होम /न्यूज /राष्ट्र /बिलासपुर AIIMS का उद्घाटन कर बोले PM मोदी- हिमाचल अवसरों का प्रदेश है, इसके दोनों हाथ में लड्डू

बिलासपुर AIIMS का उद्घाटन कर बोले PM मोदी- हिमाचल अवसरों का प्रदेश है, इसके दोनों हाथ में लड्डू

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में जनसभा को संबोधित कर रहे हैं पीएम मोदी

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में जनसभा को संबोधित कर रहे हैं पीएम मोदी

PM Modi in Himachal Pradesh: विजयादशमी यानी दहशहरे के अवसर पर विलासपुर एम्स समेत कई परियोजनाओं की सौगात देने के लिए पीए ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

ग्रीन एम्स के नाम से जाना जाएगा बिलासपुर एम्स: पीएम मोदी
पीएम मोदी ने बिलासपुर एम्स का उद्घाटन किया.
पीएम मोदी ने कहा कि हिमाचल अवसरों का प्रदेश है.

शिमला: पीएम मोदी ने विजयादशमी यानी दहशहरे के अवसर पर हिमाचल प्रदेश को बिलासपुर एम्स समेत कई परियोजनाओं की सौगात दी. हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में एम्स यानी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान का उद्घाटन करने और कई परियोजनाओं की आधारशीला रखने के बाद पीएम मोदी ने एक जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार जब किसी परियोजना का शिलान्यास करती है तो लोकार्पण भी करती है. उन्होंने कहा कि हिमाचल अवसरों का प्रदेश है और यहां मेडिकल टूरिज्म का भी बहुत स्कोप है.

बिलासपुर को स्वास्थ्य और शिक्षा का डबल गिफ्ट
जनसभा की शुरुआत में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि एम्स और हाइड्रो इंजीनियरिंग कॉलेज के रूप में आज बिलासपुर को स्वास्थ्य और शिक्षा का डबल गिफ्ट मिला है. हिमाचल प्रदेश में विकास संभव है, क्योंकि लोगों ने केंद्र और राज्य दोनों में भाजपा को सत्ता में लाने के लिए वोट दिया. उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में जो भी विकास हो रहा है, वह आपने किया है, मैंने नहीं. अगर आप दिल्ली में केवल मोदी जी को आशीर्वाद देते और हिमाचल में मोदी जी के साथियों का साथ नहीं देते तो यहां अड़ंगा लगा देते और इतनी तेज गति से काम नहीं होता. दिल्ली की योजना को यहां आने से रोक देते. अगर यह एम्स बना है तो आपकी एक वोट की ताकत है. अगर टनल बना है तो आपकी एक वोट की ताकत है. मेडिकल डिवाइस पार्क बना है तो यह भी आपके वोट की ताकत है. यही वजह है कि मैं विकास का काम कर रहा हूं.

ग्रीन एम्स के नाम से जाना जाएगा बिलासपुर एम्स
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि देश पुरानी सोच छोड़कर अब आधुनिक सोच के साथ आगे बढ़ रहा है. आज हिमाचल प्रदेश में सेंट्रल यूनिवर्सिटी भी है, आईआईटी भी है, आईआईएम जैसे प्रतिष्ठित संस्थान हैं और अब एम्स भी है. यह हिमाचल और बिलासपुर की जनता की शान बढ़ा रहा है. बिलासपुर एम्स एक और बदलाव का प्रतीक है. यह एक ग्रीन एम्स के नाम से जाना जाएगा. पहले सरकारें शिलान्यास का पत्थर लगाती थीं और चुनाव के बाद भूल जाती थीं. मगर हमारी सरकार ने इस नीति को बदल दिया है.

हमारी सरकार में जिसका शिलान्यास होता है, उसका लोकार्पण भी
पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार जिस प्रोजेक्ट का शिलान्यास करती है, उसका लोकार्पण भी करती है. लटकना, फटकना और अटकना… वह जमाना चला गया. राष्ट्र रक्षा में हमेशा से हिमाचल का बहुत बड़ा योगदान रहा है. जो हिमाचल पूरे देश में राष्ट्र रक्षा के वीरों के लिए जाना जाता है, वह हिमाचल इस एम्स के बाद जीवन रक्षा के लिए भी अहम भूमिका निभाने वाला है. साल 2014 तक हिमाचल में तीन मेडिकल कॉलेज थे, मगर पिछले आठ साल में पांच नए सरकारी मेडिकल कॉलेज बने हैं.

हिमाचल में मेडिकल डिवाइस पार्क का शिलान्यास
हिमाचल में एम्स के उद्घाटन के मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि बल्क ड्रग्क पार्क्स के लिए देश के जिन तीन राज्यों का चयन हुआ है, उनमें से एक हिमाचल है. मेडिकल डिवाइस पार्क के लिए जिन राज्यों को चुना गया है, उनमें भी एक हिमाचल है. नालागढ़ में मेडिकल डिवाइस पार्क का शिलान्यास इसी का हिस्सा है. उन्होंने आगे कहा कि हिमाचल का एक पक्ष और है, जिसमें यहां विकास की अनंत संभावनाएं छिपी हुई हैं. यह पक्ष है मेडिकल टूरिज्म का. यहां की आबो-हवा, यहां का वातावरण, यहां की जड़ी-बूटियां, अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत उपयुक्त हैं. यहां देश-विदेश से लोग आएंगे तो उन्हें स्वास्थ्य लाभ तो मिलेगा, मगर इससे हिमाचल को टूरिज्म का लाभ भी मिलेगा.

हिमाचल के दोनों हाथों में लड्डू
पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार का प्रयास है कि गरीब और मध्यम वर्ग के इलाज पर खर्च भी कम हो, इलाज भी बेहतर मिले और इसके लिए दूर ना जाना पड़े. माताओं-बहनों-बेटियों का सुख-सुविधा, सम्मान, सुरक्षा और स्वास्थ्य डबल इंजन सरकार की बहुत बड़ी प्राथमिकता है. उन्होंने आगे कहा कि हिमाचल अवसरों का प्रदेश है. यहां बिजली पैदा होती है, फल-सब्जी के लिए उपजाऊ जमीन है और रोजगार के अनंत अवसर देने वाला पर्यटन यहां पर है. हिमाचल के तो दोनों हाथ में लड्डू है.

हिमाचल के सीएम और जेपी नड्डा ने क्या कहा
पीएम मोदी के संबोधन से पहले बिलासपुर में हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि पहले एम्स का मतलब दिल्ली जाना होता था. लेकिन पीएम मोदी ने हिमाचल की जनता का दर्द समझा और एम्स को बिलासपुर ले आए. यह हमें हमेशा याद दिलाएगा कि किसके नेतृत्व ने हमें ताकत दी. वहीं, जेपी नड्डा ने कहा कि आज विजयादशमी के दिन पीएम मोदी हिमाचल प्रदेश को एक नहीं बल्कि कई योजनाएं दे रहे हैं. आज के दिन हिमाचल के सभी बहनों और भाइयों की ओर से मैं मोदी जी का स्वागत करता हूं. कभी हिमालच की जनता ने सोचा था क्या कि बिलासपुर में एम्स खुलेगा? 3 अक्टूबर 2017 को प्रधानमंत्री जी ने बिलासपुर एम्स का शिलान्यास किया था और आज 5 अक्टूबर 2022 को बिलासपुर एम्स जनता को समर्पित कर रहे हैं.

बता दें कि जनसभा को संबोधित करने से पहले पीएम मोदी ने बिलासपुर एम्स का उद्घाटन किया था. प्रधानमंत्री मोदी ने अक्टूबर 2017 में इसका शिलान्यास भी किया था. केंद्रीय क्षेत्र की योजना- प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत इसे स्थापित किया गया है. एम्स बिलासपुर, 1,470 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से निर्मित है। इस अत्याधुनिक अस्पताल में 18 स्पेशियलिटी और 17 सुपर स्पेशियलिटी विभाग, 18 मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर, 64 आईसीयू बेड के साथ 750 बेड शामिल है.

यह अस्पताल 247 एकड़ में फैला है। यह 24 घंटे आपातकालीन और डायलिसिस सुविधाओं, अल्ट्रासोनोग्राफी, सीटी स्कैन, एमआरआई आदि जैसी आधुनिक डायग्नोस्टिक मशीनों, अमृत फार्मेसी व जन औषधि केंद्र और 30 बिस्तरों वाले आयुष ब्लॉक से सुसज्जित है. इस अस्पताल ने हिमाचल प्रदेश के जनजातीय और दुर्गम जनजातीय क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए डिजिटल स्वास्थ्य केंद्र भी स्थापित किया है.

अस्पताल द्वारा काजा, सलूनी और केलांग जैसे दुर्गम जनजातीय और अधिक ऊंचाई वाले हिमालयी क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिविरों के माध्यम से विशेषज्ञों द्वारा स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएंगी. इस अस्पताल में हर साल एमबीबीएस कोर्स के लिए 100 विद्यार्थियों और नर्सिंग कोर्स के लिए 60 विद्यार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा. प्रधानमंत्री मोदी बाद में कुल्लू दशहरा समारोह में भी भाग लेंगे.

Tags: Himachal pradesh news, PM Modi, Shimla News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें