Cabinet Meeting: प्रधानमंत्री आवास पर जुटी कैबिनेट, साल भर बाद PM मोदी के साथ आमने-आमने हुई बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्‍यक्षता में हो रही कैबिनेट मीटिंग.

इससे पहले मंत्रिमंडल की प्रत्यक्ष (फिजिकल) बैठक पिछले साल अप्रैल के पहले सप्ताह में हुई थी, जब देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी फैली थी. सूत्रों ने कहा कि संसद का आगामी मानसून सत्र मंत्रिपरिषद की बार-बार बैठक बुलाने का एक कारण हो सकता है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) एक साल बाद आज केंद्रीय मंत्रिमंडल (Union Cabinet) के साथ बैठक कर रहे हैं. बता दें कि कोरोना (Cabinet) संक्रमण के चलते पिछले एक साल से अधिक समय में कैबिनेट (Corona) की प्रत्‍यक्ष बैठक नहीं हुई थी. पीएम मोदी की अध्‍यक्षता में हो रही इस बैठक में मंत्रिमंडल के सभी सदस्य व्यक्तिगत रूप से उपस्थित हैं. सूत्रों ने बताया कि इससे पहले मंत्रिमंडल की प्रत्यक्ष (फिजिकल) बैठक पिछले साल अप्रैल के पहले सप्ताह में हुई थी, जब देश में कोरोना वायरस महामारी फैली थी.

    लॉकडाउन के दौरान भी केंद्रीय मंत्रिमंडल की लगभग हर हफ्ते वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से नियमित रूप से बैठक होती थी. प्रधानमंत्री शाम चार बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये भी मंत्रिपरिषद की बैठक की अध्यक्षता करेंगे. 7 जुलाई को मंत्रिपरिषद के विस्तार के बाद एक सप्ताह में यह इसकी दूसरी बैठक होगी. नई मंत्रिपरिषद की बैठक 8 जुलाई को हुई थी. सूत्रों ने कहा कि संसद का आगामी मानसून सत्र मंत्रिपरिषद की बार-बार बैठक बुलाने का एक कारण हो सकता है.



    सूत्रों के मुताबिक 19 जुलाई से शुरू होने वाले मानसून सत्र से पहले मंत्रिमंडल के सदस्‍यों ने साथ में बैठकर बात करने की बात कही थी.

    इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्रः अपने दो कैबिनेट मंत्रियों को बदलना चाहती है कांग्रेस, लिस्ट तैयार

    बता दें कि संसद का मानसून सत्र 13 दिन चलेगा. मंत्रालयों में फेरबदल के बाद, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, भूपेंद्र यादव और सर्बानंद सोनोवाल को प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली राजनीतिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति में शामिल किया गया है. पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और हर्षवर्धन अब इसका हिस्सा नहीं हैं.

    इसे भी पढ़ें :- मानसून सत्रः कैबिनेट सचिव राजीव गौबा का मंत्रालयों को पत्र, जल्द लागू करें लंबित पड़े कानून

    इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र कुमार, किरण रिजिजू और अनुराग ठाकुर को संसदीय मामलों की मंत्रिमंडल समिति का सदस्य बनाया गया है. मंत्रिमंडल की निवेश और विकास पर गठित कैबिनेट समिति में भी फेरबदल किया गया है और अब इसमें पीएम मोदी, राजनाथ सिंह, अमित शाह, नितिन गडकरी, निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल, नारायण राणे, ज्योतिरादित्य सिंधिया और अश्विनी वैष्णव शामिल हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.