भारत-डेनमार्क वर्चुअल द्विपक्षीय सम्मेलन में PM मोदी ने कहा- हमारे जैसे देशों का साथ काम करना जरूरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में हुए डेनमार्क की प्रधानमंत्री के विवाह के लिए उन्हें शुभकामनाएं भी दीं.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में हुए डेनमार्क की प्रधानमंत्री के विवाह के लिए उन्हें शुभकामनाएं भी दीं.

India-Denmark Summit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने वर्चुअल द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन (India-Denmark Summit) में कहा कि वैक्सीन डेवलपमेंट में भी समान विचार वाले देशों के एकजुट होकर काम करने से इस वैश्विक महामारी से निपटने में मदद मिलेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 28, 2020, 6:45 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिकसेन (Denmark's PM Mette Frederiksen) ने एक वर्चुअल द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन (India-Denmark Summit)  में हिस्सा लिया. भारत-डेनमार्क द्विपक्षीय सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले कई महीनों की घटनाओं ने यह स्पष्ट कर दिया है कि हमारे जैसे समान विचार वाले देशों के लिए जो एक नियम-आधारित, पारदर्शी, मानवीय और लोकतांत्रिक मूल्य-प्रणाली साझा करते हैं, साथ काम करना कितना महत्वपूर्ण है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सम्मेलन की शुरुआत में कोविड-19 (Covid-19) के चलते डेनमार्क में हुई क्षति के लिए संवेदनाएं व्यक्त कीं. पीएम मोदी ने इस संकट से निपटने के लिए डेनमार्क की प्रधानमंत्री के कुशल नेतृत्व का अभिनंदन भी किया. प्रधानमंत्री मोदी ने डेनमार्क की प्रधानमंत्री से कहा कि इस वार्तालाप के लिए उन्होंने समय निकाला, ये हमारे आपसी रिश्तों के प्रति उनके फोकस और प्रतिबद्धता को दिखाता है.

ये भी पढ़ें- 4000 आतंकियों को छुड़ा रहा है पाकिस्‍तान, बदल रहा PoK की जनसांख्यिकी



पीएम मोदी ने दिया भारत आने का न्योता
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में हुए डेनमार्क की प्रधानमंत्री के विवाह के लिए उन्हें शुभकामनाएं भी दीं. प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं आशा करता हूं कि जल्द ही कोविड-19 की स्थिति से उबरने के बाद हमें भारत में सपरिवार आपका स्वागत करने का अवसर मिलेगा. पीएम मोदी ने कहा कि मुझे विश्वास है कि आपकी बेटी इदा दोबारा भारत आने के लिए अवश्य आतुर होगी.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कुछ दिन पहले फोन पर हमारी काफी प्रोडक्टिव बातचीत हुई थी, हमने कई क्षेत्रों में भारत और डेनमार्क के बीच सहयोग बढ़ाने के बारे में चर्चा की थी. पीएम मोदी ने कहा कि ये खुशी की बात है कि आज हम वर्चुअल समिट के जरिए इन इरादों को नई दिशा और गति दे रहे हैं.

वैक्सीन के विकास के लिए साथ काम करना जरूरी
पीएम मोदी ने कहा, "2009 में जब मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था तबसे डेनमार्क वाइब्रेंट गुजरात में हिस्सा ले रहा है इसलिए डेनमार्क के प्रति मेरा विशेष लगाव है." प्रधानमंत्री ने कहा कि स्थिति सुधरने के बाद डेनमार्क आना और आपसे मिलना मेरे लिए सौभाग्य की बात होगी.

ये भी पढ़ें- किसान बिल के खिलाफ SC जाएगी पंजाब सरकार, CM बोले- PAK उठा सकता है फायदा

पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीन डेवलपमेंट में भी समान विचार वाले देशों के एकजुट होकर काम करने से इस वैश्विक महामारी से निपटने में मदद मिलेगी.

वही डेनमार्क की प्रधानमंत्री ने इस मौके पर कहा कि डेनमार्क के लिए आज का शिखर सम्मेलन हमारे द्विपक्षीय संबंधों पर एक मील का पत्थर है,और हरित रणनीतिक साझेदारी पर हमारा दूरदर्शी समझौता है. हमें गर्व है कि भारत जलवायु परिवर्तन की बात करते हुए डेनमार्क को देखता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज