• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • PM Modi's Mann Ki Baat: मन की बात में पीएम मोदी ने की अपील- लोकल खिलौनों के लिए वोकल हो जाइए

PM Modi's Mann Ki Baat: मन की बात में पीएम मोदी ने की अपील- लोकल खिलौनों के लिए वोकल हो जाइए

मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने देश को आत्मनिर्भर बनने का संदेश दिया और कई स्वदेशी ऐप्स का भी जिक्र किया.

मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने देश को आत्मनिर्भर बनने का संदेश दिया और कई स्वदेशी ऐप्स का भी जिक्र किया.

प्रधानमंत्री मोदी (Narendra Modi) ने कहा, 'आत्मनिर्भर भारत (Atmanirbhar Bharat) के लिए हम सभी को ​मिलकर खिलौना (Toys) बनाना चाहिए. उन्होंने देश के युवाओं से कहा कि वह खिलौंनों के बाजार में स्टार्टअप शुरू करना चाहिए.'

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज एक बार फिर मन की बात (Mann Ki Baat) कार्यक्रम के जरिये चीन पर चोट पहुंचाने की कोशिश की. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'आत्मनिर्भर भारत (Atmanirbhar Bharat) के लिए हम सभी को ​मिलकर खिलौना बनाना चाहिए.' उन्होंने देश के युवाओं से कहा कि उन्हें खिलौनों के बाजार में स्टार्टअप शुरू करना चाहिए. बता दें कि भारत में चीन से बने खिलौनों का काफी बड़ा बाजार है.

    प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ​खिलौना उद्योग में भारत की भागीदारी बढ़ाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि अगर देश को आत्मनिर्भर बनाना है तो पूरे आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ने की जरूरत है.उन्होंने कहा कि भारत को आत्मनिर्भर बनाना है तो लोकल खिलौनों के लिए वोकल बनाने की जरूरत होगी. पीएम मोदी ने कहा कि भारत में भी और भारत के भी कंप्यूटर गेम बनने चाहिए.



    प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि आत्मनिर्भर ऐप इनोवेशन चैलेंज में युवाओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था. मुझे विश्वास है कि खिलौने के बाजार में स्टार्टअप शुरू करने के लिए भी युवा तेजी से आगे आएंगे. पीएम मोदी ने कहा, 'हमने इस बात पर मंथन किया कि भारत के बच्चों को नए-नए खिलौने कैसे मिलें. भारत खिलौनों के बाजार का बहुत बड़ा केंद्र है. ऐसे में यहां पर खिलौने के नए नए उद्योग और कारखाने शुरू करने की जरूरत है'. पीएम मोदी ने कहा खिलौने हमारी आकांक्षाओं को भी उड़ान देते हैं.

    इसे भी पढ़ें :- PM मोदी ने रानी लक्ष्मी बाई केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय की नई बिल्डिंग का किया लोकार्पण

    हमारे देश में लोकल खिलौनों की बहुत समृद्ध परंपरा है: पीएम
    बच्चों के जीवन के अलग-अलग पहलू पर खिलौनों का जो प्रभाव है, इस पर राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भी बहुत ध्यान दिया गया है. हमारे देश में लोकल खिलौनों की बहुत समृद्ध परंपरा रही है. कई प्रतिभाशाली और कुशल कारीगर हैं, जो अच्छे खिलौने बनाने में महारत रखते हैं. भारत के कुछ क्षेत्र खिलौनों के केन्द्र के रूप में भी विकसित हो रहे हैं. ऐसे में भारत को आत्मनिर्भर बनाने में खिलौनों के उद्योग की बड़ी भूमिका हो सकती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज