अपना शहर चुनें

States

पीएम मोदी ने केरल को दी सौगात, हजारों करोड़ की परियोजनाओं की हुई शुरुआत

पीएम मोदी ने शुक्रवार को कहा कि भारत जलवायु परिवर्तन से लड़ने और किसानों को सोलर क्षेत्र से जोड़ने के लिए सोलर एनर्जी को बहुत महत्व दे रहा है.
पीएम मोदी ने शुक्रवार को कहा कि भारत जलवायु परिवर्तन से लड़ने और किसानों को सोलर क्षेत्र से जोड़ने के लिए सोलर एनर्जी को बहुत महत्व दे रहा है.

PM Narendra Modi Lays Foundation: पीएम मोदी ने जिन प्रोजेक्ट्स की शुरुआत की, उनमें 320 केवी पुगलुर (तमिलनाडु) - त्रिशूर (केरल) बिजली संचरण परियोजना, 50 मेगावाट कासरगोड सौर ऊर्जा परियोजना और अरुविकारा में बने 75 एमएलडी का जल प्रशोधन संयंत्र शामिल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2021, 6:59 PM IST
  • Share this:
तिरुवनंतपुरम. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को केरल (Kerala) में बिजली और शहरी क्षेत्र की कई प्रमुख परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया. इसके साथ ही उन्होंने तिरुवनंतपुरम में एकीकृत कमान और नियंत्रण केंद्र तथा तिरुवनंतपुरम में ही स्मार्ट सड़क परियोजना की आधारशिला भी रखी. पीएम ने परियाजनाओं की शुरुआत वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) के जरिए की थी.

पीएम मोदी ने जिन प्रोजेक्ट्स की शुरुआत की, उनमें 320 केवी पुगलुर (तमिलनाडु) - त्रिशूर (केरल) बिजली संचरण परियोजना, 50 मेगावाट कासरगोड सौर ऊर्जा परियोजना और अरुविकारा में बने 75 एमएलडी (दस लाख लीटर प्रतिदिन) का जल प्रशोधन संयंत्र शामिल है. इस अवसर पर केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान और मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के साथ-साथ केंद्रीय विद्युत राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आरके सिंह और आवास व शहरी मामलों के केंद्रीय राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी उपस्थित थे.

पुगलुर-त्रिशूर पावर ट्रांसमिशन परियोजना एवं गलुर-त्रिशूर बिजली संचरण परियोजना एक वोल्टेज सोर्स कन्वर्टर (वीएससी) आधारित हाई वोल्टेड डायरेक्ट करेंट (एचवीडीसी) परियोजना है और इसमें भारत का पहला एचवीडीसी लिंक है, जिसमें अत्याधुनिक वीएससी तकनीक का इस्तेमाल किया गया है. लगभग 5070 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित, यह परियोजना पश्चिमी क्षेत्र से 2000 मेगावाट बिजली भेजने की सुविधा प्रदान करेगा और केरल के लोगों के लिए लोड में वृद्धि को पूरा करने में मदद करेगी.



यह भी पढ़ें: विश्व भारती के दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री बोले- बंगाल, एक भारत, श्रेष्ठ भारत की प्रेरणा स्थली
कासरगोड सौर ऊर्जा परियोजना को राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन के तहत विकसित किया गया है. कासरगोड जिले के पिवलीक, मींजा और चिप्पर गांवों में 250 एकड़ से ज्यादा जमीन पर फैली इस परियोजना का निर्माण केंद्र सरकार के करीब 280 करोड़ रुपये की मदद से किया गया है. इस दौरान पीएम मोदी ने शुक्रवार को कहा कि भारत जलवायु परिवर्तन से लड़ने और किसानों को सोलर क्षेत्र से जोड़ने के लिए सोलर एनर्जी को बहुत महत्व दे रहा है.

चुनावी राज्य केरल में परियोजनाओं का उद्घाटन करने के बाद उन्होंने कहा कि बीते 6 सालों में भारत की सोलर क्षमता 13 गुना बढ़ गई है. साथ ही उन्होंने कहा कि भारत अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन के जरिए दुनिया को एक साथ लाया है. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज