Home /News /nation /

PM Modi Security Breach: 'अगर कोताही हुई थी, तो कौन जिम्मेवार', PM की सुरक्षा में चूक पर बोले कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी

PM Modi Security Breach: 'अगर कोताही हुई थी, तो कौन जिम्मेवार', PM की सुरक्षा में चूक पर बोले कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक होने पर दुख जताया है. (फाइल फोटो: ANI)

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक होने पर दुख जताया है. (फाइल फोटो: ANI)

PM Narendra Modi Security Breach: कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने कहा, 'जहां तक देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा का संबंध है. वह मामला कुछ अलग हो जाता है. देखिए जहां पर उनका काफिला था, वह भारत की सरहद से केवल 10 किमी की दूरी पर है. जो पाकिस्तान की भारी तोपें हैं, जो भारत-पाकिस्तान सीमा पर तैनात रहती है. हमारी भी तोपें तैनात रहती हैं. उसकी जो रेंज है वह 35-36 किमी से ज्यादा होती है. तो इसलिए देश के प्रधानमंत्री की तुलना किसी और की सुरक्षा से करना मेरे विवेक में इस बात को उचित नहीं मानता.'

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की सुरक्षा में हुई चूक पर कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने जांच की मांग की है. उन्होंने कहा है कि मामले की जांच हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के नेतृत्व में की जानी चाहिए. न्यूज18 से खास बातचीत में उन्होंने इस घटना पर दुख जताया है. पंजाब में हुई पीएम की सुरक्षा में खामी के मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. इसके अलावा पंजाब सरकार ने भी केंद्रीय गृहमंत्रालय को जांच संबंधी जानकारी दी है.

तिवारी ने शुक्रवार को कहा, ‘जो फिरोजपुर में हुआ, वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण था. बहुत ही दुखद था और नहीं होना चाहिए था. और बहुत ही आश्चर्य की बात है कि पंजाब सरकार ने घटना को संज्ञान लेने के लिए जांच का आदेश दिया है और केंद्र सरकार ने एक और जांच का आदेश दिया है. यह इस बात का प्रतीक है कि हम किस तरह की सियासत पृष्ठभूमि में आज जी रहे हैं कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर भी हमारे में एकाकरण नहीं हो सका है.’

सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई को लेकर उन्होंने कहा, ‘अगर न्यायालय इसे संज्ञान में लेता है अपने विवेक से और एक जांच होनी चाहिए. वह जांच या तो हाईकोर्ट के सिटिंग जज के निरीक्षण में होनी चाहिए या उच्चतम न्यायालय उचित समझे तो उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश की अध्यक्षता में होनी चाहिए. जिससे कि जो सारा घटनाक्रम है, बठिंडा से लेकर फिरोजपुर तक उसकी तह में जाया जाए. क्योंकि प्रधानमंत्री की सुरक्षा संसद के कानून के तहत उसका क्रियान्वयन होता है. इसमें एसपीजी की मुख्य भूमिका रहती है… इस पर एक विस्तृत और निष्पक्ष जांच होनी चाहिए, जिससे यह सामने आए कि अगर कोताही हुई थी, तो उसके लिए कौन जिम्मेवार है.’

यह भी पढ़ें: Exclusive Videos: कैसे फ्लाईओवर पर 20 मिनट तक फंसे रहे PM मोदी? सामने आए वीडियो

प्रधानमंत्री की सुरक्षा की तुलना किसी और से करनी सही नहीं
कांग्रेस सांसद ने कहा कि पीएम की सुरक्षा की तुलना किसी अन्य व्यक्ति से करना सही नहीं है. उन्होंने कहा, ‘जहां तक देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा का संबंध है. वह मामला कुछ अलग हो जाता है. देखिए जहां पर उनका काफिला था, वह भारत की सरहद से केवल 10 किमी की दूरी पर है. जो पाकिस्तान की भारी तोपें हैं, जो भारत-पाकिस्तान सीमा पर तैनात रहती है. हमारी भी तोपें तैनात रहती हैं. उसकी जो रेंज है वह 35-36 किमी से ज्यादा होती है. तो इसलिए देश के प्रधानमंत्री की तुलना किसी और की सुरक्षा से करना मेरे विवेक में इस बात को उचित नहीं मानता.’

उन्होंने कहा, ‘मैं यह नहीं कहता कि उनकी सुरक्षा में कोई खामी आई थी, लेकिन वास्तविकता यह है कि उन्हें 20 मिनट तक एक फ्लाईओवर पर रुकना पड़ा. वास्तविकता दूसरी यह है कि इसलिए रुकना पड़ा क्योंकि वहां पर प्रदर्शनकारी थे.’

क्या था मामला
बुधवार को पीएम मोदी का पंजाब के फिरोजपुर में कार्यक्रम तय था. वे 42 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा कि विकास परियोजनाओं का शिलान्यास करने पहुंच रहे थे. पीएम मोदी बुधवार सुबह बठिंडा पहुंचे, जहां से वे हेलिकॉप्टर के जरिए हुसैनीवाला शहीद स्मारक जाने वाले थे. बारिश और कम दृष्यता के चलते पीएम ने करीब 20 मिनट मौसम साफ होने का इंतजार किया. बयान के अनुसार, जब मौसम नहीं सुधरा, तो यह फैसला लिया गया कि वे राष्ट्रीय शहीद स्मारक सड़क मार्ग से पहुंचेंगे, जिसमें दो घंटे से ज्यादा का समय लगेगा.

पंजाब पुलिस डीजीपी से सुरक्षा इंतजामों की पुष्टि किए जाने के बाद पीएम मोदी सड़क मार्ग से निकले. हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक से करीब 30 किमी दूर जब पीएम का काफिला फ्लाईओवर पर पहुंचा, तो यह पाया गया कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को ब्लॉक कर दिया है. पीएम फ्लाईओवर पर 15-20 मिनट फंसे रहे. बयान के अनुसार, यह पीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक थी. गृहमंत्रालय ने कहा था कि पीएम के शेड्यूल और यात्रा की योजना के बारे में पहले ही पंजाब सरकार को बताया गया था.

Tags: Congress, Manish Tewari, Pm narendra modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर