म्यांमार चुनावों में आंग सांग सू ची की जीत पर प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाई

पीएम नरेंद्र मोदी ने आंग सांग सू ची को बधाई दी है. (File Photo)
पीएम नरेंद्र मोदी ने आंग सांग सू ची को बधाई दी है. (File Photo)

Myanmar Elections: म्यांमार में सत्तारूढ़ ‘‘नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी’ (एनएलडी) की जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंग सांग सू ची को बधाई दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 11:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने म्यामांर (Myanmar) की सत्तारूढ़ नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी (National League for Democracy) पार्टी की जीत पर आंग सांग सू ची (Aung San Suu Kyi) को बधाई दी है. पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि "चुनावों में जीत के लिए आंग सान सू की  और एनएलडी (NLD) को बधाई. चुनाव का सफल संचालन म्यांमार में चल रहे लोकतांत्रिक परिवर्तन का एक और कदम है. मैं दोस्ती के हमारे पारंपरिक बंधन को मजबूत करने के लिए आपके साथ काम करना जारी रखना चाहता हूं."

बता दें म्यांमार में सत्तारूढ़ ‘‘नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी’ (एनएलडी) ने सोमवार को दावा किया कि उसने संसदीय चुनाव में बहुमत हासिल कर लिया है और वह सत्ता पर काबिज रहेगा. हालांकि, निर्वाचन आयोग ने रविवार तक महज कुछ सीटों पर ही आधिकारिक रूप से परिणामों की घोषणा की थी. संघीय निर्वाचन आयोग ने इससे पहले कहा था कि सभी नतीजों के आने में एक हफ्ते का समय लगेगा और गत रात आठ बजे तक 642 सदस्यीय संसद के लिए चुनाव में महज नौ विजेताओं के नामों की घोषणा की है जिनमें से सभी एनएलडी के प्रत्याशी हैं.


मंगलवार को आए अनधिकारिक चुनाव परिणाम के अनुसार, नोबेल शांति पुरस्कार विजेता आंग सान सू ची की सत्तारूढ़ पार्टी नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी (एनएलडी) को बहुमत प्राप्त हुआ है और वह अगले पांच साल तक सत्ता पर काबिज रहेगी.



विपक्षी पार्टी ने चुनावों को किया खारिज
हालांकि म्यामांर में सेना समर्थित मुख्य विपक्षी पार्टी ने पिछले सप्ताहांत देश में हुए आम चुनाव को पक्षपातपूर्व बताते हुए परिणाम को बुधवार को खारिज कर दिया.

म्यामांर के सबसे बड़े शहर यांगून में बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में यूनियन सॉलीडरिटी एंड डेवलपमेंट पार्टी (यूएसडीपी) के एक अधिकारी ने बयान जारी कर केन्द्रीय चुनाव आयोग से फिर से मतदान करवाने और सेना के साथ मिलकर काम करने की मांग की ताकि चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष हो सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज