राहुल गांधी ने ट्विटर पर अनफॉलो किए कई लोग, लेकिन PM मोदी की है अलग नीति

पीएम मोदी अपने आलोचकों को भी ट्विटर पर फॉलो करते हैं. (File Pic)

पीएम मोदी अपने आलोचकों को भी ट्विटर पर फॉलो करते हैं. (File Pic)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की सोशल मीडिया नीति इसके उलट है. वह विपक्षी नेताओं और अपने व अपनी सरकार के आलोचकों को फॉलो करना जारी रखते हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने हाल ही में अपने ट्विटर अकाउंट (Twitter) में करीब 50 लोगों को अलफॉलो (Unfollow) किया है. इनमें कुछ उनके सहयोगी, कुछ पत्रकार और कुछ उनके आलोचक भी शामिल हैं. लेकिन अगर बात करें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की तो उनकी सोशल मीडिया नीति इसके उलट है. वह विपक्षी नेताओं और अपने व अपनी सरकार के आलोचकों को फॉलो करना जारी रखते हैं.

इस संबंध में सरकारी सूत्रों ने नवजोत सिंह सिद्धू और कीर्ति आजाद जैसे विपक्षी नेताओं का उदाहरण दिया, जिन्हें प्रधानमंत्री मोदी ट्विटर पर अपने निजी हैंडल से फॉलो करते हैं, लेकिन ये नेता अपने ट्वीट में उनकी बहुत आलोचना करते हैं. कुछ साल पहले बीजेपी छोड़कर विपक्षी खेमे में चले जाने के बाद भी पीएम ने उनको फॉलो करना जारी रखा है. ऐसा ही एक और उदाहरण पूर्व बीजेपी नेता प्रद्योत बोरा का है, जिन्होंने 2015 में बीजेपी छोड़ दी थी और लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी की स्थापना की थी. लेकिन पीएम मोदी ट्विटर पर उन्हें भी फॉलो करते हैं.

बीजेपी के एक और पूर्व नेता उदित राज, जिन्होंने कांग्रेस में शामिल होने के लिए इस्तीफा दे दिया था और मोदी सरकार के बेहद आलोचक हैं, लेकिन पीएम मोदी ट्विटर पर उन्‍हें अभी भी फॉलो करते हैं. पीएम मोदी ट्विटर पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी फॉलो करते हैं, जिन्होंने कुछ साल पहले एक ट्वीट में उन्हें 'झूठा और मनोरोगी' कहा था. इसके साथ ही पीएम मोदी अपने बड़े आलोचक राहुल गांधी को भी फॉलो करते हैं.

एक वरिष्‍ठ सरकारी अफसर ने न्‍यूज18 को बताया, 'जब 2014 में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने थे, तो हमने पाया कि पुराने प्रधानमंत्री कार्यालय के ट्विटर अकाउंट ने सैकड़ों लोगों को ब्लॉक कर दिया था. लेकिन नए शासन के तहत उन सभी को अनब्लॉक कर दिया गया था.'
पीएम मोदी कई विपक्षी नेताओं को भी फॉलो करते हैं जो लगातार उनकी और केंद्र सरकार की आलोचना करते हैं. लेकिन वे पहले एनडीए का हिस्सा थे. उदाहरण के लिए जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती और शिरोमणि अकाली दल की नेता हरसिमरत बादल भी इनमें शामिल हैं. जिन्होंने पिछले साल केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था और उनकी पार्टी ने एनडीए छोड़ दिया था. जदयू के पूर्व नेता शरद यादव, कांग्रेस हरियाणा के सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा और पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को भी पीएम मोदी फॉलो करते हैं.

इसके साथ ही वह कांग्रेस नेता शशि थरूर, रणदीप सुरजेवाला, दिग्विजय सिंह, अजय माकन, अभिषेक मनु सिंघवी, पृथ्वीराज चव्हाण जैसे कई कांग्रेसी नेताओं को भी फॉलो करते हैं. इनमें मिलिंद देवड़ा, आरपीएन सिंह और दिवंगत अहमद पटेल भी शामिल हैं.




पीएम मोदी ट्विटर पर कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को भी फॉलो करते हैं, जो पीएम पर लगातार निशाना साधते हैं. पीएम मोदी का निजी हैंडल पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया समेत सभी मुख्यमंत्रियों और उपमुख्यमंत्रियों को भी फॉलो करता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज