Assembly Banner 2021

कोरोना पर काबू पाने के लिए एक्शन में केंद्र, 3 राज्यों में भेजीं 50 टीमें, राज्यों संग बैठक करेंगे PM मोदी

सूत्रों के मुताबिक कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद करेंगे. (फाइल फोटो)

सूत्रों के मुताबिक कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद करेंगे. (फाइल फोटो)

PM Modi meeting on Coronavirus in India: पिछले साल 30 जनवरी को देश में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद सोमवार को पहली बार संक्रमण के एक लाख से ज्यादा मामले सामने आए.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में सोमवार को एक दिन में कोविड-19 (Coronavirus) के अब तक के सबसे ज्यादा 1.03 लाख नए मामले आने के बीच केंद्र अगले तीन दिनों में मुख्यमंत्रियों और राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ अगले दौर की बैठक करने वाला है. वहीं, टीकाकरण अभियान को सभी उम्र समूह के लोगों के लिए खोलने की मांग भी जोर पकड़ने लगी है. सूत्रों के मुताबिक कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद करेंगे और इस दौरान महामारी की ताजा स्थिति के साथ ही देश भर में जारी टीकाकरण अभियान की समीक्षा करेंगे. वहीं कोरोना से बेहाल महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ में केंद्र ने एक्सपर्ट्स की 50 टीमें रवाना की हैं. महाराष्ट्र के 30 जिलों, छत्तीसगढ़ के 11और पंजाब के 9 जिलों में केंद्रीय टीमें तैनात होंगी. कोरोना के रोजाना बढ़ते मामलों और मौत के आंकड़ों को देखते हुए टीमें रवाना की गई हैं.

पिछले साल 30 जनवरी को देश में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद सोमवार को पहली बार संक्रमण के एक लाख से ज्यादा मामले सामने आए. इससे पहले, मोदी ने 17 मार्च को मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद किया था. इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा था कि अगर इस बढ़ती हुई महामारी को यहीं नहीं रोका जाएगा तो देशव्यापी संक्रमण की स्थिति बन सकती है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन मंगलवार को 11 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक कर कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी की समीक्षा करेंगे. इन 11 राज्यों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, पंजाब और राजस्थान हैं.

Youtube Video




कोरोना के सर्वाधिक 1,03,558 नए मामले
भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के दैनिक मामले मात्र 25 दिन में 20,000 से बढ़कर एक लाख की संख्या पार कर चुके हैं, जबकि पिछले साल 17 सितंबर को दैनिक मामलों के उस समय की अपनी चरम संख्या 97,894 पहुंचने में 76 दिन का समय लगा था. यह दर्शाता है कि यह संक्रमण अत्यंत तेजी से फैल रहा है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सोमवार के आंकड़ों के अनुसार भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक के सर्वाधिक 1,03,558 नए मामले सामने आए और इसी के साथ देशभर में अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,25,89,067 हो गई. देश में 478 और मरीजों के दम तोड़ने से मृतकों की संख्या भी बढ़कर 1,65,101 हो गयी है.

ये भी पढ़ें- कोरोना पर काबू पाने के लिए एक्शन में केंद्र, महाराष्ट्र-छत्तीगढ़-पंजाब भेजी 50 टीमें

पिछले कुछ दिनों में नयी पाबंदी लगाने के अलावा महाराष्ट्र, पंजाब और दिल्ली जैसे कई राज्यों ने कुछ समय के लिए स्कूलों को बंद करने या कक्षाओं को निलंबित करने की घोषणा की है. दिल्ली, गुजरात, तमिलनाडु जैसे कुछ राज्यों ने अनिश्चितकाल के लिए स्कूलों को बंद करने की घोषणाएं की हैं, जबकि उत्तर प्रदेश, राजस्थान, बिहार और पंजाब ने कुछ समय के लिए कक्षाओं को रोक दिया है. स्कूलों को ऑनलाइन कक्षाओं के जरिए शिक्षा देने के निर्देश दिए गए हैं. महाराष्ट्र में रविवार को संक्रमण के सबसे ज्यादा 57,074 मामले आए थे, जोकि कुल मामलों का 55.11 प्रतिशत है. इसके बाद छत्तीसगढ़ से 5252 और कर्नाटक से 4553 मामले आए.

आठ राज्यों से 81.90 प्रतिशत मामले
स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश और पंजाब में कोविड-19 के मामलों में तेज बढ़ोतरी हुई है और एक दिन में आए एक लाख से ज्यादा मामलों में इनकी भागीदारी 81.90 प्रतिशत है. देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी बढ़कर 7,41,830 हो गयी है और यह कुल संक्रमितों का 5.89 प्रतिशत है. उपचाराधीन मामलों में 50,233 की बढ़ोतरी हुई. देश में पिछले 24 घंटे में 52,847 लोगों के स्वस्थ हो जाने से अब तक कुल 1,16,82,136 लोग ठीक हो चुके हैं.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर टीकाकरण केंद्र खोलने और टीका देने के लिए उम्र संबंधी नियमों में छूट देने का आग्रह किया है. कर्नाटक, पंजाब और राजस्थान जैसे राज्यों ने भी सभी उम्र समूह के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान का विस्तार करने की पैरवी की थी. वर्तमान में 45 साल से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण हो रहा है. केजरीवाल ने कहा है कि अगर जरूरी मंजूरी मिल जाए तो तीन महीने के भीतर दिल्ली में सभी लोगों का टीकाकरण हो सकता है.

दिल्ली में रविवार को कोविड-19 के 4,033 मामले आए जबकि सोमवार को 3,548 मामले आए. केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को अपने पत्र में लिखा है, ‘‘देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही वृद्धि से नयी चिंता और चुनौती पैदा हो गयी है. हमें तेजी से टीकाकरण अभियान को आगे बढ़ाना होगा.’’

मुंबई में धारा-144 लागू
केंद्र सरकार के निर्देशों के मुताबिक, टीकाकरण केंद्र केवल अस्पताल या स्वास्थ्य केंद्रों में ही खोले जा सकते हैं. मुंबई पुलिस ने सोमवार से दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा-144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की. इसके तहत 30 अप्रैल तक सुबह सात बजे से रात आठ बजे के बीच सार्वजनिक स्थानों पर पांच या इससे अधिक संख्या में लोगों के एकत्र होने पर रोक होगी.

राज्यों में कोरोना की ताजा स्थिति
महाराष्ट्र में सोमवार को कोविड-19 के 47,288 नए मामले आए और 155 और मरीजों की मौत हो गयी. एक दिन पहले संक्रमण के 57,074 मामले आए थे. महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक नए मामलों के साथ राज्य में संक्रमितों की संख्या 30,57,885 हो गयी है, जबकि मृतकों की संख्या 56,033 हो गयी है.
मुंबई शहर में संक्रमण के 9879 मामले आए और 21 मरीजों की मौत हो गयी. महाराष्ट्र में 26,252 मरीजों को छुट्टी मिलने के साथ अब तक 25,49,075 लोग ठीक हो चुके हैं.

उधर, गुजरात में पहली बार संक्रमण के 3000 से ज्यादा मामले आए. राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान 3160 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई. गुजरात में संक्रमितों की संख्या 3,21,598 हो गयी है. गुजरात में 15 और लोगों की मौत होने से अब तक संक्रमण से 4581 लोग दम तोड़ चुके हैं. अस्पतालों से 2,028 लोगों को छुट्टी मिलने के साथ अब तक 3,00,765 लोग स्वस्थ हो चुके हैं. अहमदाबाद से 773, सूरत से 603 मामले सामने आए. वहीं, हरियाणा में सोमवार को संक्रमण के 2,040 नए मामले आए और आठ लोगों की मौत हो गई. राज्य में 13,105 उपचाराधीन मरीज हैं.

हिमाचल प्रदेश में पहली बार ब्रिटेन में मिले वायरस के स्वरूप का मामला सामने आया है. राज्य में संक्रमण के 567 मामले आए और छह और मरीजों की मौत हो गयी. राज्य के विशेष स्वास्थ्य सचिव निपुन जिंदल ने बताया कि सोलन में एक डॉक्टर के ब्रिटेन वाले स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.

जम्मू कश्मीर में कोविड-19 के 442 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 1,33,454 हो गयी, जबकि दो और लोगों की मौत होने से अब तक 2010 लोग संक्रमण से दम तोड़ चुके हैं. जम्मू खंड से 162 और कश्मीर खंड से 280 मामले आए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज