Home /News /nation /

Yahoo के टॉप न्यूज मेकर रहे PM मोदी, दूसरे स्थान पर राहुल गांधी

Yahoo के टॉप न्यूज मेकर रहे PM मोदी, दूसरे स्थान पर राहुल गांधी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

याहू की सूची में सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा तीसरे स्थान पर हैं. तीन तलाक और अनुच्छेद 377 पर कोर्ट के निर्णयों से उनका नाम चर्चा में रहा.

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में खबरों की सुर्खियों में स्थान पाने के मामले में 2018 में एक बार फिर सबसे ऊपर रहे. याहू साल 2018 की समीक्षा सूची में यह कहा गया है. पिछले कुछ वर्षों से मोदी इस सूची में शीर्ष स्थान पर चल रहे हैं. इस साल की सूची में दूसरे स्थान पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी रहे.

    याहू की सूची में सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा तीसरे स्थान पर हैं. तीन तलाक और अनुच्छेद 377 पर कोर्ट के निर्णयों से उनका नाम चर्चा में रहा. यौन उत्पीड़न के आरोप में विदेश राज्यमंत्री के पद से इस्तीफा देने वाले एमजे अकबर सूची में छठे पायदान पर रहे और वह कथित आर्थिक धोखाधड़ी करने वालों विजय माल्या और नीरव मोदी से पीछे हैं.

    ये भी पढ़ें: मोदी सरकार दे रही है इंटर्नशिप का मौका, ऐसे करें अप्लाई

    अभिनेत्री दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह की शादी को लेकर उत्सुकता के कारण ये दंपत्ति भी सुर्खियों में रहे. याहू के बयान के अनुसार सूची में जगह पाने वालों में सबसे कम उम्र का करीना कपूर और सैफ अली खान का बेटा तैमूर अली खान है. इसको लेकर इंटरनेट पर खूब खबरें देखी और खोजी गईं. इसके अलावा मलयालम फिल्म ओरू अदार लव में अभनेत्री प्रिया प्रकाश वारियर को भी सूची में जगह मिली. अभिनेत्री के आंख मारने का वीडियो सुर्खियो में रहा.

    साल के दौरान तीन फर्जी खबरों को सूचीबद्ध करते हुए याहू ने बयान में कहा, 'वर्ष 2018 में कई फर्जी खबरें आनलाइन छायी रही. जिसमें पीएम मोदी और ओवैसी की एक एडिट की हुई फोटो थी. दूसरी फर्जी खबर भी पीएम मोदी के मेकअप से जुड़ी हुई थी. तीसरी खबर में राहुल गांधी ने मंच पर एक महिला का हाथ थामा है.'

    ये भी पढ़ें: US की कड़ी चेतावनी, कहा- आतंकवाद से निपटने में मोदी का साथ दे पाकिस्तान

    याहू के 'ईयर इन रीव्यू' भारत में इंटरनेट उपयोग करने वालों की रूचि के हिसाब से तैयार किया जाता है. इसमें खबरों, कहानियों और शीर्षकों में सुर्खियां बटोरने वालों को जगह दी जाती है जो वायरल होता है और साल के दौरान छाया रहता है. यह उपयोगकर्ताओं की 'सर्च' आदत पर आधारित है और जो वे पढ़ते हैं, शेयर करते हैं, उसके आधार पर चुना जाता है.'

    Tags: Internet users, Justice Dipak mishra, Pm narendra modi, Rahul gandhi, Social media, Yahoo

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर