NRC पर बोले PM मोदीः किसी भी भारतीय को नहीं छोड़ना पड़ेगा देश

समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्‍यू में पीएम ने कहा कि जिन लोगों का देश की नब्‍ज से संबंध टूट गया है वे ही इसका विरोध कर रहे हैं.

News18Hindi
Updated: August 12, 2018, 12:07 AM IST
NRC पर बोले PM मोदीः किसी भी भारतीय को नहीं छोड़ना पड़ेगा देश
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.
News18Hindi
Updated: August 12, 2018, 12:07 AM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनआरसी, रोजगार, आरक्षण और विपक्ष की एकता के मुद्दों पर जोरदार पलटवार किया है. समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्‍यू में पीएम ने एनआरसी पर कहा कि जिन लोगों का देश की नब्‍ज से संबंध टूट गया है वे ही इसका विरोध कर रहे हैं. मॉब लिंचिंग पर उन्‍होंने कहा कि ऐसी एक भी घटना होना दुर्भाग्‍यजनक है. लोगों को राजनीति छोड़कर शांति व एकता के लिए काम करना चाहिए.

एनआरसी पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के बयान पर पीएम मोदी ने कहा, 'जिन लोगों का खुद पर से भरोसा उठ गया है, जिन्हें जनता का समर्थन नहीं मिलने का डर है और जिन्हें हमारी संस्थाओं पर विश्वास नहीं है वे सिविल वॉर, ब्लड बाथ, देश के टुकड़े टुकड़े जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं." पीएम ने विश्वास दिलाया कि भारत के एक भी नागरिक को देश नहीं छोड़ना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि प्रक्रिया के तहत लोगों को अपनी नागरिकता साबित करने का पूरा मौका दिया जाएगा.

सरकार के रोजगार के मुद्दे पर नाकाम रहने के आरोपों पर पीएम ने कहा कि पिछले साल एक करोड़ से ज्‍यादा नौकरियां पैदा हुईं. ऐसे में नौकरियां नहीं होने का अभियान रूकना चाहिए.

मॉब लिंचिंग और महिलाओं के खिलाफ हिंसा पर बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इस तरह की एक भी घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. हर किसी को राजनीति से ऊपर उठकर समाज में शांति और एकता बनाए रखने की कोशिश करनी चाहिए. पीएम ने कहा, "मैंने और मेरी पार्टी ने कई मौकों पर ऐसी घटनाओं और विचारधारा की साफ शब्दों में निंदा की है. यह सब रिकॉर्ड में है."

साथी दलों के बीजेपी से मोह भंग होने के सवाल पर पीएम ने कहा कि हाल ही में हुई दो घटनाएं- लोकसभा में अविश्‍वास प्रस्‍ताव और राज्‍य सभा में उपसभापति का चुनाव इसका जवाब देंगे. इन घटनाओं के नतीजें दिखाते हैं कि कौनसा गठबंधन एकजुट है और कौनसा टूट रहा है. हकीकत तो यह है कि हमें ऐसे दल भी समर्थन दे रहे हैं जो हमारे साथी नहीं हैं. बीजेपी ने हाल के सालों में लगातार अपना दायरा लोगों में और ज्‍यादा दलों को एनडीए से जोड़ने में बढ़ाया है.

आरक्षण के सवाल पर मोदी ने कहा कि आरक्षण यहीं रहेगा. इस बारे में किसी को कोई शंका नहीं होनी चाहिए.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर