• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • PM मोदी ने CBSE के छात्रों का बढ़ाया हौसला, कहा- परीक्षा तय नहीं कर सकती कि आप कौन हैं

PM मोदी ने CBSE के छात्रों का बढ़ाया हौसला, कहा- परीक्षा तय नहीं कर सकती कि आप कौन हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे राम मंदिर का भूमि पूजन (File Photo)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे राम मंदिर का भूमि पूजन (File Photo)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सीबीएसई (CBSE) के 10वीं और 12वीं के छात्रों को शुभकामनाओं के साथ साथ नसीहत भी दी. प्रधानमंत्री ने कहा कि एक परीक्षा यह तय नहीं कर सकती कि आप कौन हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Central Board of Secondary Education) के 10वीं और 12वीं की परीक्षा के परिणाम (CBSE 10th & 12th Results) घोषित होने के बाद बुधवार को सफल हुए छात्रों को बधाई दी. प्रधानमंत्री ने छात्रों को उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं भी दीं. पीएम मोदी ने अपने मार्क्स से नाखुश छात्रों को नसीहत भी दी. प्रधानमंत्री ने कहा कि एक परीक्षा यह तय नहीं कर सकती कि आप कौन हैं. आप सभी विभिन्न प्रतिभाओं से भरे हुए हैं.

    प्रधानमंत्री मोदी ने अपने आधिकारिक हैंडल से ट्वीट कर कहा कि- मेरे सभी युवा मित्रों को बधाई जिन्होंने अपनी दसवीं और बारहवीं की सीबीएसई परीक्षाओं को सफलतापूर्वक पास किया है. उनके भविष्य के प्रयासों के लिए उन्हें शुभकामनाएं. प्रधानमंत्री ने आगे लिखा कि- जो लोग अपने सीबीएसई दसवीं और बारहवीं के परिणामों से खुश नहीं हैं, मैं उन्हें बताना चाहता हूं- एक परीक्षा यह परिभाषित नहीं करती कि आप कौन हैं. आप में से प्रत्येक कई प्रतिभाओं के साथ धन्य है. जी भर के जियें. कभी भी उम्मीद न खोएं, हमेशा आगे देखें. आप चमत्कार करेंगे!



    गौरतलब है कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने बुधवार को 10वीं कक्षा की परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए जिसमें लड़कियों के उत्तीर्ण होने का प्रतिशत लड़कों की तुलना में 3.17 प्रतिशत अधिक रहा और कुल 91.46 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए. 10वीं कक्षा में क्षेत्रवार त्रिवेंद्रम क्षेत्र का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा. सीबीएसई ने कोरोना वायरस संक्रमण के कारण उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए इस वर्ष मेधा (मेरिट) सूची जारी नहीं करने का निर्णय लिया. बोर्ड ने ‘फेल’ के स्थान पर ‘‘ आवश्यक पुनरावृत्ति’’ शब्दावली का उपयोग किया.

    ये भी पढ़ें- 50 साल की उम्र में दादी ने पास की 12वीं बोर्ड की परीक्षा, जानिए दिलचस्प कहानी

    91.46 प्रतिशत छात्र हुए पास
    सीबीएसई द्वारा जारी बयान के अनुसार, इस वर्ष 10वीं कक्षा में कुल 91.46 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए, जबकि 2019 में 91.10 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए थे. यानी, पिछले साल की तुलना में इस साल 0.36 प्रतिशत अधिक छात्र उत्तीर्ण हुए. इस साल लड़कियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 93.31 रहा, जबकि लड़कों का उत्तीर्ण प्रतिशत 90.14 रहा. ट्रांसजेंडर का उत्तीर्ण प्रतिशत 78.95 रहा. 10वीं कक्षा की परीक्षा में 41,804 छात्रों को 95 प्रतिशत से अधिक अंक मिले, जबकि 1,84,358 छात्रों ने 90 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल किए.

    मानव संसाधन विकास मंत्री ने भी छात्रों को दीं शुभकामनाएं
    मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने छात्रों को शुभकामनाएं देते हुए अपने ट्वीट में कहा कि छात्रों का स्वास्थ्य एवं शिक्षा सरकार की प्राथमिकता है. इस वर्ष 20,387 स्कूलों में 5377 परीक्षा केंद्रों पर 10वीं कक्षा की परीक्षाएं आयोजित की गई थीं. इसमें 18,85,881 छात्रों ने परीक्षा देने के लिये पंजीकरण कराया था और 18,73,015 छात्र परीक्षा में बैठे थे. इनमें से 91.46 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए. (भाषा के इनपुट सहित)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज