लाइव टीवी

PM मोदी बोले-बजट पर लोगों को गुमराह करने की कोशिश, आलोचक भी ऐसे हालात में अच्छा मान रहे

भाषा
Updated: February 4, 2020, 10:44 PM IST
PM मोदी बोले-बजट पर लोगों को गुमराह करने की कोशिश, आलोचक भी ऐसे हालात में अच्छा मान रहे
संसद भवन परिसर स्थित संसद ग्रंथालय में बीजेपी संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी सहित दूसरे नेता भी मौजूद थे. File photo

पीएम मोदी (PM Modi) ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) द्वारा शनिवार को पेश किए गए बजट (Union Budget) का जिक्र करते हुए कहा कि लोगों ने महसूस किया है कि यह अच्छा बजट है. आलोचक भी यह स्वीकार कर रहे हैं कि मौजूदा वैश्विक आर्थिक परिदृश्य में यह सर्वश्रेष्ठ बजट है.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मंगलवार को कहा कि बजट (Union Budget 2020) को लेकर लोगों को गुमराह करने की कोशिश की गई. हालांकि अब आलोचक भी यह मान रहे हैं कि मौजूदा वैश्विक परिस्थितियों में यह श्रेष्ठतम बजट (Budget) है. मोदी ने भाजपा संसदीय दल की बैठक में पार्टी सांसदों को संबोधित करते हुए बोडो समझौते और ब्रू रियांग जनजातीय समुदाय के लोगों को त्रिपुरा (Tripura) में बसने देने के लिये हुए समझौते की भी सराहना की. सूत्रों के अनुसार मोदी ने इन्हें अपनी सरकार की इस दशक के लिए ऐतिहासिक कामयाबी बताया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह समझौता दशकों से हिंसा से जूझ रहे पूर्वोत्तर राज्यों में शांति के नए युग की शुरुआत करेगा. मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने नक्सली हिंसा पर भी प्रभावी नियंत्रण कर वाम चरमपंथी हिंसा प्रभावित इलाकों में विकास को बढ़ावा दिया है. उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में हड़ताल के नाम पर कई कई दिनों के लिये आम जनजीवन को बार बार ठप किया जाता था, लेकिन अब स्थिति बदली है, जिसके चलते हालात भी बेहतर हुए हैं.

सूत्रों ने बताया कि मोदी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शनिवार को पेश किए गए बजट का जिक्र करते हुए कहा कि बजट के बारे में लोगों को गुमराह करने की कोशिश की गई. हालांकि लोगों ने अब यह महसूस किया है कि यह बहुत अच्छा बजट है. इतना ही नहीं आलोचक भी यह स्वीकार कर रहे हैं कि मौजूदा वैश्विक आर्थिक परिदृश्य में यह सर्वश्रेष्ठ बजट है. विदेश मंत्री एस जयशंकर और स्वस्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बैठक में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये किए जा रहे उपायों के बारे में एक प्रस्तुति दी. इसमें उन्होंने बताया कि किस प्रकार सभी संबद्ध मंत्रालयों के साथ सामंजस्य कायम कर स्थिति को नियंत्रण में करने के प्रयास किये जा रहे हैं.

बता दें कि संसद भवन परिसर स्थित संसद ग्रंथालय में भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी सहित अन्य मंत्री और पार्टी सांसद उपस्थित थे. बैठक में हालांकि पार्टी सांसद अनंत हेगड़े मौजूद नहीं थे, जिन्होंने कुछ दिनों पहले महात्मा गांधी पर विवादित टिप्पणी की थी.

यह भी पढ़ें...
आपने भी ली है LIC पॉलिसी तो जानिए सरकार के इस फैसले से क्या होगा असर

AAP का मैनिफेस्टो: 10 लाख बुजुर्गों को तीर्थयात्रा, स्कूल में देशभक्ति का पाठ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 9:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर