• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • PM मोदी ने किया 2 डिफेंस ऑफिस कॉम्प्‍लेक्‍स का उद्घाटन, कहा- इस पर सेंट्रल विस्‍टा के विरोधी शांत थे

PM मोदी ने किया 2 डिफेंस ऑफिस कॉम्प्‍लेक्‍स का उद्घाटन, कहा- इस पर सेंट्रल विस्‍टा के विरोधी शांत थे

पीएम मोदी ने किया परिसरों का उद्घाटन. (Pic- ANI)

पीएम मोदी ने किया परिसरों का उद्घाटन. (Pic- ANI)

नए रक्षा कार्यालय परिसरों (Defence Office Complex) में सेना, नौसेना और वायु सेना सहित रक्षा मंत्रालय और सशस्त्र बलों के लगभग 7,000 अधिकारियों के लिए कार्य करने की जगह उपलब्ध होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) गुरुवार को दिल्ली के कस्तूरबा गांधी मार्ग और अफ्रीका एवेन्यू स्थित रक्षा कार्यालय परिसरों (Defence Office Complexes) का उद्घाटन किया. उनके इस उद्घाटन कार्यक्रम से पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) ने मौके पर पहुंचकर पूजा की. पीएम मोदी ने इस दौरान सेंट्रल विस्‍टा प्रोजेक्‍ट के विरोधियों पर भी निशाना साधा. उन्‍होंने कहा, ‘जो लोग सेंट्रल विस्‍टा के पीछे डंडा लेकर पड़े थे वे बड़ी चतुराई से इस प्रोजेक्‍ट (डिफेंस कॉम्‍प्‍लेक्‍स) पर बिल्कुल चुप रहते थे. ये भी सेंट्रल विस्‍टा प्रोजेक्‍ट का हिस्‍सा है.’

    कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित भी किया. उन्‍होंने इस दौरान कहा, ‘जब हम राजधानी की बात करते हैं तो वो सिर्फ एक शहर नहीं होता है. किसी भी देश की राजधानी उस देश की सोच, संकल्प, सामर्थ्य और संस्कृति का प्रतीक होती है.’

    उन्‍होंने कहा, ‘भारत तो लोकतंत्र की जननी है. इसलिए भारत की राजधानी ऐसी होनी चाहिए, जिसके केंद्र में लोक हो, जनता हो. आज जब हम ईज ऑफ लिविंग और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस पर फोकस कर रहे हैं, तो इसमें आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर की भी उतनी ही बड़ी भूमिका है.’

    पीएम मोदी ने कहा, ‘सेंट्रल विस्टा से जुड़ा जो काम आज हो रहा है, उसके मूल में यही भावना है. आज दिल्ली ‘न्यू इंडिया’ विजन के अनुरूप आगे बढ़ रही है. ये नए रक्षा कार्यालय परिसर अब हमारी सेनाओं के लिए सभी आधुनिक सुविधाओं के साथ बेहतर काम करने की स्थिति को संभव बना देंगे.’

    पीएम ने कहा, ‘डिफेंस ऑफिस कॉम्प्लेक्स का भी जो काम 24 महीने में पूरा होना था वो सिर्फ 12 महीने के रिकॉर्ड समय में पूरा किया गया है. वो भी तब जब कोरोना से बनी परिस्थितियों में लेबर से लेकर तमाम दूसरी चुनौतियां सामने थीं. कोरोना काल में सैकड़ों श्रमिकों को इस प्रोजेक्‍ट में रोजगार मिला है.’

    उद्घाटन समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, आवास और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी, रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट, आवास और शहरी कार्य राज्य मंत्री कौशल किशोर, प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल विपिन रावत (सीडीएस) और सशस्त्र बलों के प्रमुख शामिल रहे.

    नए रक्षा कार्यालय परिसरों में सेना, नौसेना और वायु सेना सहित रक्षा मंत्रालय और सशस्त्र बलों के लगभग 7,000 अधिकारियों के लिए कार्य करने की जगह उपलब्ध होगी. पीएमओ ने कहा कि यह भवन आधुनिक, सुरक्षित और परिचालन-योग्य कार्य स्थान प्रदान करेंगे. भवन संचालन के प्रबंधन के लिए एक एकीकृत कमान और नियंत्रण केंद्र की स्थापना की गई है, जो दोनों भवनों की सुरक्षा और निगरानी की भी पूरी जिम्मेदारी का निर्वहन करेगा.

    नए रक्षा कार्यालय परिसर व्यापक सुरक्षा प्रबंधन के उपायों के साथ अत्याधुनिक और ऊर्जा कुशल हैं. इन इमारतों की मुख्य विशेषताओं में एक है निर्माण में नई और टिकाऊ निर्माण तकनीक, एलजीएसएफ (लाइट गेज स्टील फ्रेम) का उपयोग. पीएमओ ने कहा कि इस तकनीक के कारण पारंपरिक आरसीसी निर्माण की तुलना में निर्माण समय 24-30 महीने कम हो गया. भवन संसाधन कुशल हरित प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हैं और पर्यावरण के अनुकूल प्रथाओं को बढ़ावा देते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज