Assembly Banner 2021

बीजेपी का बंगाल प्लान, पहले 2 चरणों में मजबूती के लिए PM मोदी करेंगे 4 मेगा रैलियां

पीएम मोदी का कार्यक्रम 14 मार्च से शुरू हो सकता है. (फाइल फोटो: AP)

पीएम मोदी का कार्यक्रम 14 मार्च से शुरू हो सकता है. (फाइल फोटो: AP)

West Bengal Election: बंगाल बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने कहा 'उनकी रैली इस तरह से प्लान की गईं हैं कि वे पश्चिम बंगाल चुनाव के पहले दो चरणों को कवर करेंगी.' उन्होंने बताया 'ये रैलियां 10 दिनों में पूरी होंगी. उनके अंतिम शेड्यूल की घोषणा जल्दी ही की जाएगी.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2021, 9:56 PM IST
  • Share this:
(सुजीत नाथ)
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में चुनावी रण शुरू होने में कुछ ही समय बचा है. ऐसे में भारतीय जनता पार्टी (BJP) पहले चरण के मतदान से ही स्थिति मजबूत करने में जुटी हुई है. खबर है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) बंगाल में 4 मेगा रैली कर सकते हैं. ये कार्यक्रम 14 मार्च से शुरू हो सकता है. खास बात है कि बीजेपी मतदान के शुरुआती दो चरणों- 27 मार्च और 1 अप्रैल को मजबूत उपस्थिति दर्ज कराने की कोशिश में है.

खास बात है कि पहले दो चरणों में शामिल ज्यादातर इलाके जगनमहल क्षेत्र और शुभेंदु अधिकारी के गढ़ कांथी में हैं. इन इलाकों में 2019 के आम चुनाव में बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन किया था. पहले चरण में 5 जिलों और 30 सीटों पर मतदान होगा. इन जिलों में पुरुलिया, पश्चिमी मेदिनीपुर पार्ट-1, बांकुर पार्ट-1, पूर्वी मेदिनीपुर पार्ट-1 और झारग्राम हैं.

वहीं, दूसरे चरण में मतदान 4 जिलों की 30 सीटों पर मतदान होगा. जिसमें बांकुरा पार्ट-2, पूर्वी मेदिनीपुर पार्ट-2, पश्चिमी मेदिनीपुर पार्ट-2 और साउथ 24 परगना पार्ट-1 शामिल हैं. न्यूज-18 से बातचीत के दौरान बीजेपी के बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष ने बताया कि पीएम पुरुलिया, खड़गपुर, बांकुरा और कोंटाई में चार जनसभाएं करेंगे. उन्होंने कहा 'उनकी रैली इस तरह से प्लान की गईं हैं कि वे पश्चिम बंगाल चुनाव के पहले दो चरणों को कवर करेंगी.' उन्होंने बताया 'ये रैलियां 10 दिनों में पूरी होंगी. उनके अंतिम शेड्यूल की घोषणा जल्दी ही की जाएगी.'
Youtube Video




लाइव अपडेट्स: विधानसभा चुनाव 2021

घोष से पूछा गया कि वे खड़गपुर सदर सीट से क्यों चुनाव नहीं लड़ रहे हैं. इसपर उन्होंने कहा कि उन्हें मेदिनीपुर से सांसद के तौर पर ध्यान लगाना है. उन्होंने कहा 'बीजेपी में उम्मीदवारों का चुनाव केंद्रीय नेतृत्व तय करता है. मेरे मामले में भी उन्होंने तय किया है कि मुझे खड़गपुर सीट से नहीं लड़ना चाहिए. इसके बजाए उन्होंने बंगाली अभिनेता हिरणमय चट्टोपाध्याय को खड़ा किया है. मुझे लगता है यह अच्छा फैसला है.'  घोष ने खड़गपुर सदर सीट से 2016 में जीत दर्ज की थी.



पार्टी के इस फैसले के तार बीजेपी के 2019 के उपचुनाव से जुड़े होने की बात को उन्होंने नकार दिया. उन्होंने कहा 'तब टीएमसी चुनाव पैसों के बल पर जीती थी. उन्होंने चुनाव जीतने के लिए पैसों का इस्तेमाल किया था. इस बार ऐसा नहीं होगा. खड़गपुर सदर में लोग बीजेपी के साथ हैं और मुझे उम्मीद है कि वे हमारे उम्मीदवार का समर्थन करेंगे.'  2019 के उपचुनाव में बीजेपी को बड़ा झटका लगा था, जब टीएमसी ने कालीगंज, खड़गपुर सदर और करीमपुर सीट पर जीत दर्ज की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज