मोदी कैबिनेट की बैठक आज, नई शिक्षा नीति पर लग सकती है मुहर

मोदी कैबिनेट की बैठक आज, नई शिक्षा नीति पर लग सकती है मुहर
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister of India)

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने इस साल बजट का ऐलान करते हुए एजुकेशन सेक्टर (Education Sector) को लेकर बड़ा ऐलान किया था. उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार बहुत जल्द ही नई एजुकेशन पॉलिसी (New Education Policy) लेकर आएगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की अध्यक्षता में बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक होगी. इस बैठक में देश की शिक्षा नीति पर बड़ा फैसला हो सकता है. इस साल फरवरी में जारी किए गए बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नई एजुकेशन पॉलिसी का ऐलान किया था. अगर आज शिक्षा नीति पर मुहर लगती है तो 34 साल बाद देश में नई एजुकेशन पॉलिसी आएगी.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Niramala Sitharaman) ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के दूसरे बजट में एजुकेशन सेक्टर (Education Sector) को लेकर कई बड़ी घोषणाएं की थी. वित्त मंत्री ने एजुकेशन सेक्टर को लेकर कहा था कि बहुत जल्द ही देश में नई एजुकेशन पॉलिसी (New Education Policy) को लाया जाएगा.

ये भी पढ़ें:- आज वायुसेना की ताकत बनेगा राफेल, जानें इस लड़ाकू विमान की 10 खासियत



ऑनलाइन डिग्री लेवल प्रोग्राम चलाए जाएंगे
वित्त मंत्री ने बताया था कि इसको लेकर राज्यों से बात चल रही है और जैसे ही इसकी शुरुआती प्रक्रिया पूरी हो जाएगी, नई एजुकेशन पॉलिसी को पेश किया जाएगा. उन्होंने कहा था कि एजुकेशन सेक्टर में बेहतर शिक्षकों और अन्य सुविधाओं के लिए बड़े स्तर पर पूंजी जुटाई जाएगी. इसी को ध्यान में रखते हुए वित्त मंत्री ने एजुकेशन सेक्टर में ​प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) लाने का ऐलान किया था. वित्त मंत्री ने बताया था कि मार्च 2021 तक देशभर में कुल 150 उच्च शैक्षणिक संस्थानों में अपरेंटिसशिप प्रोग्राम (Apprenticeship Programme) शुरू किया जाएगा.

गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, अब RCSE बना राजस्थान बोर्ड, 12वीं तक करेगी काम

सीतारमण ने कहा था कि पिछड़े वर्ग के युवाओं की उच्च शिक्षा तक पहुंच बढ़ाने के लिए भी काम किया जाएगा. ​गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए डिग्री लेवल ऑनलाइन स्कीम शुरू की जाएगी. वित्त मंत्री ने बताया था कि इसके लिए देश के टॉप 100 संस्थानों में ही यह सुविधा दी जाएगी. साथ ही उन्होंने नेशनल फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी का भी प्रस्ताव पेश किया था. साथ ही डॉक्टरों की कमी दूर करने के लिए हर जिला अस्पताल के साथ मेडिकल कॉलेज बनेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading