पीएम मोदी के साथ दिवाली मनाकर सेना के जवान बोले- हमारा जश्न यादगार बन गया

पीएम मोदी के राजौरी पहुंचने पर जवानों में खासा उत्साह देखा गया और वे 'भारत माता की जय' के नारे लगा रहे थे.

पीएम मोदी के राजौरी पहुंचने पर जवानों में खासा उत्साह देखा गया और वे 'भारत माता की जय' के नारे लगा रहे थे.

पीएम मोदी (PM Modi) के साथ दिवाली (Diwali) मनाने के बाद जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा की रक्षा कर रहे सेना के जवानों ने कहा कि वे बहुत खुश और गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 27, 2019, 7:49 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. दीपावाली (Dipawali 2019) पर दुर्गम इलाकों में तैनात जवानों के साथ संवाद की अपनी परंपरा को कायम रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) रविवार को अग्रिम इलाके का दौरा किया. पीएम मोदी यहां LoC के पास स्थित राजौरी जाकर सैनिकों के बीच दीपावली मनाई.

अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री नियंत्रण रेखा पर तैनात सैनिकों के साथ बातचीत करने के लिए सीधे आर्मी ब्रिगेड हेडक्वार्टर्स पहुंचे. अनुच्छेद 370 समाप्त होने के बाद यह कश्मीर में उनकी पहली दिवाली है. उन्होंने बीजी ब्रिगेड मुख्यालय पर जवानों के साथ संवाद किया.

पीएम मोदी के साथ दिवाली मनाने के बाद जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा की रक्षा कर रहे सेना के जवानों ने कहा कि वे बहुत खुश और गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.प्रधानमंत्री से मुलाकात और बातचीत के बाद खुश नजर आ रहे ज्यादातर जवानों ने इस बारे में बातचीत से इनकार किया, हालांकि कुछ सैनिकों ने वहां से जाते-जाते संवाददाताओं से बातचीत की.

एक जवान ने कहा, 'हमने कभी नहीं सोचा था कि हम प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे. उन्होंने हमारे लिए दिवाली के जश्न को यादगार बना दिया.' उन्होंने कहा कि मोदी का दौरा हैरान करने वाला था और 'हम उनसे मुलाकात के बाद खुश और गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.'
जवानों के साथ दिवाली मनाने के लिए प्रधानमंत्री की तारीफ करते हुए एक जवान ने कहा कि मोदी का यह कदम उन सैनिकों का हौसला बढ़ाने वाला था जो देश को सुरक्षित रखने के लिए सीमा की सुरक्षा में 24 घंटे डंटे रहते हैं.



उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री बहुत अच्छे हैं और सीमा की सुरक्षा में हमारी भूमिका की सराहना की. उन्होंने विश्वास दिलाया कि उनकी सरकार हमारे साथ खड़ी है और राष्ट्र की सेवा में हमारे योगदान की स्वीकार्यता के लिए हर संभव प्रयास होगा.'

प्रधानमंत्री मोदी ने इससे पहले वर्ष 2018 में उत्तराखंड में भारत-चीन सीमा के पास बर्फीली घाटी में सेना और आईटीबीपी कर्मियों के साथ त्योहार मनाया था. वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने जवानों के साथ सियाचिन में दिवाली मनायी थी. वर्ष 2015 में उन्होंने दिवाली के अवसर पर पंजाब सीमा का दौरा किया था। संयोग से उनका दौरा 1965 के भारत-पाक युद्ध के 50 साल होने पर हुआ था.

इसके अगले साल मोदी हिमाचल प्रदेश गए थे, जहां उन्होंने अग्रिम चौकी पर भारत-तिब्बत सीमा पुलिस कर्मियों के साथ समय गुजारे थे. प्रधानमंत्री मोदी ने 2017 में जम्मू कश्मीर के गुरेज में सैनिकों के साथ दिवाली मनायी थी.

ये भी पढ़ें- दीपोत्सव: सरयू तट पर बोले CM योगी, अयोध्या के नाम से डरती थीं पिछली सरकारें

खट्टर सरकार में BJP के अनिल विज के साथ जेजेपी के ये विधायक बन सकते हैं मंत्री

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज