अपना शहर चुनें

States

‘विजय दिवस’ पर स्‍वर्णिम विजय मशाल प्रज्‍ज्वलित करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

पीएम मोदी राष्‍ट्रीय समर स्‍मारक पर रात-दिन जलती रहने वाली ज्‍योती से विजय मशाल प्रज्‍ज्वलित करेंगे. (File Photo)
पीएम मोदी राष्‍ट्रीय समर स्‍मारक पर रात-दिन जलती रहने वाली ज्‍योती से विजय मशाल प्रज्‍ज्वलित करेंगे. (File Photo)

Vijay Diwas: 16 दिसंबर भारत में विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है. इसी दिन पाकिस्तान के खिलाफ 1971 में भारत को जीत मिली थी और एक देश के रूप में बांग्लादेश (Bangladesh) अस्तित्व में आया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 16, 2020, 5:47 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) वर्ष 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध (Indo-Pak War) के 50 साल पूरा होने के अवसर पर बुधवार को राजधानी दिल्ली स्थित राष्ट्रीय समर स्मारक की अमर ज्योति (Amar Jyoti) से ‘‘स्‍वर्णिम विजय मशाल’’ प्रज्‍ज्वलित करेंगे. रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि राष्‍ट्रीय समर-स्‍मारक पर लगातार जलती रहने वाली ज्‍योति से चार विजय मशाल प्रज्‍ज्वलित की जाएंगी तथा इन्‍हें 1971 के युद्ध के परमवीर चक्र और महावीर चक्र विजेताओं के गांवों सहित देश के विभिन्‍न भागों में ले जाया जाएगा.

बयान के मुताबिक, ‘‘इन विजेताओं के गांवों के साथ-साथ 1971 के युद्ध स्‍थलों की मिट्टी को नई दिल्‍ली के राष्‍ट्रीय युद्ध स्‍मारक में लाया जाएगा.’’ मालूम हो कि 16 दिसंबर भारत में विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है. इसी दिन पाकिस्तान के खिलाफ 1971 में भारत को जीत मिली थी और एक देश के रूप में बांग्लादेश (Bangladesh) अस्तित्व में आया था. मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राष्‍ट्रीय समर स्‍मारक पर रात-दिन जलती रहने वाली ज्‍योती से विजय मशाल प्रज्‍ज्वलित करेंगे.


शेख हसीना के साथ शिखर वार्ता करेंगे पीएम मोदी
वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 17 दिसंबर को बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ डिजिटल माध्यम से शिखर वार्ता करेंगे. दोनों नेता द्विपक्षीय संबंधों के सम्पूर्ण आयामों पर व्यापक चर्चा करेंगे.  विदेश मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, दोनों नेताओं के बीच वार्ता के केंद्र में कोविड-19 के बाद सहयोग को और मजबूत बनाना भी होगा. मंत्रालय ने कहा, ‘‘शिखर बैठक के दौरान दोनों नेता द्विपक्षीय संबंधों के सम्पूर्ण आयामों पर व्यापक चर्चा करेंगे जिसमें कोविड-19 के बाद सहयोग को और मजबूत बनाने पर भी जोर होगा.’’



बयान के अनुसार दोनों देशों ने नियमित रूप से उच्च स्तरीय संवाद एवं आदान प्रदान जारी रखा है और इसमें पिछले वर्ष अक्तूबर में हसीना की आधिकारिक भारत यात्रा और मार्च में ‘मुजीब वर्ष’ के ऐतिहासिक अवसर पर मोदी के वीडियो संदेश का जिक्र किया गया.



गौरतलब है कि बांग्लादेश साल 202-21 को अपने देश के संस्थापक शेख मुजीबुर रहमान की 100वीं जयंती के अवसर पर ‘मुजीब वर्ष’ के रूप में मना रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज