#CourageInKargil: मन की बात में PM मोदी बोले- पीठ में छुरा घोंपना चाहता था पाकिस्तान, वीर जवानों ने किया नाकाम

#CourageInKargil: मन की बात में PM मोदी बोले- पीठ में छुरा घोंपना चाहता था पाकिस्तान, वीर जवानों ने किया नाकाम
पीएम मोदी ने पाकिस्‍तान को आड़े हाथों लिया. PIC- File ANI

#CourageInKargil: रविवार को कारगिल विजय दिवस (Kargil Vijay Diwas) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अपने मन की बात कार्यक्रम में शहीदों को नमन किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 26, 2020, 12:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पाकिस्‍तान (Pakistan) के साथ 1999 में हुई जंग के बाद भारत को कारगिल (Kargil) में मिली जीत की आज यानी 26 जुलाई को 21वीं वर्षगांठ है. इस युद्ध में पाकिस्‍तान को मुंह की खानी पड़ी थी. रविवार को कारगिल विजय दिवस (Kargil Vijay Diwas) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अपने मन की बात कार्यक्रम में शहीदों को नमन किया. उनकी वीरता को सलाम किया. पीएम मोदी ने इस दौरान पाकिस्‍तान को भी आड़े हाथों लिया. उन्‍होंने कहा,'कारगिल युद्ध के समय पाकिस्तान द्वारा पीठ में छुरा घोंपने की कोशिश हुई थी, लेकिन उसके बाद भारत की वीर सेना ने जो पराक्रम दिखाया, भारत ने अपनी जो ताकत दिखाई, उसे पूरी दुनिया ने देखा. हमारे जवानों ने उसके मंसूबे नाकाम किए.'

पीएम मोदी ने कहा, 'कहा जाता है- 'बयरू अकारण सब काहू सों, जो कर हित अनहित ताहू सों. यानी दुष्ट का स्वभाव होता है हर किसी से बिना वजह दुश्मनी करना,  ऐसे स्वभाव के लोगों का जो हित करता है उसका भी नुकसान ही सोचते हैं.' उन्‍होंने कहा, 'मैं आज सभी देशवासियों की तरफ से हमारे वीर जवानों के साथ-साथ  उन वीर माताओं को भी नमन करता हूं जिन्होंने मां भारती के सच्चे सपूतों को जन्म दिया.'






पीएम मोदी ने कहा, 'मैं देश के नौजवानों से आग्रह करता हूं कि आज दिनभर कारगिल विजय से जुड़े हमारे जाबाजों की कहानियां और वीर माताओं के त्याग के बारे में एक-दूसरे को बताएं और विचार साझा करें.' उन्‍होंने कहा कि युद्ध की परिस्थिति में हम जो बात कहते या करते हैं उसका सीमा पर डटे सैनिक और उसके परिवार के मनोबल पर बहुत गहरा असर पड़ता है इसलिए हमें ध्यान रखना चाहिए कि हम जो कर या कह रहे हैं उससे सैनिकों का मनोबल बढ़े.

पीएम मोदी ने कहा, 'आजकल युद्ध केवल सीमाओं पर ही नहीं लड़े जाते हैं, देश में भी कई मोर्चों पर एक साथ लड़े जाते हैं, देश की सीमा पर दुर्गम परिस्तिथियों में लड़ रहे सैनिकों को याद करते हुए हमें भी अपनी भूमिका तय करनी होगी.'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कारगिल युद्ध में पाकिस्तान पर भारत को मिली जीत की 21वीं वर्षगांठ के अवसर पर सशस्त्र बलों को रविवार को श्रद्धांजलि दी और कहा कि उनकी वीरता पीढ़ियों को प्रेरित कर रही है. भारतीय सैनिकों के करगिल की चोटियों से पाकिस्तानी सैनिकों को खदेड़ने के बाद 26 जुलाई 1999 को करगिल युद्ध को समाप्त घोषित किया गया था.

भारत की जीत का जश्न मनाने के लिए इस दिन को ‘कारगिल विजय दिवस’ के रूप में मनाया जाता है. पीएम मोदी ने ट्वीट किया, 'करगिल विजय दिवस पर, हम हमारे सशस्त्र बलों के साहस एवं दृढ़ निश्चय को याद करते हैं जिन्होंने 1999 में हमारे राष्ट्र की दृढ़तापूर्वक रक्षा की थी. उनका पराक्रम पीढ़ियों को प्रेरित करता है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading