अपना शहर चुनें

States

पीएम मोदी ने TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन और कांग्रेस के प्रताप सिंह बाजवा पर कसा तंज- मुझे लगा कि...

पीएम मोदी ने कसा तंज. (Pic- ANI)
पीएम मोदी ने कसा तंज. (Pic- ANI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने राज्यसभा में विपक्षी नेताओं पर तंज कसते हुए कहा, 'लोकतंत्र को लेकर यहां काफी उपदेश दिए गए हैं. लेकिन मैं नहीं मानता हूं कि जो बातें यहां बताई गई हैं, उसमें देश का कोई भी नागरिक भरोसा करेगा.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 8, 2021, 1:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने सोमवार को राज्‍यसभा में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब दिया. इस दौरान उन्‍होंने कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस (TMC) समेत अन्‍य विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा. उन्‍होंने इस दौरान कहा, 'लोकतंत्र को लेकर यहां काफी उपदेश दिए गए हैं. लेकिन मैं नहीं मानता हूं कि जो बातें यहां बताई गईं हैं, उसमें देश का कोई भी नागरिक भरोसा करेगा. भारत का लोकतंत्र ऐसा नहीं है कि जिसकी खाल हम इस तरह से उधेड़ सकते हैं.'

पीएम मोदी ने इस दौरान तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन का भी जिक्र किया. उन्‍होंने कहा, 'मैं डेरेक जी को सुन रहा था. उन्‍होंने बड़े-बड़े शब्दों का प्रयोग किया. जब मैं उन्‍हें सुन रहा था तो एक बार तो मुझे लगा कि वह देश के बारे में बोल रहे थे या बंगाल के बारे में.'





वहीं पीएम मोदी ने कांग्रेस के सांसद प्रकाश सिंह बाजवा पर भी तंज कसते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा. उन्‍होंने कहा, 'कांग्रेस के बाजवा साहब भी बोल रहे थे. वह उस दौरान इस तरह विस्‍तार से बोल रहे थे कि मुझे लगा कि वह जल्‍द ही आपातकाल में पहुंचने वाले हैं और उसपर बोलेंगे. वह उससे सिर्फ एक कदम की दूरी पर थे. लेकिन वह वहां नहीं गए. कांग्रेस ने देश को बहुत निराश किया है. आपने भी ऐसा ही किया.'

पीएम मोदी ने कहा, 'सदन में किसान आंदोलन की भरपूर चर्चा हुई है. ज्यादा से ज्यादा समय जो बात बताई गईं वो आंदोलन के संबंध में बताई गईं. किस बात को लेकर आंदोलन है उस पर सब मौन रहे. जो मूलभूत बात है, अच्छा होता कि उस पर भी चर्चा होती कृषि मंत्री ने बहुत अच्छे से विस्तारपूर्वक इस पर बात की. चौधरी चरण सिंह ने छोटे किसानो का जिक्र हमेशा अपने भाषण में किया. आज 12 करोड़ छोटे किसान हैं. क्या इनके बारे में हमें कुछ नहीं सोचना, कुछ नहीं करना.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज