होम /न्यूज /राष्ट्र /पीएम मोदी का UN को सीधा जवाब : जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाना हमारा आंतरिक मसला

पीएम मोदी का UN को सीधा जवाब : जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाना हमारा आंतरिक मसला

प्रधानमंत्री मोदी ने साफ किया कि जम्मू-कश्मीर ने अनुच्छेद 370 हटाना भारत का आंतरिक मामला है.

प्रधानमंत्री मोदी ने साफ किया कि जम्मू-कश्मीर ने अनुच्छेद 370 हटाना भारत का आंतरिक मामला है.

प्रधानमंत्री मोदी (Narendra Modi) ने साफ किया कि जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाना भारत ...अधिक पढ़ें

    फ्रांस (France) के शहर बिआरित्ज (Biarritz) में चल रही G7 समिट (G7 Summit) में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के सेक्रेटरी-जनरल एंटोनियो गुटेरेस (Antonio Guterres) से रविवार को मुलाकात की. इस बातचीत में प्रधानमंत्री मोदी ने साफ किया कि जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाना भारत का आंतरिक मामला है. पीएम मोदी ने कहा कि भारत की ओर से ऐसा कोई भी कदम नहीं उठाया जा रहा है जिससे किसी भी तरह की अशांति की स्थिति पैदा हो.

    जी7 समिट के इतर संयुक्त राष्ट्र से हो रही इस वार्ता में प्रधानमंत्री मोदी ने गुटेरेस से ये भी कहा कि जम्मू-कश्मीर में पाबंदियां लगाने की बड़ी वजह आतंकवाद है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राज्य में आतंकवादी घटनाओं को रोकने और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जम्मू-कश्मीर में पाबंदियां लगाई गई हैं. पीएम ने कहा ये पाबंदियां भी धीरे-धीरे हटाई जा रही हैं.

    विदेश सचिव विजय के गोखले ने सोमवार को संवाददाताओं को प्रधानमंत्री मोदी के तीन देशों के दौरे और जी7 समिट में उनकी भागीदारी के बारे में बताया. गोखले ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस समिट में बुलाने का यूएन सेक्रेटरी जनरल का मकसद उनसे क्लाइमेट चेंज पर बातचीत करने का था. पीएम मोदी ने उन्हें भरोसा दिलाया कि भारत इस मुद्दे पर उनके साथ खड़ा है.

    पीएम ने साफ किया भारत का रुख
    उन्होंने बताया कि कश्मीर से जुड़े मुद्दे और आर्टिकल 370 हटाने को लेकर भारत का रुख साफ करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटाना भारत के संविधान के अंतर्गत आता है. अंतरराष्ट्रीय स्तर की बात करें तो भारत राज्य में ऐसा कोई भी कदम नहीं उठा रहा है जिससे क्षेत्रीय शांति और स्थिरता को नुकसान पहुंचे. पीएम ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं. उन्होंने बताया कि राज्य के कई इलाकों से प्रतिबंध पूरी तरह से हटा दिए गए हैं जबकि कुछ जगहों पर अभी भी आंशिक प्रतिबंध हैं.

    प्रधानमंत्री मोदी ने साफ किया कि जम्मू-कश्मीर की आवाम तीस सालों से भी अधिक समय से आतंकवाद को झेल रही है और ये एक प्रमुख खतरा भी है इसलिए इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रतिबंध लगाए गए हैं जिससे कानून व्यवस्था बनी रहे.

    पीएमओ ने किया ट्वीट
    वहीं इस मुलाकात पर पीएमओ की ओर से भी ट्वीट किया गया जिसमें बताया गया कि दोनों नेताओं के बीच कई मुद्दों पर अच्छी बातचीत हुई है. कश्मीर मामले पर मोदी-ट्रंप की बातचीत पर गोखले ने कहा कि आपने सार्वजनिक रूप से सुना कि पीएम मोदी और ट्रंप ने इस मुद्दे पर क्या कहा है. रविवार रात की बैठक को लेकर गोखले ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मुद्दे पर भारत की स्थिति को पूरी तरह साफ कर दिया है और इस मामले पर सोमवार की बैठक में कोई बातचीत नहीं हुई है.

    भारत सरकार ने इस महीने की शुरुआत में जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 के अधिकतर प्रावधानों को हटाकर राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया था. इसके बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कायम है.

    ये भी पढ़ें-
    G7 समिट से पाक को बड़ा झटका, फिर दिखा मोदी-ट्रंप का याराना
    कश्मीर मुद्दे पर मुस्लिम देशों के साथ न देने से चिढ़ा पाक

    Tags: Article 35A, Article 370, Jammu kashmir, Kashmir, Narendra modi, Pm narendra modi, United nations

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें