Home /News /nation /

पीएम मोदी बोले- कोरोना काल में दिखी डिजिटल इंडिया की ताकत, किसानों के जीवन में भी आया बदलाव

पीएम मोदी बोले- कोरोना काल में दिखी डिजिटल इंडिया की ताकत, किसानों के जीवन में भी आया बदलाव

डिजिटल इंडिया के लाभार्थियों से बातचीत करते पीएम मोदी

डिजिटल इंडिया के लाभार्थियों से बातचीत करते पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने डिजिटल इंडिया (Digital India) की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों के साथ बातचीत की. इसके बाद पीएम ने सभी को संबोधित किया.

    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने गुरुवार को डिजिटल इंडिया (Digital India) की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों के साथ बातचीत की. एक जुलाई को सरकार की इस महत्वपूर्ण पहल के छह साल पूरे हुए. डिजिटल इंडिया पहल भारत को डिजिटल रूप से सशक्त समाज और ज्ञान अर्थव्यवस्था में बदलने के उद्देश्य से शुरू की गयी थी. कार्यक्रम केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद के उद्घाटन संबोधन से शुरू हुआ. लाभार्थियों से वार्ता करने के बाद पीएम ने सभी को संबोधित किया. इस दौरान पीएम ने कहा कि देश में आज की तरफ इनोवेशन का जूनून है, तेज़ वायरलेस इनोवेशन को अपनाना है. इसलिए, डिजिटल इंडिया भारत का संकल्प है. डिजिटल इंडिया भारत की साधना, डिजिटल इंडिया 21वीं सदी में भारत का जयघोष है.

     जन सामान्य की सुविधा बढ़ाना ये समय की मांग- PM
    मोदी ने कहा कि डिजिटल इंडिया अभियान के 6 वर्ष पूरे होने पर आप सभी को बहुत-बहुत शुभकामनाएं. आज का दिन भारत के सामर्थ्य, भारत के संकल्प और भविष्य की असीम संभावनाओं को समर्पित है. पीएम ने कहा, 'मिनिमम गवर्नमेंट, मैक्सिमम गवर्नेंस' के सिद्धातों पर चलते हुए सरकार और जनता के बीच सिस्टम और सुविधाओं के बीच समस्याओं और सर्विस के बीच का गैप कम करना, इनके बीच की मुश्किलें कम करना और जन सामान्य की सुविधा बढ़ाना ये समय की मांग रही है.

    पीएम ने कहा कि ड्राइविंग लाइसेंस हो, बर्थ सर्टिफिकेट हो, बिजली का बिल भरना हो, पानी का बिल भरना हो, इनकम टैक्स रिटर्न भरना हो, इस तरह के अनेक कामों के लिए अब प्रक्रियाएं डिजिटल इंडिया की मदद से बहुत आसान, बहुत तेज हुई है. और गांवों में तो ये सब, अब अपने घर के पास CSC सेंटर में भी हो रहा है.



    सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अभिनंदन- पीएम
    प्रधानमंत्री ने कहा कि इस कोरोना काल में जो डिजिटल सोल्यूशंस भारत ने तैयार किए हैं, वो आज पूरी दुनिया में चर्चा और आकर्षण का विषय हैं. दुनिया के सबसे बड़े डिजिटल कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग ऐप में से एक, आरोग्य सेतु से कोरोना संक्रमण को रोकने में  बहुत मदद मिली है. टीकाकरण के लिए भारत के COWIN app में भी अनेकों देशों ने दिलचस्पी दिखाई है. वैक्सीनेशन की प्रक्रिया के लिए ऐसा मॉनिटरिंग टूल होना हमारी तकनीकी कुशलता का प्रमाण है.

    यह भी पढ़ें: इस साल से डिजिटल फॉरेंसिक और डेटा साइंस के साथ 25 से ज्यादा कोर्स पढ़ाएगा AMU

    वन नेशन वन राशन कार्ड का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि इससे प्रवासी कामगारों को सबसे ज्यादा फायदा हो रहा है, क्योंकि उन्हें अब नए राशन कार्ड नहीं बनाने पड़ेंगे. उन्होंने कहा कि मैं सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अभिनंदन करता हूं.

    डिजिटल इंडिया यानि मिनिमम गवर्नमेंट, मैक्सिम गवर्नेंस- पीएम
    मोदी ने कहा कि 'डिजिटल इंडिया यानि सबको अवसर, सबको सुविधा, सबकी भागीदारी. डिजिटल इंडिया यानि सरकारी तंत्र तक सबकी पहुंच. डिजिटल इंडिया यानि पारदर्शी, भेदभाव रहित व्यवस्था और भ्रष्टाचार पर चोट. डिजिटल इंडिया यानि समय, श्रम और धन की बचत. डिजिटल इंडिया यानि तेज़ी से लाभ, पूरा लाभ. डिजिटल इंडिया यानि मिनिमम गवर्नमेंट, मैक्सिम गवर्नेंस.'

    पीएम ने कहा कि कोरोना काल में डिजिटल इंडिया अभियान देश के कितना काम आया है, ये भी हम सभी ने देखा है. जिस समय बड़े-बड़े समृद्ध देश, लॉकडाउन के कारण अपने नागरिकों को सहायता राशि नहीं भेज पा रहे थे, भारत हजारों करोड़ रुपये, सीधे लोगों के बैंक खातों में भेज रहा था.

    पीएम ने कहा कि किसानों के जीवन में भी डिजिटल लेनदेन से अभूतपूर्व परिवर्तन आया है. पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 10 करोड़ से ज्यादा किसान परिवारों को 1 लाख 35 करोड़ रुपये सीधे बैंक अकाउंट में जमा किए गए हैं. डिजिटल इंडिया ने वन नेशन, वन MSP की भावना को भी साकार किया है.

    यह भी पढ़ें: डिजिटल इंडिया: चीन- नेपाल से सटे इन गांवों में शुरू होगी फोन और इंटरनेट सेवा, जानिए डिटेल

    विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से पीएम ने की बात
    डिजिटल इंडिया के 6 साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दीक्षा योजना की लाभार्थी उत्तर प्रदेश की सुहानी साहू से बातचीत की. इसके साथ ही उन्होंने ई संजीवनी के जरिए पूर्वी चंपारण में इलाज करा रहीं शुभम और उनकी दादी से वार्ता की. पीएम ने शुभम की दादी का लखनऊ में रहकर इलाज कर रहे डॉक्टर भूपेंद्र सिंह से भी बात की.

    इसके साथ ही पीएम ने वाराणसी की अनुपमा दूबे, यास्मीन बानो और दीक्षा सिंह से बात की. यह तीनों युवतियां डिजी बुनाई के माध्यम से हस्तशिल्प के क्षेत्र में काम कर रही हैं. पीएम ने वन नेशन वन राशन कार्ड के लाभार्थी हरिराम से भी बात की. हरि राम, यूपी स्थित हरदोई के निवासी हैं और देहरादून में टैक्सी चलाते हैं. उन्होंने पीएम मोदी को वन नेशन वन राशन कार्ड के लाभ बताए.



    प्रधानमंत्री मोदी ने मध्य प्रदेश स्थित उज्जैन की नाजमीन शाह से बात की. नाजमनी पीएम स्वनिधि योजना की लाभार्थी हैं. नाजमीन से पीएम ने कहा कि जनधन, मोबाइल और आधार की त्रिशक्ति के माध्यम से आप जैसे सभी मेहनतकश लोगों को और सशक्त बना रही है. भारत सिर्फ टेक्नॉलाजी बनाता ही नहीं बल्कि हमारे गांव का व्यक्ति उसे सीख कर कारोबार को आगे बढ़ाता है.

    Tags: Digital India, Narendra modi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर