‘चैंपियंस ऑफ अर्थ’ अवॉर्ड मिलने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक्सक्लूसिव इंटरव्यू

इंटरव्यू में पीएम मोदी ने कहा कि प्रकृति के संरक्षण के लिए अब हमें बदलना होगा. पर्यावरण संरक्षण के लिए उन्होंने सोलर ऊर्जा के इस्तेमाल पर बल दिया.

News18Hindi
Updated: October 6, 2018, 2:26 PM IST
News18Hindi
Updated: October 6, 2018, 2:26 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बुधवार को ‘चैंपियंस ऑफ अर्थ’ अवॉर्ड से सम्मानित किया गया. संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने नई दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी को इस अवॉर्ड से सम्मानित किया. शनिवार को यूएन द्वारा प्रधानमंत्री का एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू जारी किया गया. इस इंटरव्यू में पीएम मोदी ने पर्यावरण संबंधी विषयों पर अपनी राय प्रकट की है.

इंटरव्यू में पीएम मोदी ने कहा कि प्रकृति के संरक्षण के लिए अब हमें बदलना होगा. पर्यावरण संरक्षण के लिए उन्होंने सोलर ऊर्जा के इस्तेमाल पर बल दिया. उन्होंने कहा कि सोलर ऊर्जा का इस्तेमाल पर्यावरण के हित में है. इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने ग्लोबल वॉर्मिंग की चुनौतियों की तरफ ध्यान दिलाते हुए कहा कि ग्लोबल वॉर्मिंग कि जिम्मेदारियों को समझना होगा.

‘स्वच्छ भारत अभियान’ मोदी सरकार की एक महत्वकांक्षी योजना है. इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी बताया कि यह किस तरह से पर्यवारण के लिए हितकारी है. उन्होंने बताया कि 2 अक्टूबर 2019 तक ‘स्वच्छ भारत अभियान’ पूरा हो जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पर्यावरण को बचाना सबकी जिम्मेदारी है.

इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी ने प्लास्टिक को प्रकृति का सबसे बड़ा दुश्मन बताया. पीएम मोदी ने स्वच्छता को आर्थिक तरक्की से भी जोड़ा. उन्होंने कहा कि स्वच्छता का आर्थिक और सामाजिक पक्ष होता है. पीएम मोदी ने ऊर्जा के लिए वैकल्पिक श्रोतों पर भी बात की. उन्होंने कहा कि वैकल्पिक ऊर्जा पर निर्भरता बढ़ी है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण की सीख उन्हें अपने परिवार से मिली है. उन्होंने कहा कि हम पर्यावरण को परमात्मा से जुड़ा मानते हैं.

ये भी पढ़ें: Champion of the Earth: PM मोदी ने बताया भारतीय मूल्य पद्धति का सम्मान
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर