सिर्फ दौरा नहीं, राहत को मुकाम पर पहुंचाने तक काम की मॉनीटरिंग करते हैं PM मोदी

प्रधान मंत्री के निर्देश पर ओड़िशा में राहत कार्यों के बारे में लोगों से जानकारी लेते केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने हवाई दौरा कर ओडिशा के तूफान प्रभावित बालासोर, भद्रक जिलों में हालात का जायजा लिया था. इसके बाद उन्‍होंने राहत कार्यों के फॉलोअप में धर्मेंद्र प्रधान को तैनात किया है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. एक तरफ जहां देश कोरोना के संकट (Coronavirus) से जूझ रहा है, वहीं दूसरी ओर टाउते और अब यास तूफान (Yaas Cyclone) ने एक नई चुनौती खड़ी कर दी है. ओड़िशा में इसका काफी असर देखने को मिल रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने हवाई दौरा कर ओडिशा के बालासोर, भद्रक जिलों में हालात का जायजा लिया था और 500 करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान भी किया था. पीएम मोदी यहीं नही रूके. उन्होंने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को ओडिशा में चल रहे राहत के काम के फॉलोअप में लगा दिया. खास बात ये है कि प्रधानमंत्री मोदी के हवाई दौरे के दौरान भी प्रधान उनके साथ थे.

धर्मेंद्र प्रधान ने किया ओडिशा का दौरा
पीएम मोदी सरकार के मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने रविवार 30 मई को ओडिशा के भद्रक, केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर का दौरा किया. पीड़ितों को राहत सामग्री जैसे दवाएं, राशन एवं मास्क आदि बांटे गए. धर्मेंद्र प्रधान ने कई ऐसे इलाकों का दौरा किया जहां चक्रवात पीड़ित बुरी तरह पानी में फंसे थे, इस दौरान आपदा प्रबंधन दल एवं बीजेपी कार्यकर्ताओं के सहयोग से लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया. केंद्रीय मंत्री ने जिस तरह तूफान प्रभावित इलाकों की जमीनी हकीकत का जायजा लिया.



मोदी के मंत्री का सेवा ही संगठन अभियान
ख़ास बात ये कि धर्मेंद्र प्रधान बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं को साथ लेकर तूफान पीडित लोगों के बीच पहुंचे हैं. मोदी सरकार के 7 साल पूरे होने पर इन दिनों बीजेपी सेवा ही संगठन अभियान चला रही है, जिसके अंतर्गत देशभर में कोरोना संक्रमित परिवारों एवं प्रवासी मजदूरों की सेवा के कार्यक्रम किए जा रहे हैं. इसी क्रम में धर्मेंद्र प्रधान ने स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं को यास तूफान पीड़ितों इलाकों में लेकर गए जहां लोगों को राहय सामग्री बांटी और खाना भी खिलाया.

पीएम को देंगे ग्राउंड जीरो के हालात की रिपोर्ट
केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस व इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने स्थानीय लोगों को भरोसा दिलाया है कि केंद्र सरकार उनके लिए हर संभव मदद करेगी. तटरक्षक बलों ने ओडिशा, झारखंड और पश्चिम बंगाल में 21 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में चक्रवात यास के प्रभाव की समीक्षा के उच्च स्तरीय बैठक की थी.

धर्मेंद्र प्रधान को ओडिशा की धरती से अलग करके सोचा भी नहीं जा सकता है. 2019 के लोकसभा चुनावों की गहमागहमी से भी प्रधान गायब होकर ओडिशा के तूफान प्रभावित इलाकों मे घूम रहे थे. तभी तो ओडिशा पर आये हर संकट के मौके पर मोदी सरकार के नुमाइंदे के तौर पर ग्राउंड जीरो पर नजर आते हैं.