बांग्लादेश दौरे पर जाएंगे PM नरेंद्र मोदी, कोरोना महामारी के बाद होगी पहली विदेश यात्रा

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना. (रॉयटर्स फाइल फोटो)

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना. (रॉयटर्स फाइल फोटो)

PM Modi Bangladesh Visit: पीएम मोदी के दो दिवसीय बांग्लादेश दौरे को लेकर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में विदेश सचिव ने कहा कि अपनी यात्रा के दौरान वे बांग्लादेश के राष्ट्रपति से मुलाकात करने के साथ ही अपनी समकक्ष शेख हसीना के साथ भी बैठक करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2021, 8:31 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 26 और 27 मार्च को बांग्लादेश (Bangladesh) के दौरे पर रहेंगे. विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला (Harsh Vardhan Shringla) ने बुधवार को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बाद पहली विदेश यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में शामिल होंगे. इसके साथ ही वे शेख़ मुजीबुर रहमान की जन्म शताब्दी कार्यक्रम में भी मौजूद रहेंगे.



पीएम मोदी के दो दिवसीय बांग्लादेश दौरे को लेकर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में विदेश सचिव ने कहा कि अपनी यात्रा के दौरान वे बांग्लादेश के राष्ट्रपति से मुलाकात करने के साथ ही अपनी समकक्ष शेख हसीना (Sheikh Hasina) के साथ भी बैठक करेंगे.



हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा, "बांग्लादेश के साथ हमारे संबंधों में सुरक्षा और हिफाजत एक अहम हिस्सा है. हाल के वर्षों में हमने रक्षा सहयोग के समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं. इसके साथ ही हमने रक्षा आयात के लिए बांग्लादेश की कर्ज की सीमा को बढ़ाकर 50 करोड़ डॉलर कर दिया है."



विदेश सचिव ने कहा, "आपसी सहमति के तहत हम नियमित तौर पर संयुक्त सैन्य अभ्यास, प्रशिक्षण और क्षमता में बढ़ोतरी के लिए अभ्यास करते रहते हैं. दोनों देशों के सेना प्रमुखों के दौरे भी लगातार होते हैं. यह एक नियमित प्रक्रिया है जिसके मुताबिक हमारे सशस्त्र बलों के प्रमुख पहले बांग्लादेश के दौरे पर जाते हैं और फिर वहां के सैन्य प्रमुख भारत की यात्रा करते हैं."


भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता नदी के मुद्दे पर विदेश सचिव ने कहा कि दोनों देश सहयोग की भावना से काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा, "नदी वितरण व्यवस्था के लिए साझेदारी को हम और अधिक विस्तृत कर रहे हैं. हमने इस पर काफी व्यापक स्तर पर बातचीत की है. दोनों देशों में साझा होने वाले जल के प्रबंधन के लिए हमने साथ में मिलकर काम किया है और यह आपसी सहयोग लगातार जारी है. यह एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है." श्रृंगला ने कहा कि हम तीस्ता नदी को लेकर सिर्फ किसी एक मुद्दे पर बात नहीं कर रहे हैं. उन्होंने कहा, "हमारी तरफ से यह वादा किया गया है कि तीस्ता समझौते को जल्द-से-जल्द पूरा किया जाए और हम अपनी ये कोशिश लगातार जारी रखेंगे."


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज