना चाहिए बल्कि उन्हें भी भरोसे पर आधारित होना चाहिए. भूगोल की सामर्थ्य के साथ, कंपनियां अब विश्वसनीयता और नीतिगत स्थिरता की तलाश में हैं. भारत में ये सभी गुण हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा भारत सामाजिक दूरी के बारे में अभियान शुरू करने और लोक स्वास्थ्य उपायों के रूप में चेहरे को ढंकने की वकालत करने वाले पहले देशों में से एक था. पीएम मोदी ने कहा भारत लोकतंत्र के लिए प्रतिबद्धता और विविधता के साथ राजनीतिक स्थिरता एवं नीतियों की निरंतरता वाला देश है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज