COP14: पीएम मोदी बोले-धरती हमारी मां, 2.6 करोड़ हेक्टेयर जमीन को बनाएंगे उपजाऊ

News18Hindi
Updated: September 9, 2019, 1:21 PM IST
COP14: पीएम मोदी बोले-धरती हमारी मां, 2.6 करोड़ हेक्टेयर जमीन को बनाएंगे उपजाऊ
COP-14 को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

कॉप-14 (Conference of Parties) को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि भारत के संस्कारों में धरती पवित्र है, हर सुबह जमीन पर पैर रखने से पहले हम धरती से माफी मांगते हैं. पीएम बोले कि आज दुनिया में लोगों को क्लाइमेट चेंज के मसले पर नकारात्मक सोच का सामना करना पड़ रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 9, 2019, 1:21 PM IST
  • Share this:
ग्रेटर नोएडा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में चल रहे 12 दिवसीय कॉप-14 (Conference of Parties) कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित कर रहे हैं. इस दौरान पीएम मोदी ने ग्लोबल वॉर्मिंग (Global Warming), जलवायु परिवर्तन (Climate Change) और नष्ट होती जैव विविधता, मरुस्थलीकरण जैसे बढ़ते खतरों पर चिंता जाहिर की.

पीएम मोदी ने ऐलान किया कि भारत सरकार 2030 तक 2.6 करोड़ हेक्टेयर बंजर जमीन को उपजाऊ बनाएगा. पहले ये लक्ष्य 2.1 करोड़ हेक्टेयर था. उन्होंने बताया कि 2015 और 2017 के बीच भारत में पेड़ और जंगल के दायरे में आठ लाख हेक्टेयर की बढ़ोतरी हुई है. मोदी ने यह भी कहा कि भारत जलवायु परिवर्तन, जैव विविधता और भूमि क्षरण जैसे क्षेत्रों में व्यापक दक्षिण-दक्षिण सहयोग बढ़ाने के लिए उपायों का प्रस्ताव रख कर प्रसन्नता महसूस कर रहा है.

धरती हमारी मां, इसे बचाने की जरूरत
पीएम मोदी ने कहा कि भारत के संस्कारों में धरती पवित्र है, हर सुबह जमीन पर पैर रखने से पहले हम धरती से माफी मांगते हैं. पीएम बोले कि आज दुनिया में लोगों को क्लाइमेट चेंज के मसले पर नकारात्मक सोच का सामना करना पड़ रहा है. इसकी वजह से समुद्रों का जल स्तर बढ़ रहा है, बारिश, बाढ़ और तूफान हर जगह इसका असर देखने को मिल रहा है. पर्यावरण बचाने के लिए हमें सबसे पहले अपने व्यवहार में बदलाव लाने की जरूरत है.

दुनिया को भी लगानी होगी सिंगल यूज़ प्लास्टिक पर रोक
पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया को भी जल्द ही सिंगल यूज़ प्लास्टिक पर रोक लगानी होगी. भारत ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत काफी सफलता पाई है. पीएम ने बताया कि आज भारत में टॉयलेट्स की संख्या 38 से 99 फीसदी तक पहुंची है. स्वच्छता-सफाई हर नागरिक की जिम्मेदारी है. इसकी शुरुआत घर से होती है.



पीएम मोदी ने और क्या कहा?
>>पीएम मोदी ने कहा कि इस समय पूरा विश्व क्लाइमेट चेंज की समस्या से जूझ रहा है.प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत प्रकृति की रक्षा करने के हर प्रयास में आगे रहेगा. मैं यूएनसीसीडी के सदस्यों से जल संरक्षण योजना बनाने का आह्वान करता हूं.
>>किसान की आय दोगुनी करने का भी प्रयास है. जीरो बजट नेचुरल फार्मिंग पर भी हम ध्यान दे रहे हैं.
>हम प्रकृति संरक्षण में हर किसी का प्रयास चाहते हैं. हमने स्वच्छ भारत अभियान में ये करके दिखाया जहां हर वर्ग के लोग इससे जुड़े. सिंगल यूज प्लास्टिक के मामले में भी हम यही चाहते हैं. इस मामले युवा सबसे आगे आते हैं.
>>भारत अपने अन्य मित्र देशों की भूमि विकास में भी मदद करने को तत्पर है. हमारे पूर्वजों की सोच बहुत ऊंची थी. वह मैं और हम के रिश्ते में विश्वास रखते थे. >>हम सबकी उन्नति की बात करते हैं. वह विश्व एक परिवार है ऐसी धारणा रखते थे और हमें भी इसी पर काम करना चाहिए.

पर्यावरण संरक्षण में सरकार ने किया काम-जावड़ेकर

इस मौके पर केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि भारत ने बढ़ते मरुस्‍थलीकरण से धरती को बचाने की दिशा में कई कदम उठाए हैं. पर्यावरण संरक्षण को लेकर भारत ने उल्‍लेखनीय काम किया है. यही वजह है कि दुनिया के 77 फीसदी बाघ केवल भारत में हैं.

जावड़ेकर ने आगे बताया कि भारत ने बढ़ती ग्‍लोबल वर्मिंग और प्रदूषण से निपटने के लिए टैक्स में छूट देकर ई-वाहनों को भी बढ़ावा दिया है. अगर इंसान के कामों से पर्यावरण परिवर्तन हुआ है, तो उसी के सकारात्मक योगदान से ही उसमें सुधार भी लाया जाएगा.





बता दें कि ग्रेटर नोएडा में हो रहे इस कार्यक्रम में दुनिया के 190 से अधिक देशों के प्रतिनिधि शिरकत कर रहे हैं.

क्या है COP-14
कॉन्फ्रेंस ऑफ द पार्टीज यानी कॉप, कंवेंशन का सर्वोच्च निर्णायक निकाय है. कन्वेंशन के सभी राज्य जो इसके प्रतिनिधि हैं, वह सभी कॉप में हिस्सा लेकर यह विचार विमर्श करते हैं कि जो बातें पिछले कंवेंशन में तय हुई थी, वह लागू हुई हैं कि नहीं.

ये भी पढ़ें:- PM मोदी बोले- देश में 'ISRO Spirit', मिशन मून के 100 सेकेंड ने भारत को एक कर दिया

करोड़ों साथियों के साथ मिल कर पूरा करेंगे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के सपने : PM

अब JAXA के साथ मून मिशन की तैयारी में ISRO, ध्रुवीय क्षेत्र से लाएगा सैंपल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 9, 2019, 12:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...