जेटली के निधन पर प्रधानमंत्री ने कहा: मैंने मूल्यवान मित्र खो दिया

भाषा
Updated: August 24, 2019, 3:04 PM IST
जेटली के निधन पर प्रधानमंत्री ने कहा: मैंने मूल्यवान मित्र खो दिया
प्रधानमंत्री मोदी (Pm Narendra Modi) ने अरुण जेटली (Arun Jaitley) की पत्नी एवं पुत्र से बात की और अपनी संवेदना प्रकट की. PTI Photo by Kamal

प्रधानमंत्री मोदी (Pm Narendra Modi) ने अरुण जेटली (Arun Jaitley) की पत्नी एवं पुत्र से बात की और अपनी संवेदना प्रकट की.

  • Share this:
बीजेपी (BJP) के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley)के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शनिवार को शोक प्रकट करते हुए उन्हें अपना 'मूल्यवान मित्र' बताया, जिनमें अंत:दृष्टि और चीजों को बारीकी से समझने की क्षमता थी जो विरले ही देखने को मिलती है. मोदी राजकीय यात्रा पर यूएई में हैं. उन्होंने कहा कि पूर्व वित्त मंत्री जीवन से परिपूर्ण, प्रबुद्ध, हास्य-विनोद से भरपूर और करिश्माई शख्सियत थे.

आधिकारिक सूत्र ने बताया कि प्रधानमंत्री ने जेटली की पत्नी एवं पुत्र से बात की और अपनी संवेदना प्रकट की. दोनों ने प्रधानमंत्री से अपनी विदेश यात्रा रद्द नहीं करने का अनुरोध किया. शनिवार को एम्स (AIIMS) में बीजेपी नेता का निधन हो गया.

अपने ट्वीट में मोदी ने कहा कि जेटली को समाज का हर तबका पसंद करता था. उन्होंने कहा कि वह एक बहुआयामी व्यक्तित्व वाले, संविधान, इतिहास, लोक नीति, शासन और प्रशासन के प्रखर ज्ञाता थे.

यह भी पढ़ें:  बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता अरुण जेटली का UP से था गहरा रिश्ता...

'अपना एक मूल्यवान मित्र खो दिया'

उन्होंने कहा, 'अरुण जेटली जी के जाने से मैंने अपना एक मूल्यवान मित्र खो दिया, जिन्हें दशकों से जानने का मुझे सौभाग्य प्राप्त था. उनमें मुद्दों को लेकर जो अंतर्दृष्टि और चीजों की समझ थी, वह विरले ही किसी में देखने को मिलती है. उन्होंने जीवन को भरपूर जिया और हम सभी के दिलों में अनगिनत खुशी के लम्हे छोड़ गये! हम उन्हें याद करेंगे.'

उन्होंने कहा कि जेटली ने अपने लंबे राजनीतिक कॅरियर में कई मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाली. उन्होंने अपनी जिम्मेदारियां निभाते हुए भारत के आर्थिक विकास, हमारी रक्षा क्षमता को मजबूत करने, लोगों के अनुकूल कानून बनाने और अन्य देशों के साथ कारोबार बढ़ाने में योगदान किया.
Loading...

उनके योगदान को भी याद किया

मोदी ने बीजेपी में उनके योगदान को भी याद किया.

उन्होंने कहा, 'बीजेपी और अरुण जेटली जी में अटूट रिश्ता था. एक जोशीले छात्र नेता के तौर पर आपातकाल के दौरान वह लोकतंत्र की सुरक्षा में अग्रणी रहे. वह हमारी पार्टी के सबसे पसंदीदा चेहरा रहे, जो समाज के व्यापक हिस्सों के समक्ष पार्टी कार्यक्रमों और विचारधारा को आसान शब्दों में पेश करते थे.'

यह भी पढ़ें: यारों के यार थे अरुण जेटली, ऐसे निभाई अपनी दोस्ती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 2:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...