अपना शहर चुनें

States

PM का किसानों से संवाद: चौपाल में होंगे केंद्रीय मंत्री, जानिए कहां होंगे अमित शाह-राजनाथ समेत कई मिनिस्टर

(AP Photo/Manish Swarup)
(AP Photo/Manish Swarup)

सुशासन दिवस के मौके पर किसानों को संबोथित कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह राजधानी के मेहरौली और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारका सेक्टर 15 में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 25, 2020, 10:55 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के प्रधानमंत्री रहे अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihar Vajpayee) की जयंती के अवसर पर आयोजित सुशासन दिवस के जरिए केंद्र की भारतीय जनता पार्टी (BJP) सरकार किसानों को मनाने की जुगत में लगी हुई है. शुक्रवार को आयोजित कार्यक्रम में एक ओर जहां पीएम किसान सम्मान निधि के 2 हजार रुपए 9 करोड़ किसानों के खातों में ट्रांसफर किए जाएंगे तो वहीं पीएम 6 राज्यों के किसानों से बात भी करेंगे. इस दौरान केंद्रीय मंत्री अलग-अलग जगहों पर रहेंगे जहां से किसानों के साथ वह भी चौपाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) का संदेश सुनेंगे.

बता दें राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित द्वारका में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, महरौली में गृह मंत्री अमित शाह, रंजीत नगर दिल्ली में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, अग्रसेन चौक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन मौजूद रहेंगे. तो वहीं चेन्नई में प्रकाश जावड़ेकर पटना में रविशंकर प्रसाद, यूपी के मोहनलाल गंज में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अमेठी में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और मध्य प्रदेश स्थित होशंगाबाद में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मौजूद रहेंगे.

एक करोड़ से ज्यादा किसानों की भागीदारी सुनिश्चित- BJP
गौरतलब है कि भाजपा ने यह कार्यक्रम ऐसे समय में तय किया है कि जब दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर किसान पिछले चार सप्ताह से अधिक समय से तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं. वे इन कानूनों को रद्द किए जाने की मांग पर अड़े हुए हैं जबकि सरकार ने इस मांग को सिरे से खारिज कर दिया है.



भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने कहा, ‘इस उत्सव के अवसर पर भाजपा के नेता और देश भर के किसान अलग-अलग कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे. देश के 19,000 से ज्यादा स्थानों पर ये कार्यक्रम आयोजित होंगे. इन कार्यक्रमों में देश के एक करोड़ से ज्यादा किसानों की भागीदारी सुनिश्चित हुई है.उत्तर प्रदेश में 3000 स्थानों में इन कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज