कोरोना के हालात पर पीएम मोदी ने जिलाधिकारियों के साथ बैठक की; टेस्टिंग, कंटेनमेंट और वैक्सिनेशन का मंत्र दिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिलाधिकारियों के साथ बैठक की. (Twitter/@narendramodi)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिलाधिकारियों के साथ बैठक की. (Twitter/@narendramodi)

PM Narendra Modi's Meeting: पीएम मोदी ने जिलाधिकारियों के साथ बैठक में कहा, 'आप अपने जिले की चुनौतियों को बहुत बेहतर तरीके से समझते हैं. इसलिए जब आपका जिला जीतता है, तो देश जीतता है. जब आपका जिला कोरोना को हराता है, तो देश कोरोना को हराता है.'

  • Share this:

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस की स्थिति पर देश के 46 जिलों के जिलाधिकारियों के साथ बैठक की. मंगलवार को यह बैठक दोपहर करीब 12 बजे शुरू हुई, जिसमें कर्नाटक, बिहार, असम, चंडीगढ़, तमिलनाडु, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, गोवा, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के जिलाधिकारी शामिल हुए. बैठक में पीएम मोदी ने जिलाधिकारियों को टेस्टिंग, ट्रैकिंग, कंटेनमेंट और वैक्सिनेशन का मंत्र दिया है. साथ ही उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों को कोरोना से जंग में फील्ड कमांडर बताया है.

पीएम मोदी ने जिलाधिकारियों के साथ बैठक में कहा, 'हमारे देश में जितने जिले हैं, उतनी ही अलग-अलग चुनौतियां हैं. एक तरह से हर जिले की अपनी अलग चुनौतियां हैं. आप अपने जिले की चुनौतियों को बहुत बेहतर तरीके से समझते हैं. इसलिए जब आपका जिला जीतता है, तो देश जीतता है. जब आपका जिला कोरोना को हराता है, तो देश कोरोना को हराता है.'

Youtube Video

PM मोदी ने डॉक्टरों से कहा- फंगल इंफेक्शन को लेकर जागरूकता फैलाने की अधिक प्रयासों की जरूरत
ग्रामीण इलाकों पर देना होगा ध्यान

देश के ग्रामीण क्षेत्रों में हो रहे कोरोना वायरस की दस्तक को लेकर एक्सपर्ट्स चिंतित हैं. इस पर पीएम ने कहा, 'कोरोना की इस दूसरी वेव में, अभी ग्रामीण और दुर्गम क्षेत्रों में हमें बहुत ध्यान देना है.' जरूरी सेवाओं को लेकर पीएम ने कहा, 'कोविड के अलावा आपको अपने जिले के हर एक नागरिक की ‘ईज ऑफ लिविंग’ का भी ध्यान रखना है.'

उन्होंने इस दौरान वायरस के खिलाफ लड़ने के हथियारों और टेस्टिंग, ट्रैकिंग के फॉर्मूले का जिक्र किया. पीएम ने कहा, 'इस वायरस के खिलाफ हमारे हथियार क्या हैं? हमारे हथियार हैं- लोकल कंटेनमेंट जोन, आक्रामक जांच और लोगों तक सही और पूरी जानकारी.' साथ ही उन्होंने बताया, 'टेस्टिंग ट्रैकिंग, ट्रीटमेट और कोविड व्यवहार पर लगातार बल देते रहना जरूरी है.' उन्होंने कहा, 'कोरोना के खिलाफ इस युद्ध में आप सब लोग एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका में है. आप एक तरह से इस युद्ध के फील्ड कमांडर हैं.'





डॉक्टर्स के साथ कर चुके हैं बैठक

प्रधानमंत्री मोदी ने देश भर के डॉक्टरों के एक समूह के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोविड से संबंधित स्थिति पर चर्चा की. इस बात की जानकारी पीएम ने ट्वीट के जरिए दी है. पीआईबी के अनुसार, इस बैठक में पीएम मोदी ने कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान मेडिकल स्टाफ के कार्यों की सराहना की. उन्होंने कहा है कि देश चिकित्सा बिरादरी का ऋणी है.

पीएम मोदी ने इस चर्चा के दौरान चिकित्सकों के टीकाकरण की बात पर भी जोर दिया. उन्होंने कहा कि देश के 90 फीसदी स्वास्थ्य कर्मियों को टीकारण का पहला डोज मिल चुका है. उन्होंने कहा कि वैक्सीन ने ज्यादातर चिकित्सकों की सुरक्षा सुनिश्चित की है. इस दौरान उन्होंने ब्लैक फंगस यानि म्यूकरमाइकोसिस को लेकर भी बात की. उन्होंने कहा है कि चिकित्सकों को इसके बारे में जागरूकता फैलाने के लिए और भी ज्यादा प्रयास करने की जरूरत है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज