कोरोना की दूसरी लहर को कैसे दें मात? कल ताबड़तोड़ बैठक करेंगे पीएम मोदी

कोरोना के हालात के मद्देनजर पीएम मोदी कल कई बैठक करेंगे. (फाइल फोटो)

कोरोना के हालात के मद्देनजर पीएम मोदी कल कई बैठक करेंगे. (फाइल फोटो)

कल सुबह 10 बजे पीएम मोदी (Narendra Modi) उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे जो कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित (Most Affected States) हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 8:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना की दूसरी लहर (Second Wave Of Covid-19) के कारण मची अफरा-तफरी के बीच कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) एक बाद एक कई बैठक करेंगे. सुबह 9 बजे एक रिव्यू बैठक की जाएगी. फिर 10 बजे पीएम मोदी उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे जो कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. इसके अलावा प्रधानमंत्री देश के बड़े ऑक्सीजन मैन्यूफैक्चरर्स के साथ भी एक बैठक करेंगे. चिंताजनक हालात के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में कल प्रस्तावित रैलियां रद्द कर दी हैं. पीएम ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि वो कोरोना संबंधी एक हाई-लेवल रिव्यू बैठक करेंगे, इस वजह से रैलियां रद्द कर दी गई हैं.

गुरुवार को पीएम मोदी ने ऑक्सीजन की आपूर्ति की समीक्षा करने और इसकी उपलब्धता को बढ़ाने के तरीकों और साधनों पर चर्चा करने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की. इस बैठक में अधिकारियों ने ऑक्सीजन आपूर्ति में सुधार के लिए पिछले कुछ हफ्तों में किए गए प्रयासों के बारे में पीएम मोदी को जानकारी दी.

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से मांगा है नेशनल प्लान

बता दें कि देश में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच ऑक्‍सीजन और दवाओं की किल्‍लत को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सख्‍त रुख अपना लिया है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मुद्दे पर स्‍वत:-संज्ञान लेते हुए केंद्र सरकार को नोटिस भेजा है. सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से पूछा है कि तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए उनके पास कौन सा नेशनल प्‍लान है. कोर्ट ने हरीश साल्वे को एमिकस क्यूरी भी नियुक्त किया है
बेरोकटोक की जाए ऑक्सीजन की सप्लाई

गुरुवार को ही गृह मंत्रालय ने एक बड़ा फैसला लेते हुए औद्योगिक ऑक्सीजन की सप्लाई लगभग बंद कर दी है. केवल कुछ मामलों में इसकी छूट दी गई है. सरकार की तरफ से साफ किया गया है कि देश में किसी भी जगह ऑक्सीजन पहुंचाने में कोई बाधा नहीं आनी चाहिए. कोरोना संबंधी प्रतिबंध ऑक्सीजन सप्लाई वाले वाहनों पर न लागू किया जाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज