बेहद व्‍यस्‍त रहा PM मोदी का सोमवार, व्रत रहते हुए कोरोना पर की कई बैठकें

पीएम मोदी ने युद्धस्‍तर पर की बैठकें. (File pic)

पीएम मोदी ने युद्धस्‍तर पर की बैठकें. (File pic)

पीएम मोदी (Narendra Modi) ने सोमवार को पहले मुख्‍यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये बैठक की. इसके बाद देश के टॉप डॉक्‍टर्स के साथ उन्‍होंने कोरोना के हालात पर चर्चा की. फिर दवा कंपनियों के प्रमुखों से भी उन्‍होंने बातचीत की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2021, 12:00 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारत में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) बेकाबू स्‍तर पर है. हर राज्‍य में हालात काफी खराब हो रहे हैं. अस्‍पतालों में मरीजों के इलाज के लिए बेड नहीं हैं तो वहीं बड़ी संख्‍या में रोजाना कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं. इन सबको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) काफी गंभीर हैं. वे लगातार इन हालात पर नजर बनाए हुए हैं. इस बीच उनका सोमवार का दिन बेहद व्‍यस्‍त रहा. नवरात्रि का व्रत होते हुए भी उन्‍होंने एक के बाद एक कई अहम बैठकें कीं. पीएम मोदी सोमवार को नवरात्रि के अपने सातवें दिन के उपवास पर थे.

पीएम मोदी ने सोमवार को पहले मुख्‍यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये बैठक की. इसके बाद देश के टॉप डॉक्‍टर्स के साथ उन्‍होंने कोरोना के हालात पर चर्चा की. फिर दवा कंपनियों के प्रमुखों से भी उन्‍होंने बातचीत की. उन्‍होंने मुख्‍यमंत्रियों से टीकाकरण अभियान, बुनियादी जरूरतों, दवा और ऑक्‍सीजन की उपलब्‍धता पर बात की.

PM ने वैक्‍सीनेशन को बताया सबसे बड़ा हथियार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 से लड़ाई में टीकाकरण को सबसे बड़ा हथियार बताते हुए सोमवार को देश भर के डॉक्‍टरों से अधिक से अधिक लोगों को टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित करने का आग्रह किया. साथ ही उन्होंने डॉक्‍टरों से कोविड के उपचार और रोकथाम को लेकर उड़ रही अफवाहों के खिलाफ लोगों को शिक्षित करने की भी अपील की.
पीएम मोदी ने महामारी के समय चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों के सेवा भाव को अमूल्य बताते हुए उनकी सराहना की और कोविड प्रबंधन का अनुभव रखने वाले शहरों के चिकित्सकों से आग्रह किया कि वे सहयोग, प्रशिक्षण, ऑनलाइन परामर्श द्वारा उन क्षेत्रों में पहुंचें, जहां पर्याप्‍त सेवाएं नहीं हैं.



प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी एक बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले साल इसी समय चिकित्सकों के कठिन परिश्रम और देश की रणनीति की वजह से कोरोना संक्रमण के लहर को नियंत्रित किया जा सका था. उन्होंने कहा, ‘अब जबकि देश दूसरी लहर का सामना कर रहा है तो सभी चिकित्सक और अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मी महामारी से पूरी ताकत के साथ मुकाबला कर रहे हैं और लाखों लोगों का जीवन बचा रहे हैं.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज