Home /News /nation /

OPINION: गणतंत्र दिवस समारोह में देश की सभ्यता-संस्कृति के साथ दिखा पीएम मोदी का विजन

OPINION: गणतंत्र दिवस समारोह में देश की सभ्यता-संस्कृति के साथ दिखा पीएम मोदी का विजन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फाइल फोटो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फाइल फोटो

73rd Republic Day: राज्यों की बात करें तो मेघालय की झांकी में 50 वर्षों का राज्यत्व और महिला संचालित सहकारी संघ एवं स्वयं सहायता समूह को दर्शाया गया है. गुजरात की झांसी में 100 साल पहले प्रदेश के आदिवासियों की क्रांति की कहानी को बयां किया गया है. गोवा की झांकी में प्रदेश की सांस्कृतिक धरोहर और सौंदर्य को दर्शाया गया है. हरियाणा के झांकी में खेलों में प्रदेश के प्रथम स्थान को दिखाया गया है. झांखी में नजर आ रहा है कि किस तरह से 2020 के टोक्यो ओलंपिक में भारत को मिले 7 पदक में से एक स्वर्ण पदक समेत चार पदकों का श्रेय हरियाणा के पास है. हरियाणा की झांकी पीएम नरेंद्र मोदी के फिट इंडिया के साथ साथ खेलो इंडिया के विजन को ही एक रूप में प्रदर्शित कर रही थी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. गणतंत्र दिवस समारोह में देश की सभ्यता संस्कृति के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का विजन दिखा. इसके साथ ही साथ अगर हम विभिन्न झांकियों की बात करें तो उसमें भी पीएम नरेंद्र मोदी के सबका साथ सबका विकास और आत्मनिर्भर भारत का विजन देखने को मिला. गणतंत्र दिवस परेड में नौसेना की झांकी में भारतीय नौसेना की क्षमता के विभिन्न आयामों को दिखाया गया है. इसके साथ ही साथ नौसेना में आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम को भी दर्शाया गया है.

झांकी के अगले भाग में 1946 में नौसेना की अभियान को दिखाया गया है. वहीं, इसके पिछले हिस्से में 1983 से 2021 तक नौसेना को आत्मनिर्भर बनाने वाले पहलुओं को प्रस्तुत किया गया है. भारतीय वायु सेना की झांकी में वायु सेना के भविष्य की ओर रूपांतरण को दर्शाया गया है. इस झांकी में रफेल के साथ-साथ 1971 में प्रयोग किए गए मिग-21 को भी दिखाया गया है. वहीं, डीआरडीओ के झांकी में स्वदेशी चौथी पीढ़ी के हल्के लड़ाकू विमान तेजस को प्रमुखता से प्रदर्शित किया गया.

राज्यों की बात करें तो मेघालय की झांकी में 50 वर्षों का राज्यत्व और महिला संचालित सहकारी संघ एवं स्वयं सहायता समूह को दर्शाया गया है. गुजरात की झांसी में 100 साल पहले प्रदेश के आदिवासियों की क्रांति की कहानी को बयां किया गया है. गोवा की झांकी में प्रदेश की सांस्कृतिक धरोहर और सौंदर्य को दर्शाया गया है. हरियाणा के झांकी में खेलों में प्रदेश के प्रथम स्थान को दिखाया गया है. झांखी में नजर आ रहा है कि किस तरह से 2020 के टोक्यो ओलंपिक में भारत को मिले 7 पदक में से एक स्वर्ण पदक समेत चार पदकों का श्रेय हरियाणा के पास है. हरियाणा की झांकी पीएम नरेंद्र मोदी के फिट इंडिया के साथ साथ खेलो इंडिया के विजन को ही एक रूप में प्रदर्शित कर रही थी.

उत्तराखंड की झांकी में प्रगति पथ पर उत्तराखंड को थीम में रखा गया है और दर्शाया गया है कि किस तरह से प्रदेश में सड़क संपर्क बढ़ रहा है और धार्मिक स्थलों को इसके माध्यम से जोड़ा जा रहा है. उत्तर प्रदेश के झांसी में काशी विश्वनाथ परिसर के विकास और ओडीओपी के साथ साथ आजादी के 75 साल के विकास के संकल्प को भी दर्शाया गया. संस्कृति मंत्रालय की झांकी में अरविंदो की 150 वी जयंती को दर्शाया गया है इसमें उनके जीवन के विभिन्न आयामों को प्रदर्शित किया गया है.

शिक्षा मंत्रालय की झांकी में नई शिक्षा नीति, भारतीय विचार और दर्शन वैदिक शिक्षा के नालंदा विश्वविद्यालय जैसे वैश्विक गुरुकुल परंपरा आदि के साथ नई तकनीक रोबोटिक को दर्शाया गया है. डाक विभाग की झांकी में आजादी के 75 साल पूरे होने पर और महिला सशक्तिकरण बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे अभियानों को प्रदर्शित किया गया है. वस्त्र मंत्रालय की झांकी में भविष्य के लिए अंतरिक्ष वाहन शटल को दर्शाया गया है इसके साथ ही साथ कोविड-19 में मंत्रालय द्वारा पीपीई किट के रिकॉर्ड उत्पादन सहित मंत्रालय के विभिन्न काम काज को प्रस्तुत किया गया है.

विमानन मंत्रालय की झांकी में देश का आम नागरिक के थीम पर झांकी को बनाया गया है, जिसमें उड़ान योजना के तहत देश के विभिन्न हिस्सों को हवाई मार्ग से जोड़ने की पीएम नरेंद्र मोदी की पहल को दर्शाया गया है. रिजर्व पुलिस बल की झांकी में शौर्य और बलिदान की गाथा को दर्शाया गया है. जल शक्ति मंत्रालय पेयजल एवं स्वच्छता विभाग की झांकी में पीएम नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना हर घर नल को दिखाया गया है. इसमें यह दिखाया गया है कि किस तरह से 2024 तक देश के विभिन्न सुदूर इलाकों तक सभी को पीने का पानी उपलब्ध करवा दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें: UP Election: चुनाव से पहले सपा MP आजम खान को लगा बड़ा झटका, खारिज हुई जमानत अर्जी

जम्मू कश्मीर की झांकी में प्रदेश में विकास की बयार दिखाई गई है. सीपीडब्ल्यूडी की झांकी में सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती पर विशेष प्रस्तुति के तौर पर उनके संदेशों और उनकी सेना को दर्शाया गया है. विधि और न्याय मंत्रालय की झांकी में एक मुट्ठी आसमान को नजर आया तथा न्याय प्रक्रिया को लोक अदालतों के माध्यम से आम आदमी तक किस तरह से पहुंचाया जा रहा है या दिखाया गया. दर्शाया गया है कि 2021 में किस तरह से 125000 से अधिक मामलों का निपटारा लोक अदालतों के माध्यम से किया गया.

इसके साथ ही अरुणाचल की झांकी में एंग्लो अबोर के युद्ध को प्रदर्शित किया गया और साथ ही साथ वहां के आदिवासियों द्वारा अंग्रेज के खिलाफ कैसे वीरता से आदिवासियों ने अपना प्रतिरोध किया इसे दर्शाया गया है. यह भी दिखाया गया है कि यह सुदूर पूर्वोत्तर का राज्य देश का सीमा प्रहरी के रूप में काम कर रहा है. कर्नाटक की झांकी में परंपरागत हस्तशिल्प के पालन को दिखाया गया. समग्र तौर पर देखा जाए तो गणतंत्र दिवस के मुख्य कार्यक्रम में भारत की संस्कृति सभ्यता के साथ-साथ विकास को लेकर के पीएम नरेंद्र मोदी की प्रतिबद्धता को प्रस्तुत किया गया है.

Tags: Pm narendra modi, Republic day

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर