Home /News /nation /

pm narendra modi and joe biden unique meeting during g7 summit leave world stun

OPINION : जी-7 समिट के दौरान पीएम मोदी और बाइडेन की अनोखी मुलाकात ने उड़ाए दुनिया के होश

जी-7 समिट के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

जी-7 समिट के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

PM Modi Meet Joe Biden: आज भारत और अमेरिका के संबंध हर क्षेत्र में एक-दूसरे के साथ लगातार मजबूत होते जा रहे हैं. फिर वो चाहे रक्षा, विदेश नीति, व्यापार, कोविड प्रबंधन, क्लाइमेट चेंज हो या कोई अन्य क्षेत्र.

नई दिल्ली. जर्मनी में जी-7 समिट के दौरान आई एक अनोखी तस्वीर ने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है. जी-7 समिट के दौरान ग्रुप फोटो कार्यक्रम के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो से बात कर रहे थे, तो उसी दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन अचानक पीछे से पीएम मोदी के नजदीक पहुंचे और उनके कंधे पर अपना हाथ रखा. इस अवसर पर पीएम मोदी ने पलटकर देखा और बाइडेन के कंधे पर हाथ रखकर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया. इस अवसर पर दोनों नेताओं के बीच एक नई जुगलबंदी भी दिखी.

इससे पहले पीएम मोदी ने मई में जापान में आयोजित क्वाड समिट के दौरान मथुरा से संबधित ठकुरानी घाट की थीम पर बनी एक कलाकृति भी बाइडेन को भेंट की थी. क्वाड की बैठक के दौरान भी बाइडेन ने कोरोना को सफलतापूर्वक और लोकतांत्रिक तरीके से संभालने के लिए पीएम मोदी की भरपूर प्रशंसा की थी.

चीन से निपटने के लिए भारत और अमेरिका आए एक साथ
चीन की विस्तारवादी नीतियां आज दुनिया भर के लिए चिंता का सबब बनी हुई हैं. गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच संघर्ष के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव लगातार बना हुआ है. अमेरिका सीमा विवाद के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराता रहा है. हाल ही में जापान में आयोजित क्वाड समिट के दौरान भारत ने अन्य देशों के साथ मिलकर चीन के बढ़ते खतरे से निपटने पर चर्चा की थी.

यूक्रेन जंग के दौरान दिखी थी भारत और अमेरिका के बीच नई जुगलबंदी
पीएम मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के बीच एक नई जुगलबंदी देखी जा रही है. आज भारत और अमेरिका के संबंध हर क्षेत्र में एक-दूसरे के साथ लगातार मजबूत होते जा रहे हैं. फिर वो चाहे रक्षा, विदेश नीति, व्यापार, कोविड प्रबंधन और क्लाइमेट चेंज का विषय हो या फिर कोई अन्य क्षेत्र. यूक्रेन युद्ध के दौरान भारत के रूस से कच्चा तेल खरीदने के मुद्दे पर अमेरिका ने भारत के फैसले का समर्थन करते हुए कहा था कि वो भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को महत्व देता है और हर देश को रूस के संबंध में अपने फैसले खुद करने होंगे.

(डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं. लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सत्यता/सटीकता के प्रति लेखक स्वयं जवाबदेह है. इसके लिए News18Hindi किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं है.)

Tags: Joe Biden, Narendra modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर